VT Update
बोर्ड परीक्षाओं की तिथि का काउंटडाउन शुरू 9 दिन बचे शेष, प्रशासन ने कसी कमर चप्पे-चप्पे पर रहेगा पुलिस का पहरा 10 हेक्टयर के रकबा वाले किसान के नाम पर 27 हेक्टर का पंजीयन निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने पकड़ी गड़बड़ी दो पटवारी सस्पेंड प्रदेश में पहली बार 3 तरह की अबकारी नीति, 25 प्रतिशत बढ़ेगी शराब दुकानों की कीमत, नहीं खोली जाएंगी उप दुकाने नगरी निकाय और किसानों को मिलने वाली बिजली महंगी करने की तैयारी में सरकार, घाटे को कम नहीं कर पा रही बिजली कंपनियां प्रधानमंत्री मोदी की मुहिम को झटका, आधे से भी कम सांसदों ने गांव लिए गोद, 778 कुल सांसद 300 गांव ही लिए गए गोंद
Sunday 2nd of September 2018 | बेतवा में फंसे 20 लोगों को रेस्कयू ने निकाला

बेतवा में फंसे 20 लोगों को रेस्कयू ने निकाला, अलर्ट हुआ प्रशासन, बारिश की संभावनाऐं तेज


मानसून की शुरुआती बेरुखी के बाद मध्य प्रदेश में इन दिनों बादल जमकर बरस रहे हैं. भारी बारिश से जहां तामपान में कमी आई है तो वहीं कई इलाकों में नदियां उफान पर भी आ गई हैं जिससे जनजीवन प्रभावित हो रहा है. प्रदेशभर में बारिश का दौर पिछले दो दिनों से लगातार जारी है. जगह जगह सड़को में जल भराव से लोंगो को आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. वही कई जगहों पर हालात बाढ़ जैसे हो चले है. प्रशासन ने कई जगह रेड अलर्ट घोषित किया हुआ है. ताजा मामला टीकमगढ़ से सामने आया है, जहां शनिवार को उफनती बेतवा नदी में बाढ़ के दौरान 20 लोग फंस गए. खबर मिलते ही प्रशासन अलर्ट हुआ और रेस्क्यू कर नाव और मोटरसाइकल की मदद से बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित निकाला.

बताया जा रहा है कि ओरछा के पास वन क्षेत्र में कस्बे की एक भजन मंडली के बीस सदस्य शनिवार सुबह पिकनिक मनाने के लिये यहां आए हुए थे, तभी बेतवा नदी में पानी का बहाव तेज होने से नदी के बीच टापू पर ये सभी लोग फंस गये. फिलहाल सभी को सुरक्षित निकाल लिया गया है. अब किसी भी व्यक्ति के फंसे होने की खबर नही है, प्रशासन ने ये स्पष्ट कर दिया है. फिर भी प्रशासन अलर्ट हो गया है, अगर ऐसी कोई सूचना आती है तो तुरंत रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जाएगा और लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला जाएगा.

आपको बतादें कि तेज बारिश के कारण ओरछा में बेतवा नदी और जामनी नदी उफान पर आ गई हैं. वहां दोनों नदियों के पुलों के ऊपर पानी बह रहा है. बाढ़ के कारण लोग रास्ता भटक जाते हैं और अन्य रास्ते पर जाने की आशंका रहती है. मौसम वैज्ञानिकों की माने तो ग्वालियर, चंबल, सागर, शहडोल, रीवा संभागों में 48 घंटे भारी बारिश का अलर्ट है, जबकि उज्जैन, इंदौर, भोपाल, जबलपुर और होशंगाबाद संभागों में तेज बारिश के आसार हैं.


कमलनाथ के ओएसडी आरके मिगलानी के बेटे का निधन

बेगर फ्री सिटी बनेगा इंदौर, भिखारियों को डी जाएगी आजीविका


 VT PADTAL