VT Update
अपने बयान पर अड़े कांग्रेस विधायक सुंदरलाल तिवारी, बोले फिर से कहता हूँ वैश्याऐं शिवराज से हैं बेहतर जिले के जनेह थाने में पुलिस अभिरक्षा पर हुई युवक की मौत में अब तक बरकरार तनाव की स्थिति, एहतियात के तौर पर तैनात पुलिस बल, थाना प्रभारी हुए लाइन अटैच रीवा में कांग्रेस प्रभारी बावरिया से हुई झूमाझटकी में दो और कार्यकर्तओं पर कार्यवाई, अब तक सात कार्यकर्ता पार्टी से निष्काषित, तीन को जारी हुई नेटिस मध्यप्रदेश के रायसेन जिले में एकबार फिर शर्मशार हुई इंसानियत, 6 साल की मासूम क साथ दुष्कर्म कर गला घोट जंगल में फेंका पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी की अंतिम विदाई में उमड़ा जनसैलाब, बेटी नमिता ने दी मुखाग्नि, जनता की नम आखों से विदा हुए अटल
मॉगें नहीं मानी तो बंद होगा ओपीडी

आयु्र्वेद जुडॉ की चेतावनी, मॉगें नहीं मानी तो बंद होगा ओपीडी


मध्यप्रदेश सरकार की नीतियों से परेशान होकर अब आयूष जूनियर डॉक्टरो ने भी हड़ताल की राह पकड़ ली है दरअसल जूडा की मांग है कि अन्य राज्यों की तरह उन्हें भी सम्मानीय स्टाइपेंड दिया जाए. जिसके लिए उनके द्वारा अपनी मांगों को मनवाने के लिए काली पट्टी बांधकर और झाडू लगाकर विरोध जताया गया है.  फिलहाल उन्हें 21 हजार रुपए का स्टायपेंड मिलता है और अब वे चिकित्सा विभाग के जूडा के बराबर स्टाइपेंड की मांग कर रहे हैं.

आपको बतादें कि मध्यप्रदेश के जूनियर डॉक्टर का कहना है कि जिस तरह दूसरे प्रदेश के जूनियर डॉक्टरों को स्टाइपेंड दिया जाता है उतना ही उन्हें भी दिया जाना चाहिए. जूडा का कहना है कि सरकार आयूष विभाग के लिए केवल घोषणाएँ ही करके रह जाती है लेकिन जमीनी तौर पर कोई काम नहीं हो रहा है. पिछले कितने सालों से आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी के लोक सेवा आयोग के प्रस्तावित पद और राष्ट्रीय स्वास्थय मिशन के पद भी नहीं निकाले गए हैं. वहीं गुरुवार अपना विरोध दर्ज कराने के लिए के लिए जूनियर डॉक्टरों अनिश्तकालीन हड़ताल भी शुरु कर दिया है. जुनियर डॉक्टरों का कहना है कि अगर कल तक उनकी मांगें नहीं मानी गई तो वह ओपीडी का कार्य भी बंद करा सकते हैं.


विधानसभा सीटों के लिए टिकट वितरण के लिए कांग्रेस की महत्वपूर्ण बैठक

सुल्तानगढ़ वॉटरफॉल में फंसे 40 लोगों को 3 ग्रामीणों ने बचाया


 VT PADTAL