VT Update
विंध्य के सबसे बड़े अस्पताल संजय गांधी की सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल, अस्पताल के पार्किंग से चोरी हुई बोलेरो वाहन रीवा मेडिकल कॉलेज में लगेगा रूफटाफ का प्रदेश का सबसे बड़ा सोलर प्रोजेक्ट मतदाता जागरूकता के लिए रवाना हुई बुलेट रैली, कलेक्टर प्रीति मैथिल ने दिखाई हरी झंडी मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में घटिया पुल निर्माण पर गिरी गाज, पीडब्लयूडी के चार अफसर सस्पेंड रीवा सहित प्रदेश भर में हर्षोल्लास के साथ मनायी गई कृष्ण जन्माष्टमी, शिल्पी प्लाजा में हुआ मटकी फोड़ने का भव्य आयोजन
Wednesday 20th of June 2018 | चुनावी सर्वे में होगा धार्मिक आंकलन

चुनावी सर्वे में होगा धार्मिक आंकलन


मध्यप्रदेश में होने जा रहे आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर अब दोनों ही पार्टियों ने अपनी-अपनी तरफ से चुनावी सर्वे कराना शुरु कर दिया है. अपने सर्वे के तौर पर जहां एक ओर बीजेपी ने 200 के लक्ष्य को पार करने की बात की है वहीं दूसरी ओर कांग्रेस ने भी 116 के जादुई आंकड़े को पार कर 119 सीटों पर जीत दर्ज करने का लक्ष्य रखा है. लेकिन अब इन लक्ष्यों को भेदने के लिए दोनो ही पार्टियों के द्वारा धार्मिक आंकलन की तैयारी भी की जा रही है जिसके माध्यम से सर्वे में धर्म के आधार पर वोटर्स गिने जा सके.

दरअसल इसी तरह का एक चुनावी सर्वे इस समय पर कांग्रेस पार्टी के द्वारा भी कराया जा रहा है जिसमें प्रदेश की प्रत्येक विधानसभा सीटों पर फार्म भरवाए जा रहे है और उन विधानसभा सीटों की प्रमुख धर्म स्थली तथा धर्म से जुड़ी अन्य बातों का जिक्र किया गया है.

इतना ही नहीं फॉर्म में चुनावी मुददों के आधार पर विधायक के चयन को लेकर भी धर्म हावी है चुनावी मुददे के विषय में विधायक के चयन को लेकर धर्म के आधार पर सवाल पूछा गया है प्रश्न है कि विधायक के चयन का प्रमुख मुददा क्या रहेगा. इसमें जाति धर्म के साथ क्षेत्रीय मुददे का भी ऑप्शन दिया गया है.

आपको बतादें प्रदेश में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव की दृष्टिकोण के आधार पर सर्वे होना तो जरुरी ही है लेकिन फिर भी धर्मिक आंकलन करना किस हद तक सही माना जाए.


बहुजन समाज पार्टी ने जारी किये 22 प्रत्याशियों के नाम

निर्वाचन आयोग ने कहा बदलाव के लिए करें मतदान, बीजेपी ने जताई आपत्ति


 VT PADTAL