VT Update
लोकसभा चुनाव खर्च सीमा से अधिक पैसे नहीं लुटा पाएंगे उम्मीदवार, आयोग रखेगा उम्मीदवारों के खर्च पर पैनी नजर। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को विशेषाधिकार हनन की नोटिस, किया गया जवाब तलब, पूर्व सीएम दिग्विजय को मिली क्लीन चीट। अधिकारियों व कर्मचारियों के आमदा पर चुनाव आयोग की रोक, आयोग का निर्देश बिना अनुमति नहीं ग्रहण कर सके नवीन पदस्थापना में कार्यभार। भुवनेश्वर के वेदांता प्लांट में प्रदर्शनकारियों ने सुरक्षाकर्मी को जिंदा जलाया, स्थानीय लोगों को नौकरी देने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी। कांग्रेस को सुमित्रा ताई की चुनौती- इंदौर में उतारे मुझसे बेहत उम्मीदवार, कहा- चुनाव लड़ने में आएगा आनंद।
Monday 21st of May 2018 | किसान करेगें गांव बंद सत्याग्रह!

किसान करेगें गांव बंद सत्याग्रह, प्रदेश सरकार ने बनाई रणनीति


मध्यप्रदेश के किसान अब मंदसौर गोलीकाण्ड की पहली वर्षी पर गांव बंद सत्याग्रह करने के बारे में सोच रहे हैं जिसमें कांग्रेस पार्टी ने भी बराबर किसानों के इस सत्याग्रह में समर्थन देने की बात की है यहाँ तक की किसान कांग्रेस ने तो किसान कलश यात्रा भी निकल दी है जो प्रदेश भर के 51 जिलों में भ्रमण करते हुए मंदसौर पहुंचेगी.

दरअसल प्रदेश के किसान पूर्ण कर्ज मुक्ति, सुनिश्चित आमदनी और स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिशों को लागू करवाने को लेकर एक से दस जून तक प्रस्तावित गांव बंद को लेकर सरकार भी सतर्क हो गई है वहीं किसान संगठनों ने गांव से शहर में कोई वस्तु न भेजने की अपील की है.

इससे शहरों में दूध, सब्जी सहित अन्य वस्तुओं का संकट पैदा हो सकता है यही वजह है कि खुफिया तंत्र को सक्रिय रहने के साथ कलेक्टरों को जनता से संवाद बढ़ाने के निर्देश भी दे दिए गए हैं सूत्रों की माने तो  देश के 172 किसान संगठनों ने एकराय से एक से दस जून तक गांव बंद आंदोलन छेड़ने का फैसला किया है जिसमें गांववासियों को इसके लिए तैयार करने किसान संगठनों के प्रतिनिधि गांव-गांव में बैठकें कर रहे हैं.

संगठन पदाधिकारियों की रणनीति है कि इन दस दिनों में गांव से कोई भी वस्तु शहर न आए, ताकि आंदोलन की ताकत का अहसास सरकार को हो सके वहीं, कांग्रेस आंदोलन के दरम्यान ही छह जून को मंदसौर गोलीकांड की बरसी पर बड़ा कार्यक्रम करके चुनावी शंखनाद करने की तैयारी कर रही है इस दौरान पार्टी की किसान कलश यात्रा भी मंदसौर पहुंचेगी कार्यक्रम में प्रदेश के सभी बड़े नेता जुटेंगे.

दूसरी ओर सरकार ने भी अपने स्तर पर इससे निपटने की तैयारी शुरू कर दी है. खुफिया तंत्र को पूरे प्रदेश में सक्रिय कर दिया गया है तो सरकार के स्तर पर भी इन दस दिनों में किसानों को लेकर बड़े कार्यक्रम किए जाएंगे.

 


विधायक के खिलाफ आवाज उठाने वाले कांग्रेसी नेता 6 साल के लिए पार्टी से निष्का

प्रदेश सरकार देशी शराब की दूकानों पर अंग्रेजी भी बेचने की तैयारी में, नियम ल


 VT PADTAL