VT Update
इंदौर में पकड़ाई जिस्म के जादूगरनियों के तार रीवा से भी जुड़े, नगर निगम में तैनात रहे ईंजी हरभजन सिंह को भी किया था ब्लैकमेल, जांच में अहम खुलासा, 20 लोगों से ऐंठ चुकी है 15 करोड़, बरामद की गई 90 वीडियो। अमेरिका के ह्यूस्टन में पीएम मोदी के कार्यक्रम से 24 घंटे पहले बरसा 10 इंच पानी, लगाई गई इमरजेंसी, स्कूल कॅालेजों में की गई छुट्टी, जारी किया गया अलर्ट। वायुसेना को मिला पहला लड़ाकू विमान रफाल, 8 अक्टूबर को सेना में किया जाएगा शामिल, फ्रांस जाएंगे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, 60 हजार करोड़ में दोनों देशों के बीच हुआ सौदा। बीजेपी के धरना प्रदर्शन पर कांग्रेस का वार, कहा- शिवराज को किसानों से हमदर्दी है तो दिल्ली में केंद्र सरकार के खिलाफ करें प्रदर्शन, दिलाए राहत पैकेज। प्रदेश की कमलनाथ सरकार के खिलाफ विपक्ष का हल्ला बोल, बीजेपी ने प्रदेश के सभी जिलों व तहसीलों में किया प्रदर्शन, की किसानों को राहत दिए जाने की मांग, सरकार पर लगाया वादाखिलाफी का आरोप।
Wednesday 14th of November 2018 | गुजरात दंगा:19 को सुनवाई

गुजरात दंगा को लेकर पीएम मोदी के खिलाफ 19 नवंबर को होगी सुनवाई :सुप्रीमकोर्ट


नई दिल्‍ली : सुप्रीम कोर्ट गुजरात दंगों की जांच में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को क्‍लीनचिट मिलने के खिलाफ दायर याचिका पर सुनवाई को राजी हो गया है. सुप्रीम कोर्ट में यह याचिका 2002 में गुजरात दंगों में मारे गए कांग्रेस के सांसद एहसान जाफरी की पत्‍नी जाकिया जाफरी ने दायर की है. सुप्रीम कोर्ट इस मामले पर 19 नवंबर को सुनवाई करेगा. बता दें कि गुजरात दंगों के मामले की जांच कर रही एसआईटी ने पीएम मोदी को क्‍लीनचिट दी थी.

बता दें कि गुजरात हाईकोर्ट ने 2002 के दंगों के मामले में राज्य के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य को निचली अदालत द्वारा क्लीन चिट दिए जाने को चुनौती देने वाली दिवंगत कांग्रेस नेता एहसान जाफरी की पत्नी जाकिया जाफरी की याचिका को 2017 में खारिज कर दिया था.

निचली अदालत ने 2013 में इस केस में गुजरात के तत्‍कालीन मुख्‍यमंत्री नरेंद्र मोदी समेत 56 लोगों को क्लीन चिट दे दी थी. जाकिया जाफरी ने निचली अदालत के फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती दी थी. याचिका में जाकिया ने आरोप लगाया था कि इन दंगों के पीछे बड़ी आपराधिक साजिश रची गई थी.

जाकिया कांग्रेस के पूर्व सांसद एहसान जाफरी की पत्नी हैं. 2002 के गुजरात दंगों के दौरान एहसान की मौत हो गई थी. एसआईटी ने जाकिया की शिकायत पर अदालत को बंद लिफाफे में अंतिम रिपोर्ट सौंपी थी. जाकिया की शिकायत में 2002 के दंगों में गुजरात के तत्‍कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी, अन्य शीर्ष नेताओं, पुलिस अधिकारियों और नौकरशाहों के संलिप्त होने का आरोप लगाया गया था. जाकिया के वकीलों ने दलील दी थी कि रिपोर्ट को खोलने के अनुरोध का विरोध करने का एसआईटी को कोई अधिकार नहीं है क्योंकि अदालत को सौंपे जाने के बाद यह रिपोर्ट एक सरकारी दस्तावेज बन गया है.


राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत सभी दिग्गजों ने जताया शोक, दी श्रद्धांजलि

छात्र संघ अध्यक्ष से लेकर केंद्रीय मंत्री बनने तक ऐसा रहा जेटली का सफर


 VT PADTAL