VT Update
ओंकारेश्वर बांध विस्थापितों को मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत, कोर्ट ने सरकार को दिया आदेश विस्थापितों को उपलब्ध कराएं बेहतर भूमि। प्रदेश के भिंड में चार लोगों की हत्या करने वाले आरोपी को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा। शहडोल उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रही हिमाद्री सिंह ने आज कांग्रेस का हाथ छोड़ थामा भाजपा का दामन कमलनाथ सरकार को जबलपुर हाईकोर्ट से तगड़ा झटका, ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण देने पर लगाई रोक। टिकट को लेकर भाजपा में मचा घमासान, दावेदारों ने प्रदेश कार्यालय के सामने की नारेबाजी।
Monday 14th of January 2019 | वाइस चांसलर का अजीब फरमान

वैलेंटाइन डे के स्थान पर सिस्टर डे मनाएगा पाकिस्तान का यह विश्वविद्यालय


 

पाकिस्तान के एक विश्वविद्यालय में इस्लामी रिवायतों को बढ़ावा देने के लिए 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे के स्थान पर सिस्टर्स डे मनाए जाने का फैसला लिया गया है। इस आयोजन की जानकारी यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर ने दी है। डॉन न्यूज के खबर के मुताबिक फैसलाबाद के कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति जफर इकबाल रंधावा और विश्वविद्यालय प्रशासन में नियम बनाने वालों ने तय किया है कि आयोजन मौके पर छात्राओं को स्कार्फ और कपड़ा तोहफे में दिया जा सकता है।

 

खबर में कहा गया है कि कुलपति का मानना है कि यह पाकिस्तान की तहज़ीब और इस्लाम के मुताबिक है। दुनिया भर में 14 फरवरी को वेलेंटाइन डे के तौर पर मनाया जाता है। इस दिन लोग अभिवादन और तोहफों के साथ अपने प्यार का इज़हार करते हैं। रंधावा ने कहा कि यूनिवर्सिटी में इस्लामी रिवायतों को बढ़ावा देने के लिए 14 फरवरी को बहन दिवस मनाया जाएगा। डॉन न्यूज टीवी से बात करते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें नहीं पता है कि सिस्टर्स डे मनाने का उनका सुझाव काम करेगा या नहीं।

 

 उन्होंने कहा कि हालांकि कुछ मुस्लिमों ने वेलेंटाइन डे को खतरे में बदल दिया है। मेरा मानना है कि अगर खतरा है तो इसे मौके में बदलें। वाइस चांसलर ने दावा किया कि सिस्टर्स डे मनाने से लोगों को यह एहसास होगा कि पाकिस्तान में बहनों को कितना प्यार मिलता है। रंधावा ने कहा कि भाई और बहन के प्यार से बड़ा क्या कोई प्यार है सिस्टर्स डे पति.पत्नी के प्यार से बड़ा दिन है। साल 2017 में इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने आदेश जारी करते हुए देश में वेलेंटाइन डे के जश्न पर बैन लगा दिया था। यहां तक कि मीडिया के भी इससे संबंधित कवरेज की मनाही थी।

 

 


भूकंप के झटकों से दहला इंडोनेशिया, अब तक 12 सौ से अधिक की मौत

अब सरकार ने माना 39 भारतीय मारे गए, परिजन बोले इतने दिन अधेरे में क्यों रखा गया


 VT PADTAL