VT Update
विंध्य के सबसे बड़े अस्पताल संजय गांधी की सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल, अस्पताल के पार्किंग से चोरी हुई बोलेरो वाहन रीवा मेडिकल कॉलेज में लगेगा रूफटाफ का प्रदेश का सबसे बड़ा सोलर प्रोजेक्ट मतदाता जागरूकता के लिए रवाना हुई बुलेट रैली, कलेक्टर प्रीति मैथिल ने दिखाई हरी झंडी मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में घटिया पुल निर्माण पर गिरी गाज, पीडब्लयूडी के चार अफसर सस्पेंड रीवा सहित प्रदेश भर में हर्षोल्लास के साथ मनायी गई कृष्ण जन्माष्टमी, शिल्पी प्लाजा में हुआ मटकी फोड़ने का भव्य आयोजन
Sunday 8th of October 2017 | कुंदन शाह

नहीं रहे निर्देशक कुंदन शाह । 



मुंबई। एक डायरेक्टर, राइटर और क्रियेटिव इंसान कुंदन शाह का 69 वर्ष की उम्र में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। शाह ने भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान पूणे (FTII) में फिल्म निर्देशन की पढ़ाई पढ़ी थी।  शाह ने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि उन्होने फिल्म बनाने के लिए 4 लाख रुपए लोन के लिए अपलाई किया था, लकिन अंत में उनका बजट बड़ कर 7 लाख 25 हजार तक पहुंच गया। क्योंकि राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम NFDC बतौर निर्माता फिल्म बनाने के लिए राजी हो गया था।  

फिल्मकार महेश भट्ट शाह के बारे में रहते है कि शाह एक बहादुर व्यक्तित्व के आदमी थे, वो हमेसा समया आने पर अपने काम अपनी सोचने समझने की छमता से अपनी शहनशीलता और बहादुरी का परिचय दिया करते थे। महेश भट्ट कहते है कि, जिस व्यक्ति ने 'जाने भी दो यारो' जैसी फल्मो के साथ वैकल्पिक सिनेमा में उत्साह जोड़ दिया वो इंसान कुछ भी कर सकने की काबिलियत रखता है। अभिनेता,निर्देशक सतीश कौशिक कहते है कि शाह ने 'कॉमेडी को एक नया चेहरा दिया है',  शाह के करीबी दोस्त सुधीर मिश्रा कहते है कि शाह बुद्धीमान, दीवाने, शैक्षिक,कल्पनाशील थे। 'कभी हां कभी ना' के वर्षो बाद शाह ने एक बार फिर से वापसी की । जिसके बाद उन्होने 'हम तो मोहब्बत करेगा',  'दिल  है तुम्हार' जैसी फिल्में बनाई। इसके अलावा एक निर्देशक के रुप में उनकी फिल्म 'पी से पीएम तक'  व्यवसायिक सफलता हासिल करने में असफल रही। 


महाक्षय और योगिता बाली को मिली अग्रिम जमानत , भोजपुरी एक्ट्रेस ने लगाया था र

‘गोल्ड’ का पहला गाना हुआ रिलीज़, ट्विटर पर भी हो रहा काफी शेयर  


 VT PADTAL