VT Update
ओंकारेश्वर बांध विस्थापितों को मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत, कोर्ट ने सरकार को दिया आदेश विस्थापितों को उपलब्ध कराएं बेहतर भूमि। प्रदेश के भिंड में चार लोगों की हत्या करने वाले आरोपी को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा। शहडोल उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रही हिमाद्री सिंह ने आज कांग्रेस का हाथ छोड़ थामा भाजपा का दामन कमलनाथ सरकार को जबलपुर हाईकोर्ट से तगड़ा झटका, ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण देने पर लगाई रोक। टिकट को लेकर भाजपा में मचा घमासान, दावेदारों ने प्रदेश कार्यालय के सामने की नारेबाजी।
Thursday 21st of June 2018 | अवैध रेत कारोबार के चलते गई 12 बेगुनाहों की जान

अवैध रेत कारोबार के चलते गई 12 बेगुनाहों की जान, 8 घायल


मध्यप्रदेश के मुरैना जिले में गुरुवार की सुबह एक भीषण हादसा हो गया यहां ट्रैक्टर-ट्रॉली ने जीप को टक्कर मार दी, जिससे जीप में सवार 12 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई वही 8 लोग घायल हो गए. घटना मुरैना के स्टेशन थाना क्षेत्रांतर्गत गंज रामपुर की है बताया जा रहा है कि सभी मृतक ग्वालियर जिले के उटीला क्षेत्र के रहने वाले हैं और अपने किसी संबंधी के यहां हुई मौत में शोक व्यक्त करने जा रहे थे. तभी ये हादसा हो गया

दरअसल, ट्रैक्टर ट्रॉली अवैध रूप से रेत का परिवहन कर रही थी और बेलगाम रफ्तार से चली आ रही थी , जैसे ही वह रामपुर तक पहुंची तो सामने से आ रही जीप से टकरा गई टक्कर इतनी भीषण थी कि जीप के परखच्चे उड़ गए और घायलों को पुलिस ने बमुश्किल निकालकर अस्पताल पहुंचाया. घायलों का जिला अस्पताल में इलाज जारी है वही मृतकों को पुलिस ने पीएम के लिए भेज दिया है फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है.

हैरत की बात यह है कि 20 जून को ही प्रशासन ने रेत उत्खनन पर मानसून के चलते प्रतिबंध लगा दिया था और यह प्रतिबंध पूरे प्रदेश में कल से ही प्रभावी हो गया था. उसके बावजूद मुरैना में रेत का अवैध कारोबार कैसे चल रहा था, यह अपने आप में एक बड़ा सवाल है. साफ तौर पर दिखता है कि मुरैना में पुलिस और प्रशासन ने पिछले हादसों से कोई सबक नहीं ली और आज भी उनकी रेत माफियाओं के साथ जुगलबंदी कायम है.


विन्ध्या टाइम्स की खबर पर लगी मुहर रीवा,सीधी,सतना में सांसद रिपीट

छापेमारी के बाद फूट-फूट कर रोई दबंग विधायक, सीबीआई जांच कराए जाने की मांग


 VT PADTAL