VT Update
केजरीवाल ने दिया शिवराज को प्रस्ताव शिक्षा में सुधार करना हो तो मनीष को भेज दूँ मध्यप्रदेश सीएम फेस की अटकलों पर शिवराज ने लगाया विराम, कहा कि मेरे ही नेतृत्व में बनेगी भाजपा की अगली सरकार वार्ड क्र 16 में मुख्यमार्ग से परेशान रहवासी, मार्ग का नहीं हो रहा निर्माण, 4 बार किया जा चुका है भूमिपूजन दिल्ली मैट्रो को सितम्बर से बिजली सप्लाई करेगा, बदबार का अल्ट्रामेगा सोलर पावर प्लांट गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के धोबखरी गांव में भाई की जान बचाने नहर में कूदी बहन, हुई मौत
चुनावी सर्वे में होगा धार्मिक आंकलन

चुनावी सर्वे में होगा धार्मिक आंकलन


मध्यप्रदेश में होने जा रहे आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर अब दोनों ही पार्टियों ने अपनी-अपनी तरफ से चुनावी सर्वे कराना शुरु कर दिया है. अपने सर्वे के तौर पर जहां एक ओर बीजेपी ने 200 के लक्ष्य को पार करने की बात की है वहीं दूसरी ओर कांग्रेस ने भी 116 के जादुई आंकड़े को पार कर 119 सीटों पर जीत दर्ज करने का लक्ष्य रखा है. लेकिन अब इन लक्ष्यों को भेदने के लिए दोनो ही पार्टियों के द्वारा धार्मिक आंकलन की तैयारी भी की जा रही है जिसके माध्यम से सर्वे में धर्म के आधार पर वोटर्स गिने जा सके.

दरअसल इसी तरह का एक चुनावी सर्वे इस समय पर कांग्रेस पार्टी के द्वारा भी कराया जा रहा है जिसमें प्रदेश की प्रत्येक विधानसभा सीटों पर फार्म भरवाए जा रहे है और उन विधानसभा सीटों की प्रमुख धर्म स्थली तथा धर्म से जुड़ी अन्य बातों का जिक्र किया गया है.

इतना ही नहीं फॉर्म में चुनावी मुददों के आधार पर विधायक के चयन को लेकर भी धर्म हावी है चुनावी मुददे के विषय में विधायक के चयन को लेकर धर्म के आधार पर सवाल पूछा गया है प्रश्न है कि विधायक के चयन का प्रमुख मुददा क्या रहेगा. इसमें जाति धर्म के साथ क्षेत्रीय मुददे का भी ऑप्शन दिया गया है.

आपको बतादें प्रदेश में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव की दृष्टिकोण के आधार पर सर्वे होना तो जरुरी ही है लेकिन फिर भी धर्मिक आंकलन करना किस हद तक सही माना जाए.


इंदौर से चुनावी आगाज करेगी आप, केजरीवाल करेंगे सभा को संबोधित !

राहुल गाँधी से ज्यादा शिवराज सिंह से जुड़े थे फर्जी फालोवर्स    


 VT PADTAL