VT Update
ओंकारेश्वर बांध विस्थापितों को मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत, कोर्ट ने सरकार को दिया आदेश विस्थापितों को उपलब्ध कराएं बेहतर भूमि। प्रदेश के भिंड में चार लोगों की हत्या करने वाले आरोपी को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा। शहडोल उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रही हिमाद्री सिंह ने आज कांग्रेस का हाथ छोड़ थामा भाजपा का दामन कमलनाथ सरकार को जबलपुर हाईकोर्ट से तगड़ा झटका, ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण देने पर लगाई रोक। टिकट को लेकर भाजपा में मचा घमासान, दावेदारों ने प्रदेश कार्यालय के सामने की नारेबाजी।
Monday 31st of December 2018 | चोरी की घटना से सदमे में डूबे परिवार ने उठाया हैरानी भरा कदम

एक ही परिवार के पांच सदस्यों ने खाया जहर, तीन की मौत, दो की हालत गंभीर


छत्तीसगढ़ राज्य के बिलासपुर में एक ही परिवार के पांच सदस्यों ने जहर खा कर जान देने का प्रयास किया है। जिसमें से तीन लोगों की मौत हो गई है। जबकि शेष दो लोग जिंदगी और मौत से जंग लड़ रहे है। उन्हें स्थानीय अस्पताल उपचार के भर्ती कराया गया है। घटना बिलासपुर जिले के रतनपुर के नेवसा गांव की है। बताया जा रहा कि पीड़ित परिवार के घर में शनिवार को चोरों ने धावा बोल दिया था और घर में रखा जेवरात और नकदी चोरी हो गया था। जिससे आहत पीड़ित परिवार ने मामले की शिकायत मुकामी थाने में दर्ज कराने के बजाए आत्मघाती कदम उठा लिया। घटना के दौरान घर का मुखिया सत्तू साहू गांव के करीब कोल डिपो में नौकरी पर गया हुआ था। बताया जा रहा कि सत्तू साहू काम से घर लौटा तो उसने घर का दरवाजा बंद पाया। कड़ी मशक्कत के बाद जब उसने दरवाजा खोला तो घर की स्थिति देख चैंक गया।  जिसमें बेडरूम में उसकी सास और दोनों बेटियां बिस्तर पर मृत पड़ी थीं, जबकि पत्नी और बेटा तड़प रहे थे। उनके मुंह से झाग निकल रहा था। जिसके बाद सत्तू साहू ने फौरन पड़ोसियों को जगा कर मदद की गुहार लगाई। साथ ही किसी ने मामले की सूचना पुलिस को दे दी। जिन्हें आनन फानन में स्थानीय अस्पताल में उपचार के दाखिल कराया गया। डॉक्टरों ने 60 साल के गुलाबबाई साहू, 13 साल की निकिता साहू और 8 वर्षीय नीलम साहू को मृत घोषित कर दिया। जबकि 35 वर्षीय लल्ली और 18 वर्षीय विकास की हालत गंभीर बताई जा रही है। रतनपुर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर आरआर राठिया ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पता चलेगा कि पीड़ितों ने कौन सा जहर खाया था। उन्होंने बताया कि 22 दिसंबर को पीड़ित परिवार रायपुर में किसी रिश्तेदार के यहां कार्यक्रम में शामिल होने गया था। उनके मुताबिक इस तिथि या उसके बाद चोरों ने उनके घर का ताला तोड़कर 50 हजार नकद और सोने चांदी के जेवर चुरा लिए थे। 28 दिसंबर को जब परिवार वापस लौटा तो उन्हें घर में अलमारी और अन्य कमरों के ताले टूटे होने की जानकारी लगी। उन्होंने बताया कि पीड़ित परिवार ने चोरी की शिकायत थाने में दर्ज नहीं कराई थी और यह पूरा परिवार सदमे में डूबा रहा। पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।


अपहरण की घटना से फिर दहला सतना, मासूम का अपहरण के बाद हत्या कर बोरे में भर कर न

​​​​​​​लगातार बढ़ रही अपहरण की घटनाओं के बाद एसपी को हटाने की मांग हुई तेज


 VT PADTAL