VT Update
गोपाल भार्गव बने नेता मप्र.विधानसभा नेता प्रतिपक्ष जेपी सीमेंट ने नहीं चुकाया 5० करोड़ रूपए टैक्स, जुलाई के बाद नहीं जमा किया टैक्स लूट से बचने पहले व्यापारी और फिर बदमाश गाड़ी सहित गिरे नदी में,गुढ़ थाने के बिछिया नदी में हुआ हादसा विधानसभा में हारे उम्मीदवारों को कमलनाथ का सहारा, कमलनाथ ने कहा हताश न हो लोकसभा की तैयारी में लगें मप्र में कांग्रेस सरकार फिर खोलेगी व्यापम की फाइल,गृह मंत्री बाला बच्चन ने कहा घोटाले से जुड़े लोग बक्शे नही जायेंगे
Wednesday 17th of October 2018 | इस पोस्टर से मचा बवाल, सीएम फेस पर हुई तकरार

इस पोस्टर से मचा बवाल, सीएम फेस पर हुई तकरार


विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान होते ही एक बार फिर कांग्रेस में सीएम प्रोजेक्ट करने की चर्चा जोरों पर है. कांग्रेस ने भले ही आने वाले विधानसभा चुनाव में किसी दिग्‍गज नेता को मुख्‍यमंत्री के तौर पर प्रोजेक्‍ट न किया हो, लेकिन समर्थक अपने नेता को पार्टी अध्यक्ष के सामने सीएम प्रोजेक्‍ट करने में जुटे हुए हैं. दरअसल, सोमवार को ग्वालियर में हुए राहुल गांधी के रोड शो में सिंधिया हर तरफ छाये रहे. जगह जगह पोस्टर होर्डिग्स में सिंधिया और राहुल की जोड़ी देखने को मिली. एक तरफ पोस्टरों में सिंधिया को अर्जुन और राहुल को श्रीकृष्ण बताया गया तो वही दूसरे पोस्टर में 'अबकी बार सिंधिया सरकार' का बोलबाला रहा। वहां के कार्यकर्ताओं ने दीवारों और पोस्टरों पर स्लोगन लिख एक नई बहस छेड़ दी है.

इस पोस्टर के बाद जहां सियासत गर्मा गई है वही सिंधिया को सीएम कैंडिडेट घोषित करने की चर्चा को भी हवा मिल गई है. चुनाव से पहले चारों तरफ सिंधिया की गूंज सुनाई देने लगी है, इशारों ही इशारों में समर्थक फिर सिंधिया को सीएम प्रोजेक्ट करने के संकेत दे रहे है. मीडिया में भी इसकी सुर्खियां बन रही हैं और प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ समेत कांग्रेस के बड़े नेता यह कहते हुए पल्ला झाड़ रहे हैं कि इसका फैसला तो पार्टी हाईकमान को करना है.

आपको बता दे कि यह पहला मौका नही है कि इससे पहले भी रैलियों में जुटने वाली भीड़ भी प्रदेश में सिंधिया को बतौर सीएम प्रोजेक्ट किए जाने की मांग करती आई है. वही सोशल मीडिया पर भी सिंधिया के नाम के लिए कैंपन चलाया जा रहा है. समर्थकों ने सिंधिया को अगले मुख्‍यमंत्री के तौर पर प्रोजेक्‍ट करते हुए फेसबुक पर भी आठ पेज बना ऱखे हैं. हालांकि कांग्रेस में चुनाव से पहले किसी नेता को मुख्‍यमंत्री प्रोजेक्‍ट करने की परंपरा नहीं है. जीतने पर विधायक दल ही नेता का चुनाव करता है. लेकिन ऐसा पहली बार हो रहा है जब किसी नेता विशेष के समर्थकों ने इस तरह की मुहिम छेड़ी है.


पूर्व सीएम शिव ने कहा- मध्यप्रदेश देश से बाहर नहीं, देश के दिल में रहकर करूंगा

बुआ- भतीज के गठबंधन पर राहुल का पलटवार कहा- अंडरएसटिमेट किया गया


 VT PADTAL