VT Update
गोपाल भार्गव बने नेता मप्र.विधानसभा नेता प्रतिपक्ष जेपी सीमेंट ने नहीं चुकाया 5० करोड़ रूपए टैक्स, जुलाई के बाद नहीं जमा किया टैक्स लूट से बचने पहले व्यापारी और फिर बदमाश गाड़ी सहित गिरे नदी में,गुढ़ थाने के बिछिया नदी में हुआ हादसा विधानसभा में हारे उम्मीदवारों को कमलनाथ का सहारा, कमलनाथ ने कहा हताश न हो लोकसभा की तैयारी में लगें मप्र में कांग्रेस सरकार फिर खोलेगी व्यापम की फाइल,गृह मंत्री बाला बच्चन ने कहा घोटाले से जुड़े लोग बक्शे नही जायेंगे
Friday 11th of January 2019 | नए निदेशक ने पलटा पूर्व निदेशक का आदेश

विभाग की कमान संभालते ही नागेश्वर राव ने पलटा पूर्व निदेशक वर्मा का निर्णय


केंद्रीय जांच एजेंसी में उठापटक का खेल जारी है। सेलेक्ट कमेटी द्धारा आलोक वर्मा को सीबीआई निदेशक पद से हटाए जाने के बाद नागेश्वर राव ने एक बार फिर भारत की सबसे बड़ी जांच एजेंसी की कमान संभाल ली है। विभाग की कमान संभालते ही नागेश्वर राव ने आलोक वर्मा के फैसलों को पलट दिया है। राव ने 10 और 11 जनवरी को आलोक वर्मा के सीबीआई अधिकारियों का ट्रांसफर रद्द करने के फैसले को पलट दिया है। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने पहले आलोक वर्मा को सीबीआई निदेशक के पद पर बहाल कर दिया था। जिसके बाद सेलेक्शन कमेटी ने 24 घंटे के भीतर ही उनको पद से हटा दिया। इस कमेटी में पीएम मोदी, कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और जस्टिस एके सीकरी शामिल थे। आलोक वर्मा के खिलाफ 2.1 से फैसला लिया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एके सीकरी सीवीसी की सिफारिश के अनुसार आलोक वर्मा को हटाने के पक्ष में अड़े थे जबकि विपक्ष नेता मल्लिकार्जुन खड़गे अस्थाना को यथावत रहने देने के समर्थन में थे।  आपको बता दें कि इससे पहले जब सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के बीच टकराव सामने आया था। जिसके बाद 24 अक्टूबर को राव को अंतरिम सीबीआई निदेशक की जिम्मेदारी सौंपी गयी थी। राव ओडिशा कैडर के 1986 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। नागेश्वर राव इससे पहले 5 साल तक सीबीआई में ज्वाइंट डायरेक्टर पद का कामकाज संभाल चुके है। कहा जा रहा कि राव की छवि सख्त अफसर की रही है। उन्हें राष्ट्रपति पुरस्कार, स्पेशल ड्यूटी मेडल, ओडिशा राज्यपाल मेडल सहीत अनेक अवॉर्ड से सम्मानित किया जा चुका है।


खड़गे की पीएम मोदी को चिट्ठी, कहा- सार्वजनिक करें कागजात

निर्दलीय उम्मीदवार ने लिया समर्थन वापस, संकट में कुमारस्वामी सरकार


 VT PADTAL