VT Update
रीवा जिले में डिप्टी कलेक्टर का टोटा गिनती के अधिकारियों में फिर बांटे गए काम, 4 डिप्टी कलेक्टरों पर दोगुना से ज्यादा अनुविभाग का जिम्मा। रीवा वन विभाग के नए डीएफओ चंद्रशेखर सिंह ने संभाला पदभार विपिन पटेल हुए कार्यमुक्त, चार्ज संभालते ही चंद्रशेखर सिंह ने शुरू की विभागीय समीक्षा। मार्तण्ड सिंह जूदेव जू में उमड़ी पर्यटकों की भारी भीड़, 4040 पर्यटक पहुंचे चिड़िया घर, सफेद शेर को देख रोमांचित हुए लोग। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का बयान इतिहास गलत लिखा गया है, सिर्फ नेहरू-गांधी ने नहीं दिलाई आजादी, मीसा बंदियों के सम्मान कार्यक्रम में दिया बयान। नकल करते पकड़े गए mbbs छात्र ने हॉस्टल की छत से कूदकर दी जान, विदिशा के मेडिकल कॉलेज का मामला।
Sunday 20th of January 2019 | 140 करोड़ की लागत से तैयार हुआ फिल्म संग्रहालय

मुंबई में बने पहले सिनेमा संग्रहालय का पीएम मोदी ने किया उद्घाटन, जानिए क्यों है खास ?


 

भारतीय फिल्म जगत के 100 वर्ष पूरे होने से पहले बॉलीवुड ने अपने 100 वर्षो के संघर्ष व् यादो को संजोने के लिए भारत के मुंबई में स्थित ऐतिहासिक  गुलशन महल में  बनाये गए फिल्म संग्रहालय का आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उद्घाटन किया. इस संग्रहालय में भारतीय सिनेमा की तस्वीर पेश की गई है. यह संग्रहालय 140 करोड़ की लागत से बनकर तैयार हुआ है.

इस म्यूजियम में फिल्म निर्माण तकनीक से लेकर भारतीय सिनेमा के 100 साल की यात्रा दिखाई गई है. फिल्मकार श्याम बेनेगल की अध्यक्षता में संग्रहालय सलाहकार समिति बनाई गई थी, जिसके मार्गदर्शन में इस ‘नेशनल म्यूजियम ऑफ़ इंडियन सिनेमा’ को तैयार किया गया.

यह दो इमारतो ‘नवीन संग्रहालय भवन’ और 19वी शताब्दी के ऐतिहासिक महल ‘गुलशन महल’ में स्तिथ है.

इस संग्रहालय में चार प्रदर्शनी हाल मौजूद है. गाँधी और सिनेमा हाल में लगी प्रदर्शनी में खास तौर पर गाँधी जी के जीवन पर आधारित फिल्म मौजूद है.

बाल फिल्म स्टूडियो हाल में आगुंतको, खासकर बच्चो को फिल्म प्रोडक्शन के विज्ञान,प्रौद्योगिकी और कला को जानने का मौका मिलेगा. इस हाल में कैमरा, लाइट, शूटिंग और अभिनय से जुडी जानकारियां उपलब्ध होंगी.

भारतीय सिनेमा नाम के हाल में देशभर के सिनेमा संस्कृति को दिखाया गया है. यहाँ पर भारतीय सिनेमा के 100 वर्ष की यात्रा दिखाई गई है . इसे 9 वर्गों में विभाजित किया गया है, जिनमे सिनेमा की उत्पत्ति, भारत में सिनेमा का आगमन, भारतीय मूक फिल्म, ध्वनि की शुरुआत, स्टूडियो युग, द्वितीय विश्व युद्ध का प्रभाव, रचनात्मक जीवंतता. न्यू वेव और उसके उपरांत तथा क्षेत्रीय सिनेमा शामिल है.   

         


बॉलीवुड की इस मशहूर अभिनेत्री की हालत गंभीर, दो दिन से वेंटिलेटर पर

मेलबर्न में तबू के सर सजा बेस्‍ट एक्ट्रेस का ताज, गली बॉय बनी सर्वश्रेठ फिल्


 VT PADTAL