VT Update
देश के हर घर को बिजली देने की कोशिश हो रही है: राष्ट्रपति कोविंद सरकार ने गरीबों के लिए बैंकिंग सुविधा को आसान किया: राष्ट्रपति कोविंद रामगढ़ उपचुनाव: कांग्रेस की साफिया खान जीतीं J-K:अनंतनाग में पुलिस स्टेशन पर ग्रेनेड से हमला, 3 नागरिक और 1 जवान घायल गोपाल भार्गव बने नेता मप्र.विधानसभा नेता प्रतिपक्ष
Thursday 17th of May 2018 | गुणवत्ता विहीन बन रही पी सी सी सड़क

गुणवत्ता विहीन बन रही पी सी सी सड़क, अधिकारी नही ले रहे सुध !


रीवा जिले के गढ़ थाना के हरिजन बस्ती पडुआ के  हरिजन और तिवारी बस्ती के बीच शंकर जी के मंदिर के पास से बनाई गई पुरानी पीसीसी सड़क के परखच्चे उड़ चुके हैं लेकिन उसे देखने वाला कोई नही. हरिजन बस्ती पडुआ के हितग्राही कुमारे साकेत, संतलाल साकेत, मुन्नालाल साकेत, द्वारिका साकेत, रोहित साकेत, दशरथ साकेत, भैरवलाल साकेत, पन्नालाल साकेत, पटवारी साकेत सहित दर्जनों हरिजन परिवारों ने अपनी अपनी समस्याएं गिनाईं. पंचायत वासियों द्वारा जानकारी दी गई की उनके बस्ती के पास से करीब 10 वर्ष पहले पीसीसी सड़क निर्माण कराया गया था जो अब पूरी तरह से उखड़ चुकी है लेकिन इस कार्यकाल में पंचायत ने इसे सुधरवाने के लिए कोई प्रयास नही किया. बताया गया की सड़क निर्माण में गुणवत्ता की अनदेखी की गई थी जिसकी वजह से सड़क बनते ही कुछ ही महीनों में उखड़ गई थी.

 

नई पीसीसी सड़क भी बनी गुणवत्ताविहीन

 

पडुआ ग्राम पंचायत के रहवासियों द्वारा बताया गया की अभी कुछ माह पहले ही एक अन्य पीसीसी सड़क का निर्माण किया गया है लेकिन यह सड़क भी बहुत अच्छी नही बनी है. इसमे भी दरारें आ गईं हैं साथ ही किनारों पर टूट गई है.

ईंट के भठ्ठे के पास उपस्थित कुछ सदस्यों द्वारा बताया गया की सड़क निर्माण के समय गुणवत्ता का ध्यान नही दिया गया साथ ही तराई का भी काम सही तरीके से नही हुआ है जिसकी वजह से सड़क टूट रही है. लोगों द्वारा बताया गया की रेत के स्थान पर डस्ट का प्रयोग किया गया है साथ ही उपयोग की गई सीमेंट भी घूमा सोहागी की मिलावट युक्त सीमेंट है.

 

हरिजन बस्ती पडुआ में पीएम आवास का नही मिला लाभ

 

पडुआ हरिजन बस्ती के उपस्थित सदस्यों कुमारे साकेत, संतलाल साकेत, मुन्नालाल साकेत, द्वारिका साकेत, रोहित साकेत, दशरथ साकेत, भैरवलाल साकेत, पन्नालाल साकेत, पटवारी साकेत सहित दर्जनों हरिजन परिवारों द्वारा बताया गया की उनके नाम कोई पीएम आवास का लाभ नही दिया गया. यह पूंछे जाने पर की क्या पीएम आवास की सूची में उनका नाम है इस पर उनका कहना था की इसकी जानकारी उन्हें पंचायत द्वारा उपलब्ध नही कराई गई है.

हरिजन बस्ती के उक्त लोगों का कहना था की यहां पडुआ पंचायत में इलाकेदार, नौकरीपेशा, और जमीदार लोगों परिवार वालों के नाम तो पीएम आवास स्वीकृत हो चुके हैं लेकिन उनके जैसे गरीबों के नाम पर पीएम आवास नही दिया जा रहा है, यह कहां का न्याय है? सभी ने एक स्वर में माग किया कि नए सिरे से सर्वे किया जाकर उनके जैसे गरीब और 5 डिसमिल से कम भूमि वाले हितग्राहियों के नाम जोड़े जाने चाहिए और पीएम आवास योजना का लाभ दिलाया जाना चाहिए.

 

 

 


जारी हुई विद्युत विभाग की नई स्कीम, 100 युनिट बिल पर करना होगा 100 रुपये का भुगतान

टीआरएस कॉलेज से शुरू हुआ सिटी बसों का सञ्चालन


 VT PADTAL