VT Update
इनामी डकैत बबुली कोल व लवलेस कोल के खात्मे के बाद साथियों में गैंग का सरदार बनने की लगी होड़, गैंग के अन्य साथी सदस्यों की तलाश में जुटी है पुलिस, डकैतों की तलाशी में आगे आई यूपी पुलिस। 94 वें जयंती पर याद किए गए विंध्य के सफेद शेर पूर्व विधानसभा अध्यक्ष स्वर्गीय श्रीयुत श्रीनिवास तिवारी, कृष्णा राजकपूर अॅाडिटोरियम में आयोजित किया गया विचारगोष्ठी कार्यक्रम। संत समागम में सीएम कमलनाथ का ऐलान, संतों की कुटिया, आश्रम, मंदिर और गौ शाला को पट्टा देने पर किया जाएगा विचार, बोले- धर्म के नाम पर हुए घोटालों की होगी जांच। मध्यप्रदेश में बाढ़ की त्रासदी से 50 हजार से अधिक लोग प्रभावित, अभी भी राहत शिविरों में रहने का मजबूर, सीएम नाथ बोले- बीजेपी राजनीति करना छोड़, केंद्र से मदद दिलाने में करे सहयोग। मध्यप्रदेश में बारिश की आफत, मंदसौर और नीमच में तबाही के बाद चंबल में बाढ़ का कहर, 150 से ज्यादा गांव घिरे, डेढ़ हजार से अधिक लोगों को सेना ने सुरक्षित निकाला। मध्यप्रदेश में बारिश की आफत, मंदसौर और नीमच में तबाही के बाद चंबल में बाढ़ का कहर, 150 से ज्यादा गांव घिरे, डेढ़ हजार से अधिक लोगों को सेना ने सुरक्षित निकाला।
Thursday 3rd of January 2019 | पूंछ जिले के एलओसी पर हुआ हिमस्खलन

हिमस्खलन की चपेट में आने से एक जवान शहीद


जम्मू कश्मीर में हिमस्खलन की घटना सामने आई है। जिसमें एक जवान के शहीद होने तथा दो अन्य सैनिकों के घायल होने की खबर है। कड़ाके की ठंड ने पूरे उत्तर.भारत को अपने आगोश में ले लिया है। ठंड के कारण मैदानी इलाके कोहरे की चपेट में है तो पहाड़ी क्षेत्रों पर भारी बर्फबारी जारी है। जिससे आम लोगों की मुश्किलें बढ़ा गई हैं। इन सब के इतर सबसे ज्यादा मुश्किले सीमा पर तैनात सैनिकों के सामने होती है। जो देश की सुरक्षा के लिए भारी वर्फबारी में भी तैनात रहते है। बताया जा रहा कि हिमस्खलन की घटना पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा के निकट सब्जियान क्षेत्र में हुआ है। इस दौरान हिमस्खलन की चपेट में 40 राजस्थान रायफल्स की एक सुरक्षा चौकी भी आ गई है।घटना में शहीद जवान की पहचान लांस नायक सपन मेहरा के रूप में हुई है। सपन मेहरा हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा के रहने वाले बताए जा रहे है। वहीं, वहां मौजूद पंजाब के एक अन्यं सिपाही हरप्रीत सिंह घायल हो गए। हरप्रीत सिंह को पास के अस्प ताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया है।

पिछले साल 25 जवान हुए थे शहीद : कश्मीर में हिमस्खलन की घटना हमेशा घटित होती रहती है। जिसके चपेट में आने से भारतीय जवान शहीद हो जाते हैं। विगत साल दिसंबर और जनवरी के महीने में हिमस्खलन की घटना में 25 जवान शहीद हुए थे।


दिग्गी के भाई लक्ष्मण ने कांग्रेस दिग्गजों को बताया नकारा, चिदंबरम के वकील औ

आज जन्मेंगे यशोदा के लाल, घर-घर बजेगी बधैया


 VT PADTAL