VT Update
देश के हर घर को बिजली देने की कोशिश हो रही है: राष्ट्रपति कोविंद सरकार ने गरीबों के लिए बैंकिंग सुविधा को आसान किया: राष्ट्रपति कोविंद रामगढ़ उपचुनाव: कांग्रेस की साफिया खान जीतीं J-K:अनंतनाग में पुलिस स्टेशन पर ग्रेनेड से हमला, 3 नागरिक और 1 जवान घायल गोपाल भार्गव बने नेता मप्र.विधानसभा नेता प्रतिपक्ष
Thursday 31st of January 2019 | घोटाले की जांच में ईडी को मिली बड़ी सफलता

अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले के दो और आरोपित बिचैलिए लाए गए भारत, ईडी कर रही पूछताछ


यूपीए सरकार के कार्यकाल में 3600 करोड़ रुपये के अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआइपी हेलीकॉप्टर घोटाले के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल के प्रत्यर्पण के बाद भारत को दो और कामयाबियां मिली हैं। घोटाले के दो और आरोपित राजीव सक्सेना और दीपक तलवार को संयुक्त अरब अमीरात ने भारत के लिए प्रत्यर्पित किया है। भारतीय एजेंसियों ने दुबई के अकाउंटेंट राजीव सक्सेना और दीपक तलवार को भारत प्रत्यर्पित करवाने में सफलता हासिल की है। अधिकारियों ने बुधवार को कहा कि सक्सेना और तलवार को देर शाम दिल्ली लाया गया है। दोनोें को दुबई के अधिकारियों ने बुधवार सुबह पकड़ा था। सक्सेना और तलवार दोनों को फिलहाल ईडी की कस्टडी में रखा गया है। प्रवर्तन निदेशालय की दो अलग.अलग टीमें अलग.अलग स्थानों पर राजीव सक्सेना और दीपक तलवार से पूछताछ कर रही हैं।

     सूत्रों के मुताबिक आइजी रैंक के एक अधिकारी के नेतृत्व में प्रवर्तन निदेशालय का एक दल, विदेश मंत्रालय के वरिष्ठ अफसर और रॉ के अफसरों की एक टीम ने इस काम को अंजाम दिया है। यह जांच एजेंसियां बुधवार को देर रात वीवीआइपी हेलीकॉप्टर घोटाले के आरोपित राजीव सक्सेना और कॉरपोरेट लॉबीस्ट दीपक तलवार को दुबई से भारत लेकर आई हैं। यहां पहुंचते ही इन दोनों को भारतीय जांच एजेंसियों ने गिरफ्तार कर लिया। इन आरोपितों को विमान बुधवार की सुबह दुबई से भारत के लिए रवाना हुआ था। उल्लेखनीय है कि पिछले साल दिसंबर में यूएई ने बिचौलिए ब्रिटिश नागरिक क्रिश्चियन मिशेल को भी भारत प्रत्यर्पित किया था। सूत्रों की माने तो बुधवार देर रात राजीव सक्सेना और मामले में कॉरपोरेट लॉबीस्ट दीपक तलवार को भी भारत लाया गया है। इससे पहले, दुबई में बसे उद्योगपति राजीव सक्सेना की जमानत याचिका के जवाब में ईडी ने पिछले साल दिसंबर में अदालत को बताया था। बार.बार कहे जाने के बाद भी आरोपित जांच में शामिल नहीं हुआ। दुबई से उसके प्रत्यर्पण का अनुरोध किया गया था। पिछले साल, छह अक्टूबर को दिल्ली की एक अदालत ने राजीव सक्सेना के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी किया था।


ममता ने खेला नया सियासी पैतरा, योगी के हैलिकाप्टर को उतरने की नहीं दी अनुमति

“माफ़ करो महराज” वाले जुमले पर गौर ने पार्टी को घेरा


 VT PADTAL