VT Update
गोपाल भार्गव बने नेता मप्र.विधानसभा नेता प्रतिपक्ष जेपी सीमेंट ने नहीं चुकाया 5० करोड़ रूपए टैक्स, जुलाई के बाद नहीं जमा किया टैक्स लूट से बचने पहले व्यापारी और फिर बदमाश गाड़ी सहित गिरे नदी में,गुढ़ थाने के बिछिया नदी में हुआ हादसा विधानसभा में हारे उम्मीदवारों को कमलनाथ का सहारा, कमलनाथ ने कहा हताश न हो लोकसभा की तैयारी में लगें मप्र में कांग्रेस सरकार फिर खोलेगी व्यापम की फाइल,गृह मंत्री बाला बच्चन ने कहा घोटाले से जुड़े लोग बक्शे नही जायेंगे
Saturday 23rd of June 2018 | अधिकारियों को 10 दिन के लिए रोकना पड़ा तबादला

टीचर का हुआ ट्रान्सफर तो लिपट कर रोये बच्चे


 

शिक्षक के प्रति इस तरह का लगाव आज देश भर में चर्चा का विषय बना हुआ, ऐसा प्रेम जो कभी कहानियों या पौराणिक कथाओं में देखने को मिलता रहा है, यह घटना है तमिलनाडू के एक सरकारी में अंग्रेजी पढ़ने वाले शिक्षक का ट्रान्सफर लेटर आया तोबच्चे न जाने देने की जिद में अड़ गए मगर जब शिक्षक ने सरकारी आदेश का हवाला देकर जाना जरूरी बताया बच्चों ने शिक्षक से लिपट कर रोने लगे हलाकि इसके बाद टीचर का 10 दिन के लिए तबादला रोक दिया गया

ये मामला चेन्नई के तिरुवल्लुवर इलाके का है, इस स्कूल में दो अंग्रेजी के शिक्षक हैं। स्कूल के प्रिंसिपल ने का कहना था कि भगवान यानी जिनका तबादला हुआ है, वो 6ठी से 10वीं तक के बच्चों को अंग्रेजी पढ़ाते हैं। बुधवार को सुबह नौ बजे एक अन्य टीचर आया था। उस दिन की प्रक्रिया पूरी हो गई थी, जिसके बाद भगवान को 10 बजे के पहले नए स्कूल (जहां तबादला हुआ था) जाना था। लेकिन उन्हें बच्चों ने रोक लिया, जिसके कारण प्रक्रिया थाम दी गई।

मजे की बात ये थी कि शिक्षक के तबादले की सूचना सिर्फ छात्र ही नहीं बल्कि परिजनों को भी अच्छी नहीं लगी, छात्रों के अभिभावकों का कहना था कि भगवान इसी स्कूल में रुकें और बच्चों को पढ़ाएं। खबर के अनुसार अंग्रेजी के शिक्षक का तबादला रुकवाने के लिए अभिभावकों और टीचर्स एसोसिएशन ने स्थानीय विधायक पीएम नरसिम्हन से भी मदद की गुहार लगाई थी।

 

 


निर्दलीय उम्मीदवार ने लिया समर्थन वापस, संकट में कुमारस्वामी सरकार

बोलो सेना प्रमुख- दुश्मन देश के किसी भी देश विरोधी मंसूबों को कामयाब नहीं हो


 VT PADTAL