VT Update
गोपाल भार्गव बने नेता मप्र.विधानसभा नेता प्रतिपक्ष जेपी सीमेंट ने नहीं चुकाया 5० करोड़ रूपए टैक्स, जुलाई के बाद नहीं जमा किया टैक्स लूट से बचने पहले व्यापारी और फिर बदमाश गाड़ी सहित गिरे नदी में,गुढ़ थाने के बिछिया नदी में हुआ हादसा विधानसभा में हारे उम्मीदवारों को कमलनाथ का सहारा, कमलनाथ ने कहा हताश न हो लोकसभा की तैयारी में लगें मप्र में कांग्रेस सरकार फिर खोलेगी व्यापम की फाइल,गृह मंत्री बाला बच्चन ने कहा घोटाले से जुड़े लोग बक्शे नही जायेंगे
Wednesday 9th of January 2019 | मनपसंद बंगला आवंटन को लेकर भड़की बसपा विधायक

बंगले के लिए विधायक की दो टूक- हमें ईसे कोनऊ मतलब नइया हमें तो गोपाल भार्गव वारो ही बंगला चाने


मध्यप्रदेश में विधानसभा सचिवालय द्वारा सभी नवनिर्वाचित मंत्रियों व विधायकों को बंगले आवंटित कर दिए गए है। प्रदेश में अब तक कई पूर्व मंत्रियों और विधायकों ने बंगले खाली नहीं किए है। जिससे वर्तमान मंत्री विधायक को परेशान होना पड़ रहा है। इसी बीच बीते मंगलवार को दमोह के पथरिया से बसपा विधायक रामबाई भाजपा के पूर्व मंत्री और वर्तमान नेता प्रतिपक्ष चुने गए गोपाल भार्गव के बंगले को आवंटित करने की मांग पर अड़ हुई है। उन्होंने नवनिर्वाचित स्पीकर एनपी प्रजापति से बुंदेली भाषा में दो टूक में कहा कि हमें ईसे कोनऊ मतलब नइया हमें तो गोपाल भार्गव वारो ही बंगला चाने। उनके मांग जिद पर स्पीकर ने समझाइश दी जिसके बाद वो मान गई। आपको बता दें कि मंत्री पद न मिलने से कांग्रेस से नाराज चल रही दमोह के पथरिया से बसपा विधायक रामबाई ने मंगलवार को स्पीकर को लिस्ट देते हुए कहा था कि उन्हें इसमें से एक बंगला चाहिए। स्पीकर ने लिस्ट हाथ में लेते हुए कहा पहले नंबर वाला बंगला पूर्व मंत्री और भाजपा विधायक गोपाल भार्गव का है, यह नहीं मिलेगा बाकी इनमें से कोई भी ययनित कर लीजिए। जिस पर रामबाई नाराज हो गई और उन्होंने सवाल किया कि क्यों नहीं मिलेगा, हमें तो यही बंगला चाहिए। स्पीकर ने उन्हें समझाया गोपाल भार्गव अब नेता प्रतिपक्ष है इसलिए यह बंगला उनके पास रहेगा। इस पर रामबाई बोली हमें यही बंगला चाहिए, बंगले को खाली करवा कर उन्हें आवंटित किया जाए। बंगले को लेकर स्पीकर व विधायक में काफी देर तक बहस चलती रही। हालांकि अध्यक्ष के समझाने के बाद ने रामबाई दूसरा बंगला लेने पर मान गई। विधानसभा अध्यक्ष ने ने विधायक को 74 बंगला में बी.12 की चाभ सौंप दी है।

कांग्रेस को दे चुकी है चेतावनी : आपको बता दें कि सत्र शुरु होने से पहले बसपा विधायक रामबाई ने मंत्री बनाए जाने को लेकर कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 11  जनवरी के बाद मंत्री बनाने का आश्वासन दिया है। यदि इसके बाद भी मंत्री नही बनाया गया तो उन्होंने कहा कि जो विश्वास कर सकता है वो विश्वासघात भी कर सकता है। भाजपा के लोगों ने कई बार संपर्क किया है। भोपाल में भी कई नेताओं ने मुलाकात की है।


पूर्व सीएम शिव ने कहा- मध्यप्रदेश देश से बाहर नहीं, देश के दिल में रहकर करूंगा

बुआ- भतीज के गठबंधन पर राहुल का पलटवार कहा- अंडरएसटिमेट किया गया


 VT PADTAL