VT Update
केजरीवाल ने दिया शिवराज को प्रस्ताव शिक्षा में सुधार करना हो तो मनीष को भेज दूँ मध्यप्रदेश सीएम फेस की अटकलों पर शिवराज ने लगाया विराम, कहा कि मेरे ही नेतृत्व में बनेगी भाजपा की अगली सरकार वार्ड क्र 16 में मुख्यमार्ग से परेशान रहवासी, मार्ग का नहीं हो रहा निर्माण, 4 बार किया जा चुका है भूमिपूजन दिल्ली मैट्रो को सितम्बर से बिजली सप्लाई करेगा, बदबार का अल्ट्रामेगा सोलर पावर प्लांट गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के धोबखरी गांव में भाई की जान बचाने नहर में कूदी बहन, हुई मौत
अवैध रेत कारोबार के चलते गई 12 बेगुनाहों की जान

अवैध रेत कारोबार के चलते गई 12 बेगुनाहों की जान, 8 घायल


मध्यप्रदेश के मुरैना जिले में गुरुवार की सुबह एक भीषण हादसा हो गया यहां ट्रैक्टर-ट्रॉली ने जीप को टक्कर मार दी, जिससे जीप में सवार 12 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई वही 8 लोग घायल हो गए. घटना मुरैना के स्टेशन थाना क्षेत्रांतर्गत गंज रामपुर की है बताया जा रहा है कि सभी मृतक ग्वालियर जिले के उटीला क्षेत्र के रहने वाले हैं और अपने किसी संबंधी के यहां हुई मौत में शोक व्यक्त करने जा रहे थे. तभी ये हादसा हो गया

दरअसल, ट्रैक्टर ट्रॉली अवैध रूप से रेत का परिवहन कर रही थी और बेलगाम रफ्तार से चली आ रही थी , जैसे ही वह रामपुर तक पहुंची तो सामने से आ रही जीप से टकरा गई टक्कर इतनी भीषण थी कि जीप के परखच्चे उड़ गए और घायलों को पुलिस ने बमुश्किल निकालकर अस्पताल पहुंचाया. घायलों का जिला अस्पताल में इलाज जारी है वही मृतकों को पुलिस ने पीएम के लिए भेज दिया है फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है.

हैरत की बात यह है कि 20 जून को ही प्रशासन ने रेत उत्खनन पर मानसून के चलते प्रतिबंध लगा दिया था और यह प्रतिबंध पूरे प्रदेश में कल से ही प्रभावी हो गया था. उसके बावजूद मुरैना में रेत का अवैध कारोबार कैसे चल रहा था, यह अपने आप में एक बड़ा सवाल है. साफ तौर पर दिखता है कि मुरैना में पुलिस और प्रशासन ने पिछले हादसों से कोई सबक नहीं ली और आज भी उनकी रेत माफियाओं के साथ जुगलबंदी कायम है.


इंदौर से चुनावी आगाज करेगी आप, केजरीवाल करेंगे सभा को संबोधित !

राहुल गाँधी से ज्यादा शिवराज सिंह से जुड़े थे फर्जी फालोवर्स    


 VT PADTAL