VT Update
केजरीवाल ने दिया शिवराज को प्रस्ताव शिक्षा में सुधार करना हो तो मनीष को भेज दूँ मध्यप्रदेश सीएम फेस की अटकलों पर शिवराज ने लगाया विराम, कहा कि मेरे ही नेतृत्व में बनेगी भाजपा की अगली सरकार वार्ड क्र 16 में मुख्यमार्ग से परेशान रहवासी, मार्ग का नहीं हो रहा निर्माण, 4 बार किया जा चुका है भूमिपूजन दिल्ली मैट्रो को सितम्बर से बिजली सप्लाई करेगा, बदबार का अल्ट्रामेगा सोलर पावर प्लांट गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के धोबखरी गांव में भाई की जान बचाने नहर में कूदी बहन, हुई मौत
आज फिर होगी भाजपा विधायक दल की बैठक

चार दिन में दूसरी बार होगी भाजपा विधायक दल की बैठक


मध्यप्रदेश विधानसभा का मानसून सत्र स्थगित होने के बाद अब भारतीय जनता पार्टी जनता के बीच जाने की तैयारी में है. जिसके तहत अब एकबार फिर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भाजपा विधायक दल की बैठक बुलाई है. चार दिन के भीतर दूसरी बार हो रही बैठक बुधवार को शाम साढ़े सात बजे से मुख्यमंत्री निवास पर होगी. बैठक में तय होगा कि विपक्ष के आरोपों का जवाब कैसे दिया जाए. यानी भाजपा अब कांग्रेस के अविश्वास प्रस्ताव का जवाब जनता के बीच जाकर देगी.

भाजपा विधायक दल के मुख्य सचेतक एवं वरिष्ठ मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि भाजपा विधायक दल की आवश्यक बैठक 27 जून को सायं 7.30 बजे मुख्यमंत्री निवास भोपाल में रखी गई है. हालांकि बैठक को लेकर कोई स्थाई मुद्दा तय नहीं है, लेकिन आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बैठक को अहम माना जा रहा है. इसमें भाजपा की अगली रणनीति, विकास पर्व के दौरान निर्माण कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास कार्यक्रम सहित कई अन्य विषयों पर चर्चा होगी.

इसके साथ ही संगठन के कार्यक्रमों में सक्रिय भागीदारी सुनिश्चत की जाएगी. निकट भविष्य में भाजपा नया कार्यक्रम जारी करने जा रही है. जिसमें भाजपा फिर से लोगों के बीच जाएगी. खास बात यह है कि इस कार्यक्रम के जरिए भाजपाइयों द्वारा आपातकाल का मुद्दा उठाया जाएगा. लोगों को बताया जाएगा कि तत्कालीन सरकार ने किसी तरह कुर्सी के लिए देश में आपातकाल लगाया और लोगों को जेल में डाला. भाजपा की अगली रणनीति आपातकाल को भुनाने की है.

इसके अलावा मुख्यमंत्री द्वारा बार-बार चेतावनी के बावजूद भी अपना परफॉर्मेंस नहीं सुधारने वाले विधायकों को विधायक दल की बैठक में चेतावनी मिल सकती है ऐसे विधायकों से कहा जाएगा कि वे चुनाव से पहले सत्ता एवं संगठन द्वारा तय किये जाने वाले कार्यक्रमों में संगठन का सहयोग करें. प्रदेश नेतृत्व की ओर से ऐसे विधायकों को क्षेत्र के प्रवास के दौरान संगठन पदाधिकारियों को साथ रखने के लिए कहा जाएगा.


कुलपति बनने के जुगाड़ समाप्त, शैक्षणिक अनुभव वाले की बन सकेंगे कुलपति !

बीजेपी ने की लोकसभा की तैयारी, प्रदेश के 14 सांसदों के कट सकते हैं टिकट


 VT PADTAL