VT Update
पाठ्य पुस्तक निगम के स्टोर रूम में पुलिस का छापा बाजार में बिकने जा रही लाखों की किताबें हुई जप्त निशुल्क वितरण के लिए भेजी गई पुस्तके बेची जा रही थी बाजार में प्रदेश में शराब की करीब 500 दुकानें खुलने का अनुमान 2 महीने के लिए भी उस दुकानें खोल सकते हैं शराब ठेकेदार जिला कलेक्टर देंगे दुकान खोलने की अनुमति एक्शन मोड में जेपी नड्डा भाजपा अध्यक्ष बनने के बाद महासचिव सनग्ली पहली बैठक नागरिकता कानून के समर्थन में पार्टी की ओर से चलाए जा रहे कैंपेन की की समीक्षा देवास जिला योजना समिति की बैठक में मंत्री जीतू पटवारी और सांसद महेंद्र सिंह सोलंकी के बीच जमकर हुआ विवाद, प्रभारी मंत्री ने कहा-बैठक से बाहर कर दूंगा तो सांसद बोले अगली बार मंत्री नहीं बन पाओगे जोमैटो फूड डिलीवरी ने अमेरिका कंपनी उबर ईट्स के भारतीय कारोबार को खरीदा डील के तहत उबर को जोमैटो के 9. 99% मिलेंगे शेयर
Thursday 3rd of January 2019 | मीसाबंदियों का पेंशन बंद किए जाने के बाद सियासत तेज

शरद यादव बोले- मीसा बंदियों का पेंशन न हो बंद, इसे पारदर्शी बनाए सरकार


मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इमरजेंसी के दौरान मीसा कानून के तहत जेल में बंद आंदोलनकारियों को बीजेपी सरकार द्वारा दी जा रही पेंशन को रोकने के मामले में बीजेपी के बाद अब कांग्रेस के सहयोगी शरद यादव ने भी विरोध जताया है। शरद यादव ने कहा है कि मीसा पेंशन बंद नहीं किया जाना चाहिए बल्कि सरकार को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि सही व्यक्तियों तक इसका लाभ पहुंचे। लोकतांत्रिक जनता दल के नेता शरद यादव ने कहा कि कमलनाथ सरकार को पूर्व की बीजेपी सरकार द्वारा दी जा रही मीसा पेंशन बंद नहीं करनी चाहिए। लेकिन सरकार को यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि इसका लाभ सही लोगों तक पहुंचे। शरद यादव ने कहा कि सरकार द्वारा लाभार्थियों की छानबीन करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि वे स्वयं इस दौरान 4 साल जेल में बंद रहे, लेकिन कभी भी पेंशन का दावा नहीं किया। मालूम हो कि  प्रदेश सरकार के फैसले के बाद सियासत गर्म हो गई है। वहीं, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट करते हुए लिखा, इंदिरा गांधी के तीसरे बेटे ने उन लोगों की पेंशन बंद कर दी जिन्होंने आपातकाल के दौरान भारत के सबसे काले दिनों में लोकतांत्रिक मूल्यों की लड़ाई लड़ी थी। जबकि पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष व सांसद राकेश सिंह ने ट्वीट में लिखा कि आपातकाल के दौरान लोकतंत्र की रक्षा हेतु तत्कालीन अत्याचारी शासन के विरुद्ध आवाज उठाने वाले लोकतंत्र सेनानियों को मिलने वाली पेंशन पर रोक लगाकर मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार लोकतंत्र का अपमान कर रही है। इन सब के इतर कमलनाथ सरकार द्वारा मीसा बंदियों की पेंशन अस्थाई रूप से रोका गया है।


जियो की नई सर्विस, फ्री वाइस- विडियो काल की सेवा शुरू

निर्भया दोषी विनय ने दायर की क्यूरेटिव पिटीशन


 VT PADTAL