VT Update
विंध्य के सबसे बड़े अस्पताल संजय गांधी की सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल, अस्पताल के पार्किंग से चोरी हुई बोलेरो वाहन रीवा मेडिकल कॉलेज में लगेगा रूफटाफ का प्रदेश का सबसे बड़ा सोलर प्रोजेक्ट मतदाता जागरूकता के लिए रवाना हुई बुलेट रैली, कलेक्टर प्रीति मैथिल ने दिखाई हरी झंडी मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में घटिया पुल निर्माण पर गिरी गाज, पीडब्लयूडी के चार अफसर सस्पेंड रीवा सहित प्रदेश भर में हर्षोल्लास के साथ मनायी गई कृष्ण जन्माष्टमी, शिल्पी प्लाजा में हुआ मटकी फोड़ने का भव्य आयोजन
Wednesday 23rd of May 2018 | लकीरें खिचती जा रही

ऐसे में कैसे लड़ेंगे चुनाव


मनभेद,मतभेद या फिर कुछ….. और अभी कुछ भी कहना सही नहीं लेकिन कोई कुछ भी कहे लकीरें तो खिच गयी हैं और अब लकीरें खाई में तब्दील हो रही हैं. पिछले दिनों पंचायती राज का सम्मलेन रीवा में आयोजित किया गया कार्यक्रम में मुख्य अतिथि बने नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ‘राहुल’. कार्यक्रम के आयोजक जिला पंचायत अध्यक्ष अभय मिश्रा थे जो अभी हाल में ही बीजेपी छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए हैं. कार्यक्रम को लेकर तैयारियों का दौर चला शहर को होर्डिंग से पाट दिया गया लेकिन शहर के नुक्कड़ में एक चर्चा जरुर थी की क्या पूर्व सांसद और वर्तमान विधायक सुन्दरलाल तिवारी कार्यक्रम में शामिल होंगे, या नहीं ? और फिर आखिर में हुआ यही की मंच पर सुन्दरलाल तिवारी नहीं पहुंचे.

वेंकट भवन हाल के पास आयोजित कार्यक्रम में जिलेभर के पंच, सरपंच, जनपद सदस्य, जिला पंचायत सदस्य शामिल हुए थे मऊगंज विधायक सुखेन्द्र सिंह बन्ना भी मंच पर थे लेकिन पूर्व सांसद और गुढ़ विधायक सुन्दरलाल तिवारी का कार्यक्रम में न पहुंचना कई सवाल खड़े करता है. दरअसल कोई कितना भी इनकार करे लेकिन लकीरें खिची हुई है. कांग्रेस का कहना है की मप्र में अब सत्ता परिवर्तन होकर रहेगा लेकिन हकीकत यही है की कांग्रेस आज भी खेमेबाजी से नहीं निकल पा रही है. रीवा कांग्रेस में अमहिया का एक अलग दबदबा है और जिले के हर सीट पर भी प्रभाव रहता है.

अमहिया में अलग कार्यक्रम-राजीव गाँधी की पुण्यतिथि के अवसर पर अमहिया में कांग्रेस द्वारा कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता सुन्दरलाल तिवारी ने की साथ में शहर अध्यक्ष शहीद मिस्त्री नेता प्रतिपक्ष अजय मिश्रा बाबा,कांग्रेस नेत्री कविता पाण्डेय युवा कांग्रेस लोकसभा अध्यक्ष दिवाकर द्विवेदी और कांग्रेस पार्षद मौजूद रहे.

शहर का कार्यक्रम और शहर अध्यक्ष और पार्षद नदारद- पंचायती राज का कार्यक्रम शहर में आयोजित किया गया लेकिन कार्यक्रम में शहर अध्यक्ष भी नहीं पहुंचे शहर कांग्रेस में अपनी मजबूत पकड़ रखने वाले पूर्व विधानसभा प्रत्याशी इंजी.राजेन्द्र शर्मा भी कार्यक्रम में नहीं पहुंचे हलाकि वो रीवा में नहीं थे और न ही नगर निगम नेता प्रतिपक्ष अजय मिश्रा और न ही कोई पार्षद पंचायती राज के कार्यक्रम में शामिल हुए.

प्रेस वार्ता में भी सवाल- पंचायती राज के कार्यक्रम के बाद अजय सिंह राहुल ने सर्किट हाउस में प्रेस वार्ता में भी सुन्दरलाल तिवारी के सन्दर्भ में सवाल पूंछा गया तो अभय मिश्रा ने जवाब दिया की उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं था इसलिए नहीं पहुंचे.जबकि पंचायती राज के कार्यक्रम के समय अमहिया में राजीव गाँधी की पुण्यतिथि का कार्यक्रम आयोजित हो रहा था जिसमे सुन्दरलाल तिवारी अध्यक्ष थे और स्वस्थ्य लग रहे थे और भाषण भी दे रहे थे.

सुन्दरलाल तिवारी ने भी की प्रेस वार्ता- 24 मई को जिले में व्याप्त जलसंकट को लेकर सुन्दरलाल तिवारी प्रेस वार्ता की और वहां भी पंचायती राज के कार्यक्रम में न जाने के सवाल पर उन्होंने कहा की- किसका कार्यक्रम था मुझे नहीं पता,पंचायती राज कार्यक्रम को लेकर सुन्दरलाल ने कहा की कार्यक्रम किसका था भगवान जाने. मै कार्यक्रम में नहीं शामिल हुआ अब दूसरे क्यों नहीं शामिल हुए इसका मुझे नहीं पता. मै गुट के आधार पर कोई काम नहीं करता मै निर्गुट हूँ.कांग्रेस एक पार्टी है कोई खेमा नहीं है.साथ ही सुन्दरलाल ने कहा की मै खुद ही नहीं जान पाया की मेरी पंचायती राज के कार्यक्रम में क्या भूमिका है.

अब इस पूरे घटनाक्रम के क्या सियासी मायने हैं यह तो सब पढ़कर समझ आ रहा होगा. 5 महीने बाद चुनाव है और क्षेत्रीय क्षत्रपों का कार्यक्रम से किनारा करना कांग्रेस के लिए सही संकेत नही है. अभय मिश्रा की कांग्रेस में इंट्री के समय में भी कांग्रेस के नेताओं का मत उनके पक्ष में नहीं था .ऐसे में इस पूरे घटनाक्रम को एक नयी दरार के रूप में भी देखा जा सकता है .अब तो एक ही बात समझ आ रही की –आखिर ऐसी कौन सी बात है की शहर में जश्न हुआ,शहर ही जगह थी पर शहरवाले नहीं थे.


एट्रोसिटी एक्ट को ख़त्म करना होगा पार्टी का मुख्य मुद्दा : लक्ष्मण तिवारी

टीआरएस कॉलेज का निरीक्षण करने आएगी नैक की टीम


 VT PADTAL