VT Update
केजरीवाल ने दिया शिवराज को प्रस्ताव शिक्षा में सुधार करना हो तो मनीष को भेज दूँ मध्यप्रदेश सीएम फेस की अटकलों पर शिवराज ने लगाया विराम, कहा कि मेरे ही नेतृत्व में बनेगी भाजपा की अगली सरकार वार्ड क्र 16 में मुख्यमार्ग से परेशान रहवासी, मार्ग का नहीं हो रहा निर्माण, 4 बार किया जा चुका है भूमिपूजन दिल्ली मैट्रो को सितम्बर से बिजली सप्लाई करेगा, बदबार का अल्ट्रामेगा सोलर पावर प्लांट गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के धोबखरी गांव में भाई की जान बचाने नहर में कूदी बहन, हुई मौत
मजाकिया अंदाज में क्या बोल गए कृषि मंत्री

मजाकिया अंदाज में बोले मंत्री, बारिश के लिए चलें, भगवान के पास


मध्यप्रदेश सरकार के कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने एक बार फिर मजाकिया बयान दिया है. दरअसल ग्वालियर में प्रभारी मंत्री होने के नाते जिला योजना समिति की बैठक लेते समय मंत्री जी कुछ ऐसा बोल गए जो चर्चा का विषय बन गया. जिला पंचायत सदस्य ने कहा था मंत्रीजी क्षेत्र में जल संकट बढ़ रहा है. तब मंत्री जी ने उनकी बातों का जबाव देते हुए कहा "सब मिल कर चलो ऊपर वाले के पास बोलेंगे कि बारिश करा दो क्योंकि जब बारिश होगी तभी तो पानी आएगा. 2017 में भी जब ग्वालियर में जल संकट को लेकर बिसेन से बात की गई थी तो उनका जवाब था कि पानी नहीं तो बिसलरी की बोतल से पानी दिया जाएगा

दरअसल, बुधवार को जिला योजना समिति की बैठक लेने आये प्रभारी मंत्री ने सरकार की योजनाओं के ठीक से क्रियान्वित करने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि जनता की समस्याओं का समय सीमा में निराकरण हो जाये इसका भी ध्यान रखा जाये. इसी बीच पंचायत सदस्य ने कहा कि मंत्री जी बारिश हो नहीं रही शहर में भारी पेयजल संकट है इसके निराकरण पर ध्यान दिया जाये. सदस्य की बात सुनकर मंत्री बिसेन मुस्कुराये और कहा कि पानी की कमी के बावजूद हम एक दिन छोड़कर पानी दे रहे है. अब बारिश नहीं हो रही तो क्या कर सकते हैं इसका निदान तो भगवान ही कर सकते हैं,चलो सब भगवान के पास चलते है.

प्रभारी मंत्री के इतना कहते ही बैठक में मौजूद अन्य सदस्य और प्रशासनिक अफसर एक दूसरे का मुंह देखने लगे. इतनी देर में प्रभारी मंत्री को अपनी कही बात का मतलब समझ आ गया तो उन्होंने बयान को सुधारते हुए कहा कि बारिश के लिए हम सब मिलाकर ईश्वर से प्रार्थना करने चलते है. उनकी कृपा से ही बारिश होगी. मध्य प्रदेश के वरिष्ठ मंत्रियों में से शुमार होने वाले विसेन पर इस तरह के बयान ने एक बार फिर मध्य प्रदेश की राजनीति में चर्चाएं गर्म कर दी है.


कुलपति बनने के जुगाड़ समाप्त, शैक्षणिक अनुभव वाले की बन सकेंगे कुलपति !

बीजेपी ने की लोकसभा की तैयारी, प्रदेश के 14 सांसदों के कट सकते हैं टिकट


 VT PADTAL