VT Update
ओंकारेश्वर बांध विस्थापितों को मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत, कोर्ट ने सरकार को दिया आदेश विस्थापितों को उपलब्ध कराएं बेहतर भूमि। प्रदेश के भिंड में चार लोगों की हत्या करने वाले आरोपी को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा। शहडोल उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रही हिमाद्री सिंह ने आज कांग्रेस का हाथ छोड़ थामा भाजपा का दामन कमलनाथ सरकार को जबलपुर हाईकोर्ट से तगड़ा झटका, ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण देने पर लगाई रोक। टिकट को लेकर भाजपा में मचा घमासान, दावेदारों ने प्रदेश कार्यालय के सामने की नारेबाजी।
Saturday 23rd of June 2018 | अधिकारियों को 10 दिन के लिए रोकना पड़ा तबादला

टीचर का हुआ ट्रान्सफर तो लिपट कर रोये बच्चे


 

शिक्षक के प्रति इस तरह का लगाव आज देश भर में चर्चा का विषय बना हुआ, ऐसा प्रेम जो कभी कहानियों या पौराणिक कथाओं में देखने को मिलता रहा है, यह घटना है तमिलनाडू के एक सरकारी में अंग्रेजी पढ़ने वाले शिक्षक का ट्रान्सफर लेटर आया तोबच्चे न जाने देने की जिद में अड़ गए मगर जब शिक्षक ने सरकारी आदेश का हवाला देकर जाना जरूरी बताया बच्चों ने शिक्षक से लिपट कर रोने लगे हलाकि इसके बाद टीचर का 10 दिन के लिए तबादला रोक दिया गया

ये मामला चेन्नई के तिरुवल्लुवर इलाके का है, इस स्कूल में दो अंग्रेजी के शिक्षक हैं। स्कूल के प्रिंसिपल ने का कहना था कि भगवान यानी जिनका तबादला हुआ है, वो 6ठी से 10वीं तक के बच्चों को अंग्रेजी पढ़ाते हैं। बुधवार को सुबह नौ बजे एक अन्य टीचर आया था। उस दिन की प्रक्रिया पूरी हो गई थी, जिसके बाद भगवान को 10 बजे के पहले नए स्कूल (जहां तबादला हुआ था) जाना था। लेकिन उन्हें बच्चों ने रोक लिया, जिसके कारण प्रक्रिया थाम दी गई।

मजे की बात ये थी कि शिक्षक के तबादले की सूचना सिर्फ छात्र ही नहीं बल्कि परिजनों को भी अच्छी नहीं लगी, छात्रों के अभिभावकों का कहना था कि भगवान इसी स्कूल में रुकें और बच्चों को पढ़ाएं। खबर के अनुसार अंग्रेजी के शिक्षक का तबादला रुकवाने के लिए अभिभावकों और टीचर्स एसोसिएशन ने स्थानीय विधायक पीएम नरसिम्हन से भी मदद की गुहार लगाई थी।

 

 


बीजेपी नेताओं ने सोशल मीडिया में नाम के आगे लिखा चौकीदार

Yamaha Fascino स्कूटर का डार्कनाइट एडिशन हुआ लॉन्च, जानिए क्या है कीमत


 VT PADTAL