VT Update
लोकसभा चुनाव खर्च सीमा से अधिक पैसे नहीं लुटा पाएंगे उम्मीदवार, आयोग रखेगा उम्मीदवारों के खर्च पर पैनी नजर। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को विशेषाधिकार हनन की नोटिस, किया गया जवाब तलब, पूर्व सीएम दिग्विजय को मिली क्लीन चीट। अधिकारियों व कर्मचारियों के आमदा पर चुनाव आयोग की रोक, आयोग का निर्देश बिना अनुमति नहीं ग्रहण कर सके नवीन पदस्थापना में कार्यभार। भुवनेश्वर के वेदांता प्लांट में प्रदर्शनकारियों ने सुरक्षाकर्मी को जिंदा जलाया, स्थानीय लोगों को नौकरी देने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी। कांग्रेस को सुमित्रा ताई की चुनौती- इंदौर में उतारे मुझसे बेहत उम्मीदवार, कहा- चुनाव लड़ने में आएगा आनंद।
Sunday 27th of May 2018 | झूठे रेप केस में महिला को सजा

दुष्कर्म का झूठा केस लगाने के आरोप में महिला को हुई तीन साल की सजा


एक महिला को दुष्कर्म का झूठा केस दर्ज कराना महंगा पड़ गया कोर्ट में गवाही से पलटने पर पीड़िता को तीन साल की कैद के साथ 1 हजार रुपए अर्थदंड की सजा सुनाई गई कोर्ट ने महिला की उस अर्जी को स्वीकार नहीं किया, जिसमें उसने कम से कम सजा की मांग की थी तीन साल की सजा सुनाए जाने के बाद महिला ने आवेदन पेश किया कि वह आदेश की अपील करना चाहती है उसके बाद कोर्ट ने उसे जमानत पर रिहा कर दिया.

दरअसल इंदरगंज थाने में एक महिला ने मोहन सिंह के खिलाफ दुष्कर्म का केस दर्ज कराया था महिला का आरोप था कि वह इंदरगंज में जा रही थी तभी मोहन सिंह आया और उसे अपने साथ अपनी फैक्ट्री ले गया जब सभी कर्मचारी निकल गए तो उसने उसे कमरे में बंद कर दिया और दुष्कर्म करते हुए मारपीट भी की.

महिला की शिकायत पर पुलिस ने मोहन सिंह के खिलाफ केस दर्ज किया साथ ही महिला की गवाही दर्ज की जब मामला कोर्ट पहुंचा तब महिला अपनी गवाही से पलट गई तथ्य सामने आया कि महिला ने पूर्व में भी कुछ लोगों पर इस तरह के केस दर्ज कराए थे और कोर्ट में गवाही पलट दी गवाही से पलटने पर कोर्ट ने महिला के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया.

महिला के खिलाफ कोर्ट में परिवाद दायर किया गया, जिसमें सरकारी वकील की ओर से कहा गया कि महिला ने झूठा केस दर्ज कराकर कानून का दुरुपयोग किया है. इस तरह के केस दर्ज कराने से समाज में संदेश गलत जा रहा है इसलिए मिथ्या साक्ष्य देने पर महिला को कड़ी से कड़ी सजा दी जाए. वहीं महिला की ओर से तर्क दिया गया कि उसका पहला अपराध है एक बच्चा भी है जो उसके भरोसे हैं महिला होने के नाते उसे दंड न दिया जाए कोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद तीन साल की सजा सुनाई और 1 हजार रुपए का अर्थदंड भी लगाया.


विधायक के खिलाफ आवाज उठाने वाले कांग्रेसी नेता 6 साल के लिए पार्टी से निष्का

प्रदेश सरकार देशी शराब की दूकानों पर अंग्रेजी भी बेचने की तैयारी में, नियम ल


 VT PADTAL