VT Update
पहले चरण में 50 फीसदी भी नहीं भर ncte पाठ्यक्रम की सीटें,उच्च शिक्षा विभाग को अन्य चरण से एडमिशन की उम्मीद 9परिवहन विभाग ने रीवा के लिए तैयार किया ऑटो रुट का ब्लू प्रिंट,रूट के हिसाब से होंगे ऑटो के रंग,सड़क सुरक्षा समिति से अनुमति मिलने की दरकार रीवा के जवा में अधिवक्ता ने गोली मारकर की खुदकुशी, पुलिस कर रही मामले की जांच,डिप्रेशन में थे अधिवक्ता प्रदेश भाजपा कार्यालय में भाजपा सदस्यता अभियान को लेकर मैराथन बैठक हुई संपन्न, सदस्यता के साथ बूथ मजबूत करने पर हुआ चिंतन सतना में बड़ा हादसा ट्रक ऑटो में भिड़ंत तीन की मौत 5 घायल,घायलों को अस्पताल में कराया गया भर्ती
Thursday 7th of February 2019 | लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी को लगा झटका

फर्जी निकला भाजपा सांसद ज्योति धुर्वे का जाति प्रमाण पत्र


लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी सांसद ज्योति धुर्वे बड़ा झटका लगा है। जाति प्रमाण पत्र की जांच करने वाली छानबीन समिति ने बुधवार को फैसला सुनाया है। समिति ने अपने पुराने फैसले को बरकरार रखते हुए के बार फिर जाति प्रमाण पत्र को फर्जी करार दिया है। समिति ने पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई के बाद यह फैसला सुनाया। बता दें सांसद ज्योति धुर्वे अनुसूचित जनजात सीट बैतूल से दूसरी बार सांसद हैं।

लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी सांसद ज्योति धुर्वे को बड़ा झटका लगा है। जाति प्रमाण पत्र की जांच करने वाली छानबीन समिति ने बुधवार को फैसला सुनाया है। समिति ने अपने पुराने फैसले को बरकरार रखते हुए के एक बार फिर जाति प्रमाण पत्र को फर्जी करार दिया है। समिति ने पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई के बाद यह फैसला सुनाया। अब धुर्वे का आदिवासी जाति प्रमाण पत्र रद्द होगा| बता दें सांसद ज्योति धुर्वे अनुसूचित जनजाति सीट बैतूल से दूसरी बार सांसद हैं। दो तीन दिन में ही धुर्वे के जाति प्रमाण पत्र को रद्द करने के आदेश जारी हो सकते हैं| इससे धुर्वे की लोकसभा की सदस्यता खतरे में आ जायेगी|

सांसद ज्योति धुर्वे की जाति को लेकर पिछले दस साल से विवाद की स्थिति चल रही है। हाई पॉवर छानबीन समिति ने तीन मई को निर्णय में जाति प्रमाण पत्र निरस्ती के आदेश दिए थे। इस पर सांसद ने पुनर्विचार याचिका दायर कर दी थी, जिस पर भाजपा सरकार के दौरान दो बार सुनवाई टाल दी गई। इस बीच प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आते ही धुर्वे की जाति प्रमाण पत्र का जिन्न फिर बोतल से बाहर आ गया। बताया जा रहा है कि अब समिति सदस्य धुर्वे को राहत देने के पक्ष में नहीं हैं। इससे उनके सांसद पद पर भी सवाल खड़े होंगे। हालांकि धुर्वे के पास कोर्ट जाने का विकल्प अब भी बरकरार है। समिति ने रायपुर और बालाघाट के तिराेड़ी में भी इस प्रकरण की जांच की थी। धुर्वे ने समिति के समक्ष पुनर्विचार की अपील की थी जिस पर सुनवाई हुई थी। धुर्वे के मामले की जांच राज्य स्तरीय छानबीन समिति ने की थी। जानकारी के मुताबिक उन्होंने अपनी पति की जाति के आधार पर अपना जाति प्रमाण पत्र बनवाया जबकि यह पिता की जाति के आधार पर बनता है।

मुख्यमंत्री ने तलब की थी जानकारी

बताया जा रहा है कि इस बहुचर्चित मामले में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मुख्य सचिव एसआर मोहंती से जानकारी तलब की थी। इसके बाद दो टीमें रायपुर, बैतूल और बालाघाट रवाना कर दी गईं। एक दिन पूर्व ही समिति के जांच अधिकारी सांसद ज्योति धुर्वे की माताजी और पिताजी से पूछताछ के बाद उनके बयान भी दर्ज करके लाए थे। छानबीन समिति ने एक बार फिर नए सिरे से जांच के बाद यह फैसला सुना दिया।


1 जून से लगातार हो रही है पेट्रोल और डीज़ल के दामों में गिरावट, अंतर्राष्ट्रीय

मौसम विभाग ने MP में जारी किया रेड अलर्ट, 2 दिन तक नहीं मिलेगी गर्मी और तपन से रा


 VT PADTAL


 Rewa

प्रदेश भर में स्कूल चले अभियान का आगाज, संभाग कमिश्नर ने किया पुस्तक वितरण
Monday 24th of June 2019
रीवा में भी प्रदेश पत्रकार संघ के कार्यकारी अध्यक्ष अनिल त्रिपाठी की अगुवाई में संयुक्त आयुक्त राकेश शुक्ला को पत्रकारों ने ज्ञापन सौंपा |
Monday 24th of June 2019
गाँव के बदमाशों द्वारा बीती रात उसी गांव के दुकानदार व दुकानदार की लडकियों को पीट-पीट कर घायल कर दिया गया
Monday 24th of June 2019
मुख्यमंत्री कमल नाथ ने झाबुआ के शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में
Monday 24th of June 2019
एक्सीडेंट से हुई ट्रक ड्राइवर की मौत पर परिजनों ने जताई हत्या की आशंका
Monday 24th of June 2019
रीवा में आयोजित हुआ योग कार्यक्रम, केन्द्रीय जेल में भी आयोजित हुए योग कार्यक्रम  
Saturday 22nd of June 2019