VT Update
ओंकारेश्वर बांध विस्थापितों को मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत, कोर्ट ने सरकार को दिया आदेश विस्थापितों को उपलब्ध कराएं बेहतर भूमि। प्रदेश के भिंड में चार लोगों की हत्या करने वाले आरोपी को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा। शहडोल उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रही हिमाद्री सिंह ने आज कांग्रेस का हाथ छोड़ थामा भाजपा का दामन कमलनाथ सरकार को जबलपुर हाईकोर्ट से तगड़ा झटका, ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण देने पर लगाई रोक। टिकट को लेकर भाजपा में मचा घमासान, दावेदारों ने प्रदेश कार्यालय के सामने की नारेबाजी।
Sunday 15th of October 2017 | जैन मुनि शांतिसागर महाराज रेप के आरोप में गिरफ्तार

जैन मुनि शांतिसागर महाराज पर 19 सला की लड़की ने लगाया रेप का आरोप, पुलिस ने मुनि शांतिसागर को किया गिरफ्तार।


सूरत (गुजरात)। 45 साल के जैन मुनि शांतिसागर महाराज को 19 साल की लड़की से रेप के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। गुजरात के सूरत में पुलिस ने शुक्रवार को उनके खिलाफ केस दर्ज किया था। शनिवार को मेडिकल जांच में रेप की पुष्टि होने के बाद जैन मुनि को गिरफ्तार कर लिया गया है। 
दरअसल सात महीने पहले ही लड़की के माता पिता ने जैन मुनि को अपना गुरु बनाया था। लड़की इससे पहले शांतिसागर महाराज से कभी नहीं मिली थी। पीड़ित लड़की के माता-पिता अपनी बेटी को गुरु का अशिर्वाद दिलवाने आश्रम लेकर आए थे, जहां जैन मुनि ने माता पिता को मंत्र जाप के लिए दूसरे कमरे में भेझ दिया और लड़की को अपने कमरे में मंत्र जाप करने के लिए बुला लिया। जहां जैन मुनि शांतिसागर ने लड़की के साथ दुष्कर्म किया। लड़की ने जब अपने साथ हो रहे गलत काम का विरोध किया तो पाखंडी ने लड़की के मां-बाप को मारने की धमकी डे डाली  जिस वजह से लड़की अपने साथ हो रहे अत्याचार को चुपचाप सहती रही और किसी से कुछ नहीं बोला। 
सूरत के पुलिस कमिश्नर सतीश शर्मा ने बताया कि लड़की वडोदरा में कॉलेज में पढ़ती है। लड़की ने शर्मा को लेटर लिखकर जैन मुनि पर रेप का आरोप लगाया था। बता दें लड़की मध्यप्रदेश की रहने वाली है। 
पीड़िदत लड़की ने लेटर में लिखा था कि, जैन मुनि ने एक अक्टूबर को शहर के नानपुरा टीमलियावाड जैन मंदिर में उससे रेप किया। अपने फैमिली मेंबर्स के साथ वह धार्मिक कार्यक्रम के सिलसिले में वहां गई थी। जैन मुनि इस दौरान सूरत में चातुर्मास के लिए रह रहे थे। जांच में आरोपों की पुष्टि होने के बाद शुक्रवार को अठवा थाने में केस दर्ज किया गया। शनिवार को अस्पताल में युवती का मेडिकल कराया गया जिसके बाद जैंन मुनी को गिरफ्तार कर लिय गया। 
वहीं जैन मुनि पर लगे आरोप के खिलाफ दिगंबर जैन समाज के प्रतिनिधियों ने पुलिस कमिश्नर को मेमोरेंडम सौंपा है। समाज के लोगों ने कहा है कि लड़की ने आचार्य शांतिसागर महाराज के खिलाफ झूठी शिकायत दर्ज कराई है। यह आचार्य और जैन समाज को बदनाम करने की साजिश है।
 
 


​​​​​​​लगातार बढ़ रही अपहरण की घटनाओं के बाद एसपी को हटाने की मांग हुई तेज

सुप्रीम कोर्ट ने दरिंदे की फांसी की सजा उम्र कैद में की तब्दील, पीड़िता के परि


 VT PADTAL