VT Update
देश के हर घर को बिजली देने की कोशिश हो रही है: राष्ट्रपति कोविंद सरकार ने गरीबों के लिए बैंकिंग सुविधा को आसान किया: राष्ट्रपति कोविंद रामगढ़ उपचुनाव: कांग्रेस की साफिया खान जीतीं J-K:अनंतनाग में पुलिस स्टेशन पर ग्रेनेड से हमला, 3 नागरिक और 1 जवान घायल गोपाल भार्गव बने नेता मप्र.विधानसभा नेता प्रतिपक्ष
Sunday 3rd of February 2019 | भारत ने जीता वनडे मैच का सीरीज

35 रनों से न्यूजीलैंड की टीम को हराकर, भारतीय टीम ने जीता वनडे सीरीज, टीम के लिए संकट मोचक बने रायडू


 

भारतीय क्रिकेट टीम ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वेलिंगटन में खेले गए पांचवें और आखिरी वनडे मैच में मेजबान टीम को 35 रनों से पटखनी देते हुए पांच मैचों की वनडे सीरीज में 4.1 से कब्जा जमा कर इतिहास रच दिया है। मैच में अंबाति रायडू भारत के लिए संकट मोचन बन कर उभरे। एक समय में भारतीय टीम अपने शुरूआती बल्लेबाजों को खोकर 18 रनों पर चार विकेट पर सम्मानजनक स्कोर बनाने के लिए संघर्ष कर रही थी। ऐसी विषम परिस्थितियों में अंबाति रायडू द्वारा खेली गई बड़ी अर्धशतकीय पारी और हार्दिक पंड्या के ऑलराउंडर प्रदर्शन से भारत ने पांच मैचों की श्रृंखला को 4.1 से जीत कर अपने नाम कर लिया है। सीरीज में अंबति रायडू को मैन ऑफ द मैच और तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को मैन ऑफ द सीरीज अवॉर्ड दिया गया है। मोहम्मद शमी ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में कुल 9 विकेट झटके हैं।

         एक समय जब भारतीय टीम की शुरूआत लड़खड़ाई तो रायडू (113 गेंदों पर 90 रन) ने विजय शंकर (64 गेंदों पर 45 रन) के साथ पांचवें विकेट के लिए 98 और केदार जाधव (45 गेंदों पर 34 रन) के साथ छठे विकेट के लिए 74 रनों की उपयोगी साझेदारियां कर मेहमान टीम ने खुद को शुरुआती झटकों से उबारा। पंड्या ने स्लॉग ओवरों में 22 गेंदों पर पांच छक्कों की मदद से 45 रनों की तूफानी पारी खेली, जिससे भारत ने 49.5 ओवरों में 252 रन बनाए। न्यूजीलैंड की टीम इसके जवाब में 44.1 ओवर में 217 रन ही बना पाई। उसके लिए जेम्स नीशाम ने सर्वाधिक 44 रन बनाए। भारतीय मध्यक्रम पर अच्छा प्रदर्शन करने का दबाव था और इस मैच में रायडू की पारी ने मुख्य अंतर पैदा किया। इससे भारत ने मैट हेनरी (35 रन देकर चार) और ट्रेंट बोल्ट (39 रन देकर तीन) के झटकों के बावजूद चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा करने में सफल रहे।

इसके बाद गेंदबाजी करने उतरी भारतीय टीम की ओर से मोहम्मद शमी ने 35 रन देकर दो विकेट लेकर न्यूजीलैंड के शीर्ष क्रम को चलता किया। जबकि युजवेंद्र चहल ने 41 रन देकर तीन विकेट, पंड्या 50 रन देकर दो और केदार जाधव 34 रन देकर एक विकेट लेकर मध्यक्रम के बल्लेबाजों को ठहरने का मौका नहीं दिया। एक समय न्यूजीलैंड की टीम बेहतर स्कोर की ओर बढ़ रही थी तो आलराउंडर पंड्या ने 11वें ओवर में गेंदबाजी की कमान संभाली और अपने दूसरे गेंद पर ही मेहमान टीम की ओर से फॉर्म में चल रहे रॉस टेलर को एक रन पर एलबीडब्ल्यू आउट कर पवैलियन का रास्ता दिखा दिया। जिससे मेजबान टीम का स्कोर तीन विकेट पर 38 रन हो गया। जबकि कप्तान केन विलियमसन 39 रन और टॉम लाथम 37 रन ने अपने सुझ बुझ से 15 ओवर में कोई विकेट गिरने नहीं दिया और दोनों ने 67 रनों की साझेदारी की। ऐसे में केदार जाधव ने गेंद अपने हाथ में थामी और गुगली डाली जिसे बल्लेबाज पढ़ नहीं पाए और पुल शॉट खेलकर गेंद को हवा में लहराया। जिसे शिखर धवन ने आसानी से कैच लपक कर इस साझेदारी को तोड़ दिया। फिर इसके बाद बल्लेबाजों के आने और जाने का क्रम जारी रहा। भारतीय गेंदबाज विपक्षी टीम को 44 ओवर तक ही सिमटा दिए और 35 रनों से जीत हासिल कर सीरीज को अपने नाम कर लिया।


जानिए टेस्ट में किस दिग्गजी रिकॉर्ड के बराबर पहुचे एंडरसन

मंधाना के धुँआधार पारी से महिला टीम ने न्यूजीलैंड को 9 विकेट से रौंदा


 VT PADTAL