VT Update
रीवा- सतना रेल लाइन में पहली बार दौड़ा विद्युत इंजन, दिसंबर के आखरी तक ट्रेन दौड़ाने के तैयारी सहकारी बैंक के 245 कर्मचारी हड़ताल पर डटे, आयुक्त का फरमान , हड़तालियों को तीन माह का वेतन देकर करो बाहरआंदोलनकारियोंने रैली निकाल , सौपा ज्ञापन प्रदेश के सरकारी कर्मचारियों व पेंशनर्स को प्राइवेट अस्पतालों में मिलेगा कैशलेस उपचार, 1 अप्रैल से लागू हो सकती है योजना भाजपा की 33 जिला अध्यक्षों की हुई घोषणा दिग्गज नेताओं के कारण अटके बड़े जिलों के नाम नेताओं ने दिल्ली जाकर अपने चहेतों का सूची में जुड़वा लिया नाम प्रदेश के माफिया राज खत्म करेगी कमलनाथ सरकार हनी ट्रैप के बाद एक्शन में मध्य प्रदेश सरकार नहीं चलेगा राजनीतिक स्वरूप शिवराज ने किया समर्थन
Thursday 12th of July 2018 | रीवा में खोला जाय उच्च न्यायलय का खंडपीठ

विन्ध्य की अस्मिता के लिए रीवा में खोला जाए उच्च न्यायालय का खण्डपीठ !


रीवा. उच्च न्यायलय की खंडपीठ रीवा में बनाने के लिए संघर्षरत समाजवादी नेता और जिला अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह बघेल ने कहा की अब रीवा की अस्मिता की रक्षा के लिए यहाँ खंडपीठ बनाना आवशयक हो गया है तथा अब सरकार को रीवा में भी उच्च न्यायलय जबलपुर की एक खंडपीठ बनाई जानी चाहिए, जिसके लिए कई वर्षों से विन्ध्यावासियों के द्वारा मांग की जा रही है

उन्होंने ने बताया की विंध्यप्रदेश के गठन के बाद रीवा में उच्च न्यायालय बनाया गया था मगर इसके मध्यप्रदेश में विलय के बाद जबलपुर में उच्च न्यायालय बनाया गया था उसकी दो खंडपीठ क्रमशः इंदौर और ग्वालियर में बनाई गयी, मगर सभी पात्रता होने के बावजूद रीवा में खंडपीठ नही बनाया गया. सिंह का कहना है की रीआर्गेनाइजेशन एक्ट 1956 की धारा 51 (3) के तहत यहाँ उच्च न्यायालय की खंडपीठ बनाने में कोई वैधानिक अड़चन नहीं है

उन्होंने बताया की इस बावत कई बाद आन्दोलन किया जा चुका है वर्ष 1986 ,1990 तथा 2011 में वकीलों की अगुआई में बड़ा आन्दोलन किया जा चुका है, तब क्षेत्रीय मंत्री के द्वारा यह घोषणा की गयी थी की प्रदेश सरकार रीवा में खंडपीठ खोलने के लिए प्रस्ताव पारित करेगी, लेकिन आज तक इसका कोई हल नही निकला गया, जिससे जनता आक्रोशित है.


छठवा वेतन मान शुरू करने सहकारी कर्मचारियो का धरना जारी

रीवा-सीधी सड़क हादसे में 9 लोगो की मौत और 35 लोग घायल


 VT PADTAL