VT Update
कानपुर में पकड़ाई कार चोरी करने करने वाले बदमाशों की गैंग, हनुमना तथा शाहपुर थाना में वाहन चोरी की कई वारदातों को दिया अंजाम, पूछताछ के लिए यूपी जायेगी पुलिस सिविल लाइन पुलिस ने की बड़ी कार्यवाही, घर और फॉर्महाउस से बरामद हुई 27 पेटी कोरेक्स, आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार विधानसभा चुनाव में टिकट बंटवारे को लेकर भाजपा तथा कांग्रेस में हो रही माथापच्ची, भोपाल से लेकर दिल्ली तक नामों पर हो रहा मंथन, अंतिम सप्ताह तक आ सकती है पहली सूची मध्यप्रदेश के डीजीपी ऋषि कुमार शुक्ला के अस्वस्थ्य होने के बाद वीके सिंह को मिला अतिरिक्त प्रभार, पीएचक्यू पहुंचकर संभाला पदभार मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले में लोकायुक्त पुलिस ने की बड़ी कार्यवाई, खेल अधिकारी को 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथों किया गिरफ्तार
Friday 10th of August 2018 | बिजली बिल माफी योजना पर लगी याचिका

सुप्रीम कोर्ट पहुंची बिजली बिल माफी योजना की याचिका


मध्यप्रदेश में बिजली बिल माफी और सरल बिजली योजना को चुनौती देने का मामला अब सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया है.  विगत 13 जुलाई को हाईकोर्ट ने यह कहते हुए इसमें दखल से इनकार कर दिया था कि इन योजनाओं से होने वाले नुकसान का मुद्दा सरकार और बिजली कंपनी के बीच का है इनमें वह कुछ नहीं बोल सकते जिसके बाद मामले को सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचाया गया.

सरकार ने उक्त अधिनियम का उल्लंघन करते हुए पैसा जमा किए बिना ही योजना लागू कर दी. याचिकाकर्ता की ओर से कहा गया कि ऐसे में बिजली कंपनियां नुकसान की भरपाई के लिए बिजली रेट बढ़ा सकती है और उसका भार आम उपभोक्ताओं पर पड़ेगा. यह दलील भी दी गई कि प्रदेश में अगले साल चुनाव हैं और इसी का राजनीतिक लाभ पाने के लिए सरकार ने ये कदम उठाया है.

याचिका में बताया गया कि वर्ष 2003 में भी तत्कालीन दिग्विजय सिंह सरकार ने बिजली बिल माफी योजना लागू की थी, लेकिन विद्युत मंडल के पास पैसा नहीं जमा कराया था. तब चीफ जस्टिस राजा रत्नम और जस्टिस दीपक मिश्रा की खंडपीठ ने सरकार को 100 करोड़ रुपए जमा कराने के निर्देश दिए थे.


विधानसभा चुनाव को लेकर जारी है राहुल गांधी का एम् पी दौरा

टिकट बंटवारे पर बोले शाह, वंशवाद नहीं काम करने वालों को मिलेगा टिकट


 VT PADTAL