VT Update
देश के हर घर को बिजली देने की कोशिश हो रही है: राष्ट्रपति कोविंद सरकार ने गरीबों के लिए बैंकिंग सुविधा को आसान किया: राष्ट्रपति कोविंद रामगढ़ उपचुनाव: कांग्रेस की साफिया खान जीतीं J-K:अनंतनाग में पुलिस स्टेशन पर ग्रेनेड से हमला, 3 नागरिक और 1 जवान घायल गोपाल भार्गव बने नेता मप्र.विधानसभा नेता प्रतिपक्ष
Saturday 2nd of February 2019 | कांग्रेस की सरकार लंगड़ी, कब टपक जाए भरोसा नही : शिवराज

अब शिवराज सिंह ने उठाया कांग्रेस सरकार की स्थिरता पर सवाल !


 

प्रदेश में १५ साल बाद बनी कांग्रेस सरकार सरकार की स्थिरता को बीजेपी लगातार निशाने पर ले रही है, सरकार बनने के साथ ही बीजेपी के नेताओं के द्वारा इसे लगड़ी सरकार करार दिया गया मगर इसी बीच ताजा बयान आया है पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का जिन्होंने ने प्रदेश की कमलनाथ सरकार के भविष्य पर एक बार फिर सवाल खडा किया दरअसल मध्य प्रदेश में 15 साल बाद सत्ता में आई कांग्रेस सरकार डेढ़ माह पुरानी हो चुकी है| लेकिन गठबंधन से बनी सरकार की स्थिरता अब भी बड़ा पश्न है| इसी मसले पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में अभी कांग्रेस की सरकार लंगड़ी सरकार है। कब टपक जाए इसका भी भरोसा नहीं। अपने गृह जिले सीहोर के कोठरी गांव पहुंचे शिवराज ने ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए यह बात कही| इस दौरान शिवराज ने किसानों के मुद्दों पर कमलनाथ सरकार पर कई हमले भी बोले और मोदी सरकार के बजट को जनता के हितकारी बताया|

कार्यक्रम में शिवराज ने सभा को संबोधित करते हुए कमलनाथ सरकार पर निशाना साधा | उन्होंने कहा कि प्रदेश में इस बार अजीब चुनाव हुआ है वोट बीजेपी को ज्यादा मिले हैं मगर 5 सीटे कांग्रेस की ज्यादा आई है लोकसभा चुनाव के हिसाब से देखें तो प्रदेश की 29 सीटों में से 17 पर बीजेपी तो १२ पर कांग्रेस आगे चल रही हैं| मगर कांग्रेस सरकार लंगड़ी सरकार है। कब टपक जाए इसका भी भरोसा नही। चाहता तो में भी सरकार बना लेता, कई लोगों ने कहा तोड़फोड़ करों| लेकिन मेने कहा जब बनाऊंगा पूर्ण बहुमत की सरकार ही बनाऊंगा, तोड़फोड़ नहीं करूँगा, खरीद फरोख्त नहीं करूँगा। पूर्व सीएम ने किसानों का मुद्दा उठाते हुए कहा हमने यह फैसला लिया था कि 2100 रुपए क्विंटल में गेंहू की खरीदी करेंगे| लेकिन वर्त्तमान सरकार 1840 रुपए में खरीदी कर रही है...कमलनाथ सरकार को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा की किसानों को पूरे 2100 रुपये दिए जाने चाहिए| उन्होंने कहा की उनके द्वारा इस मामले पर बजट में प्रावधान किया गया था तथा बाकायदा आदेश तक जारी किया गया था| वहीं अभी सोयाबीन के 500 रुपए प्रति क्विंटल भी लेना है| इसे भी सरकार किसानों के खाते में डाले और यह पैसे डालने ही पड़ेंगे| शिवराज ने कंहा कि किसानो की समस्याएं को लेकर 14 फरवरी को कलेक्ट्रेट का घेराव भी  करेंगे।

आपको बता दें की कमलनाथ सरकार की स्थिरता पर बीजेपी के कई और नेता भी बयान दे चुके हैं भाजपा के राष्ट्रीय महासचिन कैलाश विजय वर्गीय ने चुटकी लेते हुए कहा था की कांग्रेस सरकार का भविष्य ज्यादा भी है और मात्र झींक आने से भी गिर सकती है अब देखना यह की विपक्ष की बयान बाजी का सरकार की तरफ से किस तरह की प्रतिक्रया दी जाती है|


ममता ने खेला नया सियासी पैतरा, योगी के हैलिकाप्टर को उतरने की नहीं दी अनुमति

“माफ़ करो महराज” वाले जुमले पर गौर ने पार्टी को घेरा


 VT PADTAL