VT Update
केजरीवाल ने दिया शिवराज को प्रस्ताव शिक्षा में सुधार करना हो तो मनीष को भेज दूँ मध्यप्रदेश सीएम फेस की अटकलों पर शिवराज ने लगाया विराम, कहा कि मेरे ही नेतृत्व में बनेगी भाजपा की अगली सरकार वार्ड क्र 16 में मुख्यमार्ग से परेशान रहवासी, मार्ग का नहीं हो रहा निर्माण, 4 बार किया जा चुका है भूमिपूजन दिल्ली मैट्रो को सितम्बर से बिजली सप्लाई करेगा, बदबार का अल्ट्रामेगा सोलर पावर प्लांट गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के धोबखरी गांव में भाई की जान बचाने नहर में कूदी बहन, हुई मौत
रीवा, रीवा और सिर्फ रीवा से लडूंगा चुनाव !

कांग्रेस से स्वाघोषित प्रत्याशी हुए अभय, कहा रीवा, रीवा और सिर्फ रीवा से लडूंगा चुनाव !


रीवा । मध्यप्रदेश में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियां जोरों पर जहां भाजपा अपने कई विधायकों के टिकट काटने में लगीं हुई हैं वहीं कांग्रेस पार्टी से खुद नेता ही अपने टिकट की घोषणा कर रहे हैं. इसी कड़ी में अब विंध्य की सबसे बड़ी सीट रीवा विधानसभा से कांग्रेस पार्टी की तरफ से जिला पंचायत अध्यक्ष अभय मिश्रा ने खुद ही अपने टिकट को लेकर बात की. अभय का कहना है कि कांग्रेस पार्टी के द्वारा उन्हे रीवा विधानसभा से ही टिकट दी जायेगी.

दरअसल गुरुवार को जिला पंचायत अध्यक्ष अभय मिश्रा ने अमहिया स्थित अपने निवस में प्रेस वार्ता आयोजित की जिसमें सेमरिया हत्याकांड की गिरफ्तारी को लेकर मीडिया से बात करते हुए उन्होने कहा भारतीय जनता पार्टी के द्वारा उन्हे षड़यत्र पूर्वक फंसाया जा रहा है जबकि उक्त मामले में उन्होने केवल गरीब परिवार का साथ दिया है.

इसके साथ ही कांग्रेस पार्टी के टिकट वितरण को लेकर उन्होने कहा कि वह रीवा विधानसभा से कांग्रेस पार्टी के बड़े दावेदारों में शामिल हैं जिसके कारण पार्टी के द्वारा सिर्फ उन्हे ही टिकट दी जा सकती. अभय ने कहा कि अगर पार्टी उन्हे टिकट देती है तो वह सिर्फ रीवा से ही टिकट लेना पसंद करेगें वरना वह मात्र पार्टी कार्यकर्ता बनकर कांग्रेस पार्टी को विंध्य की अन्य सभी सीटों पर चुनाव जिताने का काम ही करेगें.उन्होंने साफ़ साफ़ शब्दों में कहा की ‘मै सिर्फ रीवा , रीवा और सिर्फ रीवा से ही चुनाव लडूंगा”

इस दौरान उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार से लेकर प्रदेश की शिवराज सरकार पर जम कर हमला बोला. स्थानीय मंत्री राजेन्द्र शुक्ल पर बोलते हुये अभय ने उनके उपर भ्रष्टाचार करने सहित कई आरोप लगाये, भाजपा सरकार पर तंज कसते हुये उन्होंने कहा की देश में अदानी, अम्बानी का शासन है तो प्रदेश में बंसल और दिलीप बिल्डकान का राज है जबकि रीवा में समदरिया का बोलबाला है 

अभय के बयान का सीधा मतलब

कांग्रेस पार्टी के बिना किसी आदेश के ही अभय का रीवा विधानसभा सीट के लिए इस तरह का बयान चुनावी पंडितों के लिये चर्चा का विषय बना हुआ है, मगर अभय के इस बयान में कई अर्थ छुपे हुए है, हो सकता है की अभय वर्तमान में जिस नेता के साथ चल रहे है उनसे अभय की रीवा सीट की डील फिक्स हो चुकी हो? क्यों की रीवा में अभी तक अमहिया कांग्रेस का दबदबा रहा है मगर अब चुरहट वाले नेता उसे अपने पक्ष में लाने के जुगाड़ में हैं,

या फिर अभय को अभी से पता हो की उन्हें रीवा विधानसभा की टिकट नही मिलेगी, उन्हें सिर्फ भौकाल मचा कर रखना है, और बाद में इसके बदले रीवा लोकसभा का टिकट लेना है|

सौ बातों की एक बात यह है की भले ही अभय मिश्रा कितनी ही घोषणा कर ले रीवा विधानसभा से चुनाव लड़ने का मगर सच तो यह है की अभी तक लोकल लेवल पर उन्हें कांग्रेस की स्वीकार्यता प्राप्त नही हुई है, क्यों की स्वाभाविक सी बात है की कांग्रेस के बुरे दौर में पार्टी का झंडा उठाने वाले रीवा के नेता अब चुनावी साल में पार्टी में आने वाले नेता को टिकट दिलाने के पक्ष में नही होंगे|    


सितम्बर से दी जाएगी दिल्ली मेट्रो को बिजली

भय के साये में निवास करते पिछड़ा वर्ग छात्रावास के छात्र, जर्जर भवन बनी पढ़ा


 VT PADTAL