VT Update
रीवा में भी देखि गई हैदराबाद एनकाउंटर की ख़ुशी, जीडीसी की छात्रा ने कहा- आरोपियों को भी जलना था जिंदा रीवा-सतना के जिला अध्यक्षों की सूची में अटका पेंच, भाजपा विधायक और सांसद की नहीं बन पा रही सहमति, कार्यकर्ताओं के साथ आपने वर्चस्व के लिए लड़ रहे नेता पवई विधायक प्रहलाद लोधी केस पर मध्यप्रदेश सरकार को झटका, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की मध्यप्रदेश सरकार की याचिका फरार जीतू सोनी पर एक लाख रुपए का इनाम, सोनी की शिकायत सुनने के लिए बने तीन सेल, पुलिस ने गठित की टीम रेलवे ने 32 अधिकारियों को किया जबरन रिटायर, पीएमओ ने भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारियों के लिए अपनाया सख्त रुख
Saturday 2nd of February 2019 | विदेश भेजने के नाम पर लाइ गयी थी नेपाली लड़कियां

तस्करी कर दिल्ली से विदेश भेजी जा रही 22 नेपाली लड़कियों को दिल्ली महिला आयोग ने बचाया


दिल्ली महिला आयोग ने दिल्ली के भलस्वा के एक घर से 6 नेपाली लड़कियों को बचाया है| लड़कियों को काम दिलवाने के नाम पर नेपाल से तस्करी करके दिल्ली लाया गया था दिल्ली महिला आयोग को एक ईमेल के जरिये इस बात की खबर मिली थी| आयोग की सदस्य किरण नेगी को जानकारी मिलते ही पुलिसकर्मियों के साथ एक टीम को उस जगह पर भेजा, मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने देखा कि 18 से 25 साल उम्र की 6 लड़कियों को एक घर में रखा गया था| लड़कियों ने बताया कि वे जल्द लीना नाम की एजेंट के जरिये नौकरी के लिए विदेश जाने वाली हैं| वे सब कभी भी एजेंट लीना से नहीं मिलीं थी, जबकि हर एक ने लीना को लगभग 1 लाख रुपये का भुगतान किया हुआ था| सबसे कम उम्र की लड़की के पास इम्फाल का टिकट था, जबकि अन्य सभी का कहना था कि उन्हें विदेश में अपने प्लेसमेंट का इंतजार था| उन्होंने कहा कि उस ही दिन सुबह 10-12 लड़कियां काम के नाम पर मौके से ले जाईं गई थीं|

आपको बता दें कि महिला आयोग के बचाव दल को उस घर पर न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में स्थित एक कंसल्टेंसी के कई विजिटिंग कार्ड, पासपोर्ट के प्रिंटआउट, बीयर की बोतलें और इस्तेमाल किए गए कंडोम मिले| दिल्ली महिला आयोग ने मामले में दिल्ली पुलिस के काम करने के तरीके पर गंभीर आपत्ति जताई है| पहले तो पुलिस स्टेशन में लड़कियों के बयान दर्ज करने के दौरान आयोग के परामर्शदाता को मौजूद होने की इजाजत नहीं दी गई इसके बाद जब आयोग की सदस्य वंदना सिंह ने आश्रय गृह में लड़कियों के बयान दर्ज किए तो पुलिस ने यह कहते हुए कि यह बयान नेपाली में थे, डेली डायरी रजिस्टर में यह बयान दर्ज नहीं किया| बयान वास्तव में हिंदी में हैं और लड़कियों द्वारा स्वयं लिखे गए हैं| दिल्ली महिला आयोग की चीफ स्वाति मालीवाल ने एसएचओ पुलिस स्टेशन, सागरपुर को नोटिस जारी किया है और FIR की कॉपी मांगी है| आयोग ने पुलिस के रवैये को नागंवार करार दिया है और इस मामले में पुलिसकर्मियों के उदासीन रवैये पर कारणों की मांग की है|

वहीं, महिला आयोग को आज मणिपुर हेल्पलाइन से फोन भी आया कि नेपाली पुरुषों और महिलाओं के एक समूह ने मणिपुर की सीमा पारकर म्यांमार में प्रवेश कर लिया है और 16 नेपाली महिलाओं के एक अन्य समूह को मणिपुर सीमा पर हिरासत में लिया गया है| यह एक अत्यंत संवेदनशील मुद्दा है क्योंकि मणिपुर हेल्पलाइन से मिली जानकारी से बचाई गई महिलाओं द्वारा प्रदान की गई जानकारी दिल्ली वाले केस से मेल खाती है| जिससे आयोग की आशंकाओं की पुष्टि होती है कि बड़े पैमाने पर अंतर्राष्ट्रीय तस्करी रैकेट दिल्ली में चल रहा है|

 


प्रदेश में एक बार फिर इंसानियत हुई शर्मसार, 5 साल की बच्ची से दुष्कर्म

भेड़ाघाट के भाजयूमो नगर महामंत्री की हत्या, रेत में दबा मिला ऋषभ जैन का शव, शव


 VT PADTAL