VT Update
ओंकारेश्वर बांध विस्थापितों को मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत, कोर्ट ने सरकार को दिया आदेश विस्थापितों को उपलब्ध कराएं बेहतर भूमि। प्रदेश के भिंड में चार लोगों की हत्या करने वाले आरोपी को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा। शहडोल उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रही हिमाद्री सिंह ने आज कांग्रेस का हाथ छोड़ थामा भाजपा का दामन कमलनाथ सरकार को जबलपुर हाईकोर्ट से तगड़ा झटका, ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण देने पर लगाई रोक। टिकट को लेकर भाजपा में मचा घमासान, दावेदारों ने प्रदेश कार्यालय के सामने की नारेबाजी।
Wednesday 9th of January 2019 | सीधी कलेक्टर ने जिले के 18 स्कूलों का किया औचक निरीक्षण

ड्यूटी से नदारद मिले शिक्षक, कलेक्टर ने 18 शिक्षकों को किया निलंबित


सीधी कलेक्टर का पदभार संभालते ही अभिषेक सिंह ने सख्त तेवर दिखाया है। पदभार संभालने के बाद से कलेक्टर अभिषेक सिंह लगातार जिले में निरीक्षण कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई कर रहे है। इसी क्रम में कलेक्टर मंगलवार को जिले के 18 स्कूलों में पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान स्कूल से शिक्षक नदारद मिले। जिस पर उन्होंने कार्रवाई करते हुए 16 अध्यापक, एक प्रभारी प्राचार्य व एक छात्रावास अधीक्षक को निलंबित करने का आदेश दे दिया। सिंह ने कहा कि मेरी प्राथमिकता है कि शिक्षक स्कूल आएं और बच्चों को पढ़ाएं। शिक्षा में सुधार ही मेरा पहला लक्ष्य है। आपको बता दें कि कलेक्टर ने दोषी मिलने वाले 36 शिक्षकों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की है। जबकी उन्हें जिले का कार्यभार संभाले 17  दिन हुए है। कलेक्अर ने निरीक्षण के दौरान विद्यालय के छात्रों से बात कर स्थितियों को जाना। साथ ही ड्यूटी से नदारद शिक्षकों के  बारे में छात्रों से जानकारी ली। जिस पर छात्रों ने कहा कि अध्यापक कभी भी पढ़ाने नहीं आता। शिक्षकों के रवैये से नाराज कलेक्टर ने निलंबित करने का आदेश दिया है। इसके साथ ही कलेक्टर ने निरीक्षण के दौरान तकरीबन 15 मिनट तक शिक्षकों के आने का इंतजार किया बावजूद सके शिक्षक नहीं पहुंचे। जिस पर कलेक्टर ने ड्यूटी पर लापरवाही बरतने के आरोप में शिक्षकों को निलंबित किया। कलेक्टर के कड़े तेवर देखकर जिले भर में हड़कम्प मचा हुआ है।


अचानक हुई बारिश ने बढ़ाई किसानों की मुसीबत, उमरिया में जमकर गिरे ओले

वाहन की ठोकर से दो लोगों की हालत गंभीर, उपचार के लिए शहडोल रवाना


 VT PADTAL