VT Update
पहले चरण में 50 फीसदी भी नहीं भर ncte पाठ्यक्रम की सीटें,उच्च शिक्षा विभाग को अन्य चरण से एडमिशन की उम्मीद 9परिवहन विभाग ने रीवा के लिए तैयार किया ऑटो रुट का ब्लू प्रिंट,रूट के हिसाब से होंगे ऑटो के रंग,सड़क सुरक्षा समिति से अनुमति मिलने की दरकार रीवा के जवा में अधिवक्ता ने गोली मारकर की खुदकुशी, पुलिस कर रही मामले की जांच,डिप्रेशन में थे अधिवक्ता प्रदेश भाजपा कार्यालय में भाजपा सदस्यता अभियान को लेकर मैराथन बैठक हुई संपन्न, सदस्यता के साथ बूथ मजबूत करने पर हुआ चिंतन सतना में बड़ा हादसा ट्रक ऑटो में भिड़ंत तीन की मौत 5 घायल,घायलों को अस्पताल में कराया गया भर्ती
Thursday 10th of January 2019 | पुरानी सरकार के यादों को समाप्त करने की तैयारी में नई सरकार

मध्यप्रदेश शिव सरकार की संबल योजना को बदलने के मूड में कमलनाथ सरकार


प्रदेश में सत्ता की बागडोर संभालने के बाद से कमलनाथ सरकार पूर्व सरकार की सभी योजनाओं को लगातार पोस्टमार्टम करने में जुटे हुए है। अब खबर है कि कमलनाथ सरकार शिवराज सरकार की महत्वाकांक्षी योजना संबल योजना का नाम बदलने की तैयारी कर रही है। हालांकि चुनाव के दौरान कांग्रेस पार्टी ने बदलाव का नारा दिया था। चर्चा है कि सरकार उसी नारे को अमलीजामा पहनाने के लिए लगातार बदलाव कर रही है। जिसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सत्ता में आने के तुरंत बाद सरकार ने 14 वर्षीय पूरानी परंपरा प्रत्येक माह के प्रथम दिन आयोजित होने वाले वंदे मातरम गान और आनंद मंत्रालय को अध्यात्म मंत्रालय में बदलने से लगाया जा सकता है। सरकार की इस नीतियों पर विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी ने सवाल खड़ा किया है। इन सब के बाद सत्ताधारी कांग्रेस संबल योजना को बदलने के मूड में नजर आ रही है। जिसको लेकर प्रशासनिक अमले में तैयारियां की जा रही है। सूत्रों के मुताबिक सरकार संबल योजना को नया सवेरा नाम दे सकती है। सूबे के श्रम मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया की मानें तो अब संबल योजना में आधार कार्ड या आयुष्मान कार्ड को शामिल नहीं किया गया था और इसलिए मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि इस योजना में आयुष्मान और आधार को लिंक किया जाए। सिसोदिया ने तंज कसते हुए कहा कि नई सरकार के साथ नया सवेरा हर व्यक्ति के जीवन में सवेरा आना चाहिए। गौरतलब है कि बदलाव के नारे के साथ आई कमलनाथ सरकार एक के बाद एक शिवराज सरकार की योजनाओं में तेजी से बदलाव ला रही है। नई सरकार ने पहले आनंद विभाग का नाम बदल कर दीनदयाल वनांचल योजना और मीसाबंदी पेंशन को बंद कर दिया और वंदे मातरम के सामूहिक गायन का स्वरूप बदला है। सरकार द्वारा संबल योजना के बंद करने सुगबुगाहट के बाद से सरकार के कार्यशैली और नीतियों पर बीजेपी व पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने सवाल उठाया है। साथ ही दोनों दलों में एक बार भी सियासत तेज हो गई है।


कमलनाथ, अशोक चव्हाण और राज बब्बर के बाद अब झारखंड और असम के कांग्रेस अध्यक्ष

कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में खुलासा, दिग्गज और वरिश्ठ नेताओं ने नहीं द


 VT PADTAL


 Rewa

प्रदेश भर में स्कूल चले अभियान का आगाज, संभाग कमिश्नर ने किया पुस्तक वितरण
Monday 24th of June 2019
रीवा में भी प्रदेश पत्रकार संघ के कार्यकारी अध्यक्ष अनिल त्रिपाठी की अगुवाई में संयुक्त आयुक्त राकेश शुक्ला को पत्रकारों ने ज्ञापन सौंपा |
Monday 24th of June 2019
गाँव के बदमाशों द्वारा बीती रात उसी गांव के दुकानदार व दुकानदार की लडकियों को पीट-पीट कर घायल कर दिया गया
Monday 24th of June 2019
मुख्यमंत्री कमल नाथ ने झाबुआ के शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में
Monday 24th of June 2019
एक्सीडेंट से हुई ट्रक ड्राइवर की मौत पर परिजनों ने जताई हत्या की आशंका
Monday 24th of June 2019
रीवा में आयोजित हुआ योग कार्यक्रम, केन्द्रीय जेल में भी आयोजित हुए योग कार्यक्रम  
Saturday 22nd of June 2019