VT Update
विंध्य के सबसे बड़े अस्पताल संजय गांधी की सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल, अस्पताल के पार्किंग से चोरी हुई बोलेरो वाहन रीवा मेडिकल कॉलेज में लगेगा रूफटाफ का प्रदेश का सबसे बड़ा सोलर प्रोजेक्ट मतदाता जागरूकता के लिए रवाना हुई बुलेट रैली, कलेक्टर प्रीति मैथिल ने दिखाई हरी झंडी मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में घटिया पुल निर्माण पर गिरी गाज, पीडब्लयूडी के चार अफसर सस्पेंड रीवा सहित प्रदेश भर में हर्षोल्लास के साथ मनायी गई कृष्ण जन्माष्टमी, शिल्पी प्लाजा में हुआ मटकी फोड़ने का भव्य आयोजन
Wednesday 30th of May 2018 | कीटनाशक पीकर किसान ने की खुदकुशी

कर्ज के बोझ तले दबा किसान, कीटनाशक पीकर की खुदकुशी


मध्यप्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने अभी हालही में एक बयान दिया है कि कांग्रेस किसानों की लाशों पर राजनीति करती है लेकिन उन्हे अबतक यह नहीं पता चला कि आखिर क्यों किसान अत्महत्या करने को मजबूर हो रहे हैं. आखिर किसान कर्ज के दबाव में आत्महत्या क्यों कर रहें हैं.

ऐसा ही एक मामला प्रदेश के रायसेन जिले से आया है जहां पर कर्ज के दबाब में आकर किसान ने आत्महत्या कर ली है और इसकी जिम्मेदार खुद सरकार है क्योकि सरकार के द्वारा किसान की कर्ज माफी को लेकर कोई ठोस कदम नहीं उठाए जा रह है सरकार की तरफ से सिर्फ बयानबाजियां हो रही है कि कांग्रेस लाशों की राजनीति करती है.

आपको बतादें एक हफ्ते के अंदर राज्य में कर्ज से परेशान लगातर तीसरे किसान ने आत्महत्या की है पहले के दो मामले बैतूल जिले के थे, ताजा मामला रायसेन जिले के बरेली क्षेत्र का है। किसान पर करीब तीन लाख का कर्ज था, जिसे चुकाने का उस पर दबाव था.

पुलिस के अनुसार, बरेली के नयागांव कलां में रहने वाले किसान दिलीप धाकड़ पुत्र निरपतसिंह ने कीटनाशक पीकर आत्महत्या कर ली वह 27 मई को रात करीब 12 बजे अपने खेत से घर लौटा जब घर में सब सो गए तो उसने कीटनाशक पी लिया रात दो बजे उसे उल्टियां शुरू हो गईं परिजन बेहोशी की हालत में बरेली सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंचे यहां से उसे जिला अस्पताल, रायसेन लाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे भोपाल रेफर कर दिया और अंतत: भोपाल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.


एट्रोसिटी एक्ट पर शिवराज के बयान पर कपिल सिब्बल ने किया पलटवार

बहुजन समाज पार्टी ने जारी किये 22 प्रत्याशियों के नाम


 VT PADTAL