VT Update
ओंकारेश्वर बांध विस्थापितों को मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत, कोर्ट ने सरकार को दिया आदेश विस्थापितों को उपलब्ध कराएं बेहतर भूमि। प्रदेश के भिंड में चार लोगों की हत्या करने वाले आरोपी को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा। शहडोल उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रही हिमाद्री सिंह ने आज कांग्रेस का हाथ छोड़ थामा भाजपा का दामन कमलनाथ सरकार को जबलपुर हाईकोर्ट से तगड़ा झटका, ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण देने पर लगाई रोक। टिकट को लेकर भाजपा में मचा घमासान, दावेदारों ने प्रदेश कार्यालय के सामने की नारेबाजी।
Tuesday 25th of December 2018 | अफगान की राजधानी काबूल में आंतकियों का तांडव

आत्मधाती हमले में अब तक 43 की मौत, आधा दर्जन से अधिक घायल


अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में सोमवार को हुए आत्मघाती हमले में मृतकों की संख्या 43 हो गई है। हमले में सरकारी इमारतों को निशाना बनाया गया है। काबुल में एक सरकारी परिसर में आत्मघाती हमलावर और राइफलों तथा विस्फोटकों से लैस बंदूकधारियों मौत का तांडव मचा दिया। जिसमें 43 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी। वहीं, आधा दर्जन से अधिक लोग घायल भी हुए है। हमले के 24 घंटे बीत जाने के बाद भी किसी आतंकवादी समूह ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। बताया जा रहा कि अफगानिस्तान की राजधानी में इस साल का सबसे घातक हमला है। स्वास्थय मंत्रालय के प्रवक्ता वहीद मजरोह ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया आत्मघातियों ने लोक निर्माण मंत्रालय तथा अन्य कार्यालय स्थित सरकारी बंगले का निशाना बनाया है। अधिकारी ने हमले के बारे में बताया कि बहुमंजिला इमारत के सामने एक आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटकों से लदी अपनी कार में धमाका कर उड़ा दिया। इसके कुछ ही मिनट बाद तीन बंदूकधारी इमारत में घुसे और लोगों को मारना शुरू कर दिया। उन्होंने बताया कि सैकड़ों लोग इमारत के अंदर थे। उन्होंने बताया कि सुरक्षा बलों को घटना क्षेत्र में तैनात किया गया था जिनकी हमलावरों के साथ भीषण मुठभेड़ हुई। अधिकारियों ने बताया कि एक आत्मघाती हमलावर सहित चार आतंकवादियों को मार गिराया गया और उनके चंगुल से 350 से अधिक लोगों को सुरक्षित बचाया गया है। अफगान में पिछले माह हुए एक आत्मघाती हमले के बाद यह भीषण हमला है। उस हमले में एक आत्मघाती हमलावर ने धार्मिक सभा में खुद को उड़ा लिया था, जिसमें 55 लोगों की मौत हो गई थी।


भूकंप के झटकों से दहला इंडोनेशिया, अब तक 12 सौ से अधिक की मौत

अब सरकार ने माना 39 भारतीय मारे गए, परिजन बोले इतने दिन अधेरे में क्यों रखा गया


 VT PADTAL