VT Update
विन्ध्य में उद्योगों को लगेंगे पंख , मर्जी के मुताबिक उद्योगपतियों को मिलेगी जमीन , लैंड बैंक और लैंड पूल स्कीम से विन्ध्य में विकसित होगा उद्योग खोले गए लबालब बाणसागर के 10 गेट , रीवा, सतना, सीढ़ी, सिंगरौली, और शहडोल में अलर्ट घोषित आर्थिक मंदी के खिलाफ कांग्रेस मध्यप्रदेश समेत पुरे देश में छेड़ेगी आन्दोलन , दिल्ली में हुई पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में सोनिया गाँधी ने दी जानकारी धुंधली होने लगी है विक्रम लैंडर से संपर्क की उम्मीद, लैंडर को नुक्सान पहुचने की आशंका बढ़ी यौन उत्पीड़न मामले में एसआईटी ने भाजपा नेता चिन्मयानंद से 7 घंटे की पूछताछ, चिन्मयानंद के आवास पर उनके बेडरूम की गई तलाशी
Sunday 16th of September 2018 | मुख्यमंत्री के सम्मलेन के लिए बस ऑनर्स ने किया बस देने से इनकार

पिछड़ा वर्ग सम्मलेन के लिए बस ऑनर्स एसोसिएशन ने किया बस देने से इनकार


 

विधानसभा चुनाव के पहले भारतीय जनता पार्टी की परेशानियां कम होने का नाम नहीं ले रही है| ताजा मामला आया है प्रदेश के सतना जिले से जहाँ पार्टी के द्वारा पिछड़ा वर्ग सम्मलेन किया जाना तय हुआ है, मगर sc/st एक्ट के विरोध के चलते बस ऑपरेटर एसोसिएशन के द्वारा सम्मलेन के लिए बस देने से इनकार कर दिया गया है| यहाँ भी मुख्यमंत्री जी को सवर्णों के विरोध का खामियाजा पार्टी को हर तरफ झेलना पड़ रहा है। आपको बता दें की 18 सितंबर को सतना जिले में सरकार पिछड़ा वर्ग महाकुंभ सम्मेलन आयोजित कर रही है। इसके लिए हितग्राहियों को लाने ले जाने के लिए सरकार ने जिला परिवहन कार्यालय से 400 बसों मांगी हैं। लेकिन अब सरकार की परेशानी बढ़ती नजर आ रही है। एससी-एसटी एक्ट और तेल की बढ़ती कीमतों के विरोध में जिला बस ऑनर्स एसोसिएशन समिति ने बस देने से इनकार कर दिया है।

जिला बस ऑनर्स एसोसिएशन समिति के उापध्यक्ष राहुल सिंह ने कहा कि हम सरकार द्वारा लाए गए एससी-एसटी एक्ट में संशोधन का विरोध करते हैं। उन्होंने कहा कि पेट्रोल-डीजल की लगातार कीमतें बढ़ती जा रही हैं। पूर्व में प्रशासन ने ऐसे ही कार्यक्रमों के लिए बसों का अधिग्रहण किया था। लेकिन आजतक उनका भुगतान नहीं किया गया। पूर्व में भी प्रशासन ने करीब 200 से 250 बसों की मांग की थी। तब का भुगतान अभी तक नहीं मिला है। और अब डीजल के दाम पहले से आसमान छू रहे हैं। इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए हमने मुख्यमंत्री के रैली में अपनी बसें न देने का फैसला लिया है।

परिवहन अधिकारी को पत्र लिखकर दी जानकारी

जिला बस ऑनर्स एसोसिएशन समिति ने ये फैसला शुक्रवार को बुलाई आपातकाल बैठक में लिया है। इसके लिए समिति ने जिला परिवहन अधिकारी को लिखाकर बसें नहीं देने की बात कही है। अपने वाहनों को न देने के संस्था के सदस्यों ने प्रमुख कारण बताए, जिनमें से प्रमुख रूप से सरकार का जातिगत राजनीति करना। वहीं दूसरा जबरदस्त बढ़ रही डीजल पेट्रोल की कीमतें और जिले के खस्ताहाल सड़कें।

 


जम्मू-कश्मीर में हालात हुए सामान्य, सभी 10 जिलों में शुरू हुई नेट सेवाएं, प्र

कांग्रेस के कलह में हुई कैलाश की एंट्री, सिंघार को बताया साहसी


 VT PADTAL


 Rewa

रीवा के चोरहटा में बाइक सवार की हत्या, गड़ासे से काट कर उतारा मौत के घाट
Tuesday 17th of September 2019
खड्डा गांव के आदिवासी निवासियों ने कलेक्ट्रेट के सामने दिया धरना, कलेक्टर को संबोधित ज्ञापन संयुक्त कलेक्टर को सौंपा
Tuesday 17th of September 2019
बीएसएनएल के नॅान एग्जक्यूटिव कर्मचारी संगठनों को मान्यता देने डाले गए वोट, 18 सितम्बर को होगी गिनती
Tuesday 17th of September 2019
अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय में आयोजित हुई कुशाभाऊ ठाकरे के स्मृति में व्याख्यानमाला, प्रदेश राज्यपाल लालजी टंडन ने किया संबोधित
Tuesday 17th of September 2019
शासकीय पूर्व माध्यमिक विद्यालय रीठी में सुविधा की कमी
Sunday 15th of September 2019
कानून व्यवस्था सुधारने में जुटा प्रशासन
Sunday 15th of September 2019