VT Update
ओंकारेश्वर बांध विस्थापितों को मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत, कोर्ट ने सरकार को दिया आदेश विस्थापितों को उपलब्ध कराएं बेहतर भूमि। प्रदेश के भिंड में चार लोगों की हत्या करने वाले आरोपी को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा। शहडोल उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रही हिमाद्री सिंह ने आज कांग्रेस का हाथ छोड़ थामा भाजपा का दामन कमलनाथ सरकार को जबलपुर हाईकोर्ट से तगड़ा झटका, ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण देने पर लगाई रोक। टिकट को लेकर भाजपा में मचा घमासान, दावेदारों ने प्रदेश कार्यालय के सामने की नारेबाजी।
Thursday 1st of November 2018 | विद्यावती को मैदान में उतार सकती है कांग्रेस पार्टी

विंध्य से बीएसपी को विद्यावती के रूप में लगा बड़ा झटका, कांग्रेस की टिकट पर लड सकती है चुनाव


 

रीवा । बसपा की कद्दावर नेता पूर्व विधानसभा प्रत्याशी विद्यावती पटेल ने बुधवार को कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की जिसके बाद कांग्रेस की टिकट से देवतालाब में विद्यावती पटेल के नाम की चर्चा भी तेजी के साथ शुरू हो गयी है|

दरअसल बुधवार को दिल्ली में रीवा जिले से बसपा की कद्दावर नेता विद्यावती पटेल ने बसपा छोड़कर मध्यप्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ, नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के हांथों कांग्रेस की सदस्यता ली| इसके पहले विद्यावती बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ चुकी हैं. तथा विधायक भी बनी है. लेकिन अब विन्ध्य में रीवा जिला ब्राम्हण बाहुल्य क्षेत्र है| ऐसे में ब्राम्हण प्रत्यासी के विकल्प में कांग्रेस द्वारा किसी और समाज के प्रत्यासी को चुनावी मैदान में ऊतारने से ब्राम्हण वोटों का ध्रुवीकरण हो सकता है| पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्रीनिवास तिवारी के निधन के बाद ब्रम्हाण नेताओं की पुंछ-परख कम हुई है|

विन्ध्य के राजनीति में और खासकर रीवा जिले की राजनीति में ब्राम्हण समुदाय का खासा बर्चस्व रहा है| ऐसे में राजनैतिक दलों को टिकिट का निर्धारण करते समय ब्रम्हण प्रत्याशी को दरकिनार नहीं किया जा सकता.लेकिन इस बीच बहुजन समाज पार्टी बीजेपी और कांग्रेस की रणनीति पर नजर बनाये हुए है| पहले बहुजन से क्षत्रिय समाज के 2 प्रत्यासी मैदान में उतार चुकी है. रीवा विधानसभा में बसपा को एक मजबूत ब्रम्हाण प्रत्याशी की तलाश है ऐसे में बहुजन समाज पार्टी कांग्रेस द्वारा छोड़े ब्राम्हणों का लाभ उठाने की कोशिश करेगी और साथ हो और ऐसी परिस्थिति में बहुजन 1,2 सीटों पर कांग्रेस प्रत्याशी घोषित होने के बाद प्रत्यासी बदल भी सकती है|

 

 


ओड़िशा के कंधमाल में हुआ हमला, नक्सलियों ने संयुक्ता दिग्गल की सिर में गोली म

सुमित्रा महाजन के बाद अब कैलाश विजयवर्गी ने किया चुनाव लड़ने से किया इनकार


 VT PADTAL