VT Update
केजरीवाल ने दिया शिवराज को प्रस्ताव शिक्षा में सुधार करना हो तो मनीष को भेज दूँ मध्यप्रदेश सीएम फेस की अटकलों पर शिवराज ने लगाया विराम, कहा कि मेरे ही नेतृत्व में बनेगी भाजपा की अगली सरकार वार्ड क्र 16 में मुख्यमार्ग से परेशान रहवासी, मार्ग का नहीं हो रहा निर्माण, 4 बार किया जा चुका है भूमिपूजन दिल्ली मैट्रो को सितम्बर से बिजली सप्लाई करेगा, बदबार का अल्ट्रामेगा सोलर पावर प्लांट गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के धोबखरी गांव में भाई की जान बचाने नहर में कूदी बहन, हुई मौत
गांव के दबंगों ने दलित किसान को जिंदा जलाया

गांव के दबंगों ने दलित किसान को जिंदा जलाया, हुई मौत


राजधानी भोपाल से सटे घाटखेड़ी गांव में दलित किसान को जिंदा जलाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. जिसमें चार आरोपियों ने मिलकर गांव के एक 70 साल के किसान किशोरीलाल जाटव को उसकी पत्नी के सामने पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया. पत्नी के लाख गिड़गिड़ाने के बावजूद आरोपियों का दिल नहीं पसीजा. जिसके बाद गंभीर हालत में किसान को अस्पताल पहुंचाया गया लेकिन 90 फीसदी झुलस चुके किसान की इलाज के दौरान मौत हो गई.

किसान का कसूर बस इतना था कि उसने अपनी जमीन पर कब्जे का विरोध किया था. सरकार की ओर से किशोरीलाल को साल 2002 में 3.5 एकड़ जमीन का पट्टा मिला हुआ था. जिसमें खेती कर किशोरी लाल अपना परिवार चलाता था. लेकिन गांव के दबंग तीरन सिंह यादव की जमीन पर बुरी नजर गड़ी हुई थी. तीरन सिंह ने जमीन पर कब्जा कर लिया था और खेती करना शुरू कर दिया था. जिससे किशोरीलाल बेहद परेशान हो गया. गुरुवार सुबह किशोरीलाल खेत पहुंचा तो तीरन सिंह अपने बेटों और भतीजों के साथ ट्रैक्टर से खेती की जुताई कर रहा था किशोरीलाल के मना करने से तैष में आकर तीरन अपने बेटे और भतीजों के साथ मिलकर किसान से मारपीट की और फिर पेट्रोल डालकर उसे जिंदा जला दिया. आरोपियों ने किसान की पत्नी के सामने ही वारदात को अंजाम दिया.

आपको बतादें इस वारदात के बाद भी पुलिस की संवेदनहीनता दिखाई दी शिकायत होने पर भी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की गई जिसके बाद स्थानीय लोगों के विरोध पर देर रात चारों आरोपियों को हिरासत में लिया गया है.


कुलपति बनने के जुगाड़ समाप्त, शैक्षणिक अनुभव वाले की बन सकेंगे कुलपति !

बीजेपी ने की लोकसभा की तैयारी, प्रदेश के 14 सांसदों के कट सकते हैं टिकट


 VT PADTAL