VT Update
पांचवी और आठवीं के प्रधानाध्यापकों की क्लास लेंगे संभागायुक्त आज और कल होगी समीक्षा RTO की कार्यवाही से अल्ट्राटेक सीमेंट प्रबंधन में मचा हड़कंप, बगैर पंजीयन चल रहे 46 वाहन किए जप्त, 4 करोड़ मिलेगा राजस्व जिले में खुल रही भ्रष्टाचार की पोल, जनपद पंचायत रायपुर के ग्राम पंचायत पड़रिया मेँ कागज और पेंसिल में खर्च कर दिए पौने तीन लाख, पीसीसी सड़क के ऊपर बनाई सड़क फर्जी एजेंसी बनाकर किया भुगतान रीवा में मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने जारी किया नोटिस बॉन्ड की शर्त नहीं मानने वाले 81 डॉक्टरों के रजिस्ट्रेशन होंगे निरस्त, चिकित्सा शिक्षा विभाग ने दिए कार्यवाही के संकेत हथियार माफिया पर कार्रवाई करने के लिए सरकार की मंजूरी का इंतजार, एसटीएफ के टारगेट पर कई जिलों के हथियार माफिया
Sunday 13th of January 2019 | सिडनी में नहीं चला जीत का जादू

रोहित का शतक हुआ बेकार, ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 34 रनों से दी शिकस्त


ऑस्ट्रेलिया के सिडनी ग्राउंड में खेले गए वनडे मैच में मेजबान टीम ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 34 रनों से हरा दिया। जबकि भारतीय टीम की ओर से रोहित शर्मा ने शानदार 133 रनों की शतकीय पारी खेलीं। ऑस्ट्रेलिया के 289 रनों के लक्ष्य के जवाब में भारत 50 ओवर में 9 विकेट खो कर 254 रनों पर ही सिमट गया। जिससे ऑस्ट्रेलिया ने यह मैच 34 रनों से जीत लिया। इसी के साथ ही कंगारू टीम ने 3 मैचों की वनडे सीरीज में 1.0 की बढ़त हासिल कर ली है। मैच में रोहित ने 129 गेंदों की अपनी पारी में 10 चौके और छह छक्के जड़े। हिटमैन ने विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी के साथ चैथे विकेट के लिए 137 रनों की तहत्वपूर्ण साझेदारी की जिस समय भारत टीम चार रन पर तीन विकेट खोकर संकट से जूझ रहा था। हालांकि तमाम प्रयासों के बाद भारतीय टीम सकंट से उबर नहीं सकी और रन गति धीमी होने के कारण मैच में हार का सामना करना पड़ा।  जबकि मेजबान ऑस्ट्रेलिया ने अपने बल्लेबाजों के बेहतर प्रदर्शन के बदौलत व झा, रिचर्डसन की तूफानी गेंदबाजी से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपनी 1000 वीं जीत हासिल की। वनडे मैच में डेब्यू करने वाले जेसन बेहरेनडोर्फ ने 39 जबकि मार्कस स्टोइनिस ने 66 रन देकर दो.दो विकेट झटके। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने पीटर हैंड्सकॉम्ब (73), उस्मान ख्वाजा (59) और शॉन मार्श (54) के अर्धशतक से पांच विकेट पर 288 रन बनाए। हैंड्सकॉम्ब ने 61 गेंदों का सामना करते हुए छह गेंदो को सीमा पार भेज कर चैका लगाया और दो चौके भी जड़े। भारतीय टीम की की ओवर से कुलदीप यादव ने 54 और भुवनेश्वर कुमार ने 66 रन देकर दो विकेट चटकाए। वहीं, रवींद्र जडेजा ने 48 रन देकर एक विकेट अपने नाम किया। जबकि मोहम्मद शमी ने 10 ओवर में 46 रन खर्च किया लेकिन कोई सफलता हाथ नहीं लगी। लक्ष्य का पीछा करने उतरी मेहमान टीम की शुरुआत बेहद खराब रही और उसने चौथे ओवर में चार रन तक ही अपने महत्वपूर्ण तीन विकेट अॅास्ट्रेलियाई गेंदबाजों को दे दिए। बेहरेनडोर्फ ने पहले ओवर की अंतिम गेंद पर शिखर धवन (00) को एलबीडब्ल्यू कर चलता किया। जबकि रिचर्डसन ने अपने दूसरे ओवर में कप्तान विराट कोहली (03) को स्टोइनिस के हाथों कैच करा कर पवैलियन की राह दिखाई। वहीं, टीम के तूफानी बल्लेबाज अंबाति रायडू (00) को भी एलबीडब्ल्यू कर चलता किया। रायडू ने डीआरएस का भी सहारा लिया लेकिन उन्हें पवेलियन लौटना पड़ा। जबकि हिटमैन शतकीय पारी खेलने वाले हिटमैन रोहित शर्मा शुरूआती 17 गेंदों तक खाता नहीं खोल पाए। जिसके बाद 18 वीं गेंद फ्री हिट पर उन्होंने छक्के के साथ खाता खोला। वहीं, धोनी ने एक रन बनाते ही वनडे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भारत के लिए 10000 रन पूरे किए। धोनी ने 173 रन एशिया एकादश की ओर से भी बनाए हैं। भारत ने शुरुआती 10 ओवर में तीन विकेट पर 21 रन बनाए। रोहित की शानदार बल्लेबाजी में साथ देने आए धोनी ने भी नाथन लियोन की गेंद को दर्शकों को बीच पहुंचा कर मैच को रोचक बना दिया। जिसके बाद रोहित ने लियोन पर छक्के के साथ 17वें ओवर में टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचाया। जबकि धोनी ने 21वें ओवर में सिडल पर पारी का पहला चौका जड़ा। धोनी को 25 रन के स्कोर पर जीवनदान मिला। जब स्टोइनिस की गेंद पर सिडल उनका कैच लपकने में नाकामयाब हुए। रोहित ने सिडल पर अपना पहला चौका जड़ा और फिर मैक्सवेल पर चौके के साथ 62 गेंद में अपना अर्धशतक पूरा कर लिया। धोनी ने स्टोइनिस पर चौके के साथ 93 गेंद में अर्धशतक पूरा किया लेकिन इसके बाद बेहरेनडोर्फ की गेंद पर एलबीडब्ल्यू हो गए। रीप्ले में हालांकि दिखा की गेंद लेग साइड के बाहर पिच हुई थी लेकिन भारत के पास डीआरएस नहीं था। धोनी ने अपनी पारी में 96 गेंदों का सामना करते हुए तीन चौके और एक छक्का जड़ा। रोहित 39वें ओवर में सिडल की गेंद पर तीन चौकों के साथ 98 रन के स्कोर पर पहुंच गए। लेकिन दिनेश कार्तिक (12) रिचर्डसन की गेंद को विकेटों पर खेल गए और पवैलियन की ओर लौट गए। रोहित ने रिचर्डसन की गेंद पर दो रन चुरा कर 110 गेंदों में अपना शतक पूरा किया और फिर लियोन की गेंद को हवा में लहराकर दर्शकों के बीच पहुंचाया। जिससे भारतीय टीम का 43 वें ओवर में स्कोर 200 रन के पार पहुंचा। भारत को अंतिम छह ओवर में 76 रन की जरूरत थी। रवींद्र जडेजा (08) ने रिचर्डसन की गेंद पर मार्श को आसान सा कैच थमा दिया। टीम को संकट से उबारने की दिशा में संघर्ष कर रहे रोहित भी स्टोइनिस की गेंद पर डीप मिडविकेट पर मैक्सवेल के हाथों लपके गए। जिससे भारतीय टीम के जीत की उम्मीदों पर पानी फिर गया। जबकि तेज गेंदबाज भुवनेश्वर 29 रन बनाकर नाबाद रहे। वहीं, भारतीय गेंदबाजों ने भी अपना जौहर दिखाया। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला किया लेकिन तीसरे ओवर में ही भुवनेश्वर ने कप्तान एरॉन फिंच (11) को बोल्ड करके अपना 100 वां विकेट हासिल किया। सलामी बल्लेबाज एलेक्स कैरी (24) ने कुछ आकर्षक शॉट खेले, लेकिन 10वें ओवर में कोहली ने जब गेंद कुलदीप यादव को गेंदबाजी की कमान थमाई तो कैरी इस चाइनामैन स्पिनर पर चौका जड़ने के बाद स्लिप में रोहित को कैच दे बैठे।


आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप-2019 में श्रीलंका से टकराएगी अफगानिस्तान की टीम, आज ह

ब्रैंडन मैक्कुलम की ICC वर्ल्ड कप 2019 को लेकर भविष्यवाणी


 VT PADTAL