VT Update
केजरीवाल ने दिया शिवराज को प्रस्ताव शिक्षा में सुधार करना हो तो मनीष को भेज दूँ मध्यप्रदेश सीएम फेस की अटकलों पर शिवराज ने लगाया विराम, कहा कि मेरे ही नेतृत्व में बनेगी भाजपा की अगली सरकार वार्ड क्र 16 में मुख्यमार्ग से परेशान रहवासी, मार्ग का नहीं हो रहा निर्माण, 4 बार किया जा चुका है भूमिपूजन दिल्ली मैट्रो को सितम्बर से बिजली सप्लाई करेगा, बदबार का अल्ट्रामेगा सोलर पावर प्लांट गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के धोबखरी गांव में भाई की जान बचाने नहर में कूदी बहन, हुई मौत
राहुल गाँधी की आवाज दबाना चाहती है शिवराज सरकार

दमनकारी नीतियों से राहुल की आवाज दबाना चाहती है शिवराज सरकार : कमलनाथ


कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी मंदसौर गोली कांड की बरसी पर 6 जून को मदसौर में बड़ी सभा करने वाले हैं मगर सभा की अनुमति में पेंच फिरता नज़र आ रहा है, पहले तो स्थानीय SDM के द्वरा सभा के लिए 19 शर्ते रखी गयी थी, जिसमे सभा का में 15 फीट का टेंट लगाने,सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी स्वयं लेने सहित कई शर्तें शामिल थी जिसको लेकर कांग्रेस पार्टी ने बाद बवाल किया था ,विवाद होने के बाद प्रशासन ने अनुमति पत्र में शर्ते बदलते हुए नया अनुमति पत्र जारी किया है। बार-बार नियमों शर्तों में बदलाव को लेकर कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष और वरिष्ठ कांग्रेस नेता कमलनाथ ने हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि घटना के एस साल बीत जाने के बावजूद शिवराज सरकार दमकारी रवैया अपनाने से नही चूक रही है।

कमलनाथ ने जारी एक प्रेस नोट के माध्यम से कहा है कि एक वर्ष बीत जाने के बाद भी आज तक दोषी खुलेआम घूम रहे हैं, पीडि़तों को न्याय नहीं मिला है और इस घटना को लेकर बनाये गये जैन आयोग की आज तक जांच पूरी नहीं हुई है। इस घटना के एक वर्ष पूरा होने पर घटना स्थल मंदसौर की पिपल्यामंडी में प्रस्तावित राहुल गांधी जी की आमसभा व लाखों किसानों की इस अवसर पर एकजुटता, किसान विरोधी शिवराज सरकार को हजम नहीं हो रही है। इसलिए वे इस कार्यक्रम की अनुमति के नाम पर गैरवाजिब शर्ते रखकर राहुल गांधी जी की व किसानों की आवाज को दबाना चाहती है। उन्होंने कहा है कि मध्यप्रदेश में आज किसान शिवराज सरकार में जमकर परेशान है। अपनी मांगों को लेकर सतत् आंदोलनरत है। मंदसौर की घटना और न्याय नहीं मिलने को लेकर सरकार के प्रति बेहद आक्रोशित है।

उन्होंने शिवराज सरकार से सवाल पूछा है कि क्या भविष्य में मध्यप्रदेश में मोदी जी से लेकर अमित शाह व भाजपा के तमाम नेताओं के आयोजन व सभा के लिए इसी प्रकार की शर्ते रखी जायेंगी या ये शर्ते सिर्फ राहुल जी व किसानाों की आवाज को दबाने के लिए रखी गयी हैं। कांग्रेस चेतावनी देती है कि यदि जल्द ही नियमानुसार वाजिब शर्तों के साथ अनुमति प्रदान नहीं की गई तो भविष्य में भाजपा के होने वाले आयोजनों का कांग्रेस इन्हीं शर्तों के साथ विरोध करेगी।

देखें कमलनाथ का ट्वीट 

 

 


कुलपति बनने के जुगाड़ समाप्त, शैक्षणिक अनुभव वाले की बन सकेंगे कुलपति !

बीजेपी ने की लोकसभा की तैयारी, प्रदेश के 14 सांसदों के कट सकते हैं टिकट


 VT PADTAL