VT Update
मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए आप लगातार विंध्य 24 से जुड़े रहे हम आपको ताजा अपडेट देते रहेगें अभी प्रत्येक विधानसभाओं में मतगणना आरंभ हुई हैं तथा बैलेट पेपर की गिनती शुरु हो चुकी है MP चुनावः शिवराज सिंह चौहान बोले-कांग्रेस के सहयोगी हताश हैं विजय माल्या केस की सुनवाई के सिलसिले में CBI और ED के ऑफिसर लंदन रवाना J-K: किश्तवाड़ पुलिस ने आतंकी रियाज अहमद को गिरफ्तार किया विजय माल्या केस की सुनवाई के सिलसिले में CBI और ED के ऑफिसर लंदन रवाना
Monday 16th of October 2017 | ऐसे मनाए अपनी धनतेरस

इस बार धनतेरस की ऐसे करें तैयारियां, जीवन भर धन की कमी से नहीं रहेंगे परेशान


दिपावली से पहले हर बार मनाए जाने वाला धनतेरस का त्योहार इस बार 17 अक्टूबर को मनाया जाएगा। त्रयोदशी तिथि 16 अक्टूबर रात साढ़े 12 बजे आरंभ होगी जबकि 17 अक्टूबर को रात 12 बजकर नौ मिनट तक रहेगी। इस वर्ष त्रयोदशी तिथि भद्रा मुक्त होगी। इस कारण पूरा दिन खरीदारी के लिए शुभ है, लेकिन 17 अक्टूबर को 11 बजकर 35 मिनट से साढ़े 12 बजे तक अभिजित मुहूर्त  विशेष है। इस समय में खरीदारी करना अति शुभ रहेगा। यह पर्व कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी धन त्रयोदशी के रूप मे मनाया जाता है तथा दिवाली के आने की शुभ सूचना है।

धनतेरस के दिन वैद्य धनवंतरी के पूजन का विधान शास्त्रों में बताया गया है। कहते हैं कि इस दिन धनवंतरी वैद्य समुद्र से अमृत लेकर आए थे इसलिए धनतेरस को धनवंतरी जयंती भी कहते है। धनवंतरी को चिकित्सकों का देवता भी कहा जाता है इसीलिए धनतेरस का दिन चिकित्सकों के लिए विशेष महत्व रखता है। धनतेरस पर्व इस साल मंगलवार को आ रहा है। मंगल को भूमि का स्वामी माना गया है जिस कारण भूमि खरीदने के लिए इस वर्ष अति शुभ धनतेरस को माना जा रहा है। इसके अलावा धनतेरस के दिन कार्तिक संक्रांति भी है और सूर्य तुला राशि में प्रवेश करेगा इसी कारण वाहन, जमीन के लिए यह शुभ है।


धनतेरस के दिन चांदी खरीदने का विशेष महत्व है। इसके पीछे यह कारण माना जाता है कि यह चंद्रमा का प्रतीक है जो शीतलता प्रदान करता है और मन में संतोष रूपी धन का वास होता है। संतोष को सबसे बड़ा धन कहा गया है। माना जाता है कि जिसके पास संतोष है वह स्वस्थ व सुखी है, और वही सबसे बड़ा धनवान है। इस दिन घर में बर्तन खरीदे जाते हैं। वहीं चांदी के बर्तन खरीदना अत्याधिक शुभ माना जाता है। और तो और इस दिन वैदिक देवता यमराज का भी पूजन किया जाता है। यम के लिए आटे का दीपक बनाकर घर में देवता के द्वार पर रखा जाता है।
 


जिस पत्रकारिता का कभी स्वर्णिम युग ना था , उसमे स्वर्णिम व्यक्तित्व की तरह उ

अटल जी के निधन से आहत हुआ देश !


 VT PADTAL