VT Update
गोपाल भार्गव बने नेता मप्र.विधानसभा नेता प्रतिपक्ष जेपी सीमेंट ने नहीं चुकाया 5० करोड़ रूपए टैक्स, जुलाई के बाद नहीं जमा किया टैक्स लूट से बचने पहले व्यापारी और फिर बदमाश गाड़ी सहित गिरे नदी में,गुढ़ थाने के बिछिया नदी में हुआ हादसा विधानसभा में हारे उम्मीदवारों को कमलनाथ का सहारा, कमलनाथ ने कहा हताश न हो लोकसभा की तैयारी में लगें मप्र में कांग्रेस सरकार फिर खोलेगी व्यापम की फाइल,गृह मंत्री बाला बच्चन ने कहा घोटाले से जुड़े लोग बक्शे नही जायेंगे
Friday 10th of August 2018 | मॉगें नहीं मानी तो बंद होगा ओपीडी

आयु्र्वेद जुडॉ की चेतावनी, मॉगें नहीं मानी तो बंद होगा ओपीडी


मध्यप्रदेश सरकार की नीतियों से परेशान होकर अब आयूष जूनियर डॉक्टरो ने भी हड़ताल की राह पकड़ ली है दरअसल जूडा की मांग है कि अन्य राज्यों की तरह उन्हें भी सम्मानीय स्टाइपेंड दिया जाए. जिसके लिए उनके द्वारा अपनी मांगों को मनवाने के लिए काली पट्टी बांधकर और झाडू लगाकर विरोध जताया गया है.  फिलहाल उन्हें 21 हजार रुपए का स्टायपेंड मिलता है और अब वे चिकित्सा विभाग के जूडा के बराबर स्टाइपेंड की मांग कर रहे हैं.

आपको बतादें कि मध्यप्रदेश के जूनियर डॉक्टर का कहना है कि जिस तरह दूसरे प्रदेश के जूनियर डॉक्टरों को स्टाइपेंड दिया जाता है उतना ही उन्हें भी दिया जाना चाहिए. जूडा का कहना है कि सरकार आयूष विभाग के लिए केवल घोषणाएँ ही करके रह जाती है लेकिन जमीनी तौर पर कोई काम नहीं हो रहा है. पिछले कितने सालों से आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी के लोक सेवा आयोग के प्रस्तावित पद और राष्ट्रीय स्वास्थय मिशन के पद भी नहीं निकाले गए हैं. वहीं गुरुवार अपना विरोध दर्ज कराने के लिए के लिए जूनियर डॉक्टरों अनिश्तकालीन हड़ताल भी शुरु कर दिया है. जुनियर डॉक्टरों का कहना है कि अगर कल तक उनकी मांगें नहीं मानी गई तो वह ओपीडी का कार्य भी बंद करा सकते हैं.


खंभे से टकराकर धड़ से अलग हुआ सिर,चलती बस में हुई घटना...

लापरवाही बरतने पर सरकार ने 17 अधिकारियों के खिलाफ दिए कार्यवाही के आदेश


 VT PADTAL