VT Update
ओंकारेश्वर बांध विस्थापितों को मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत, कोर्ट ने सरकार को दिया आदेश विस्थापितों को उपलब्ध कराएं बेहतर भूमि। प्रदेश के भिंड में चार लोगों की हत्या करने वाले आरोपी को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा। शहडोल उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रही हिमाद्री सिंह ने आज कांग्रेस का हाथ छोड़ थामा भाजपा का दामन कमलनाथ सरकार को जबलपुर हाईकोर्ट से तगड़ा झटका, ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण देने पर लगाई रोक। टिकट को लेकर भाजपा में मचा घमासान, दावेदारों ने प्रदेश कार्यालय के सामने की नारेबाजी।
Tuesday 19th of February 2019 | सेना ने कहा- हमले का साजिशकर्ता पाकिस्तान

पुलवामा हमले के बाद सेना ने कहा- पाकिस्तान जैश -ए- मोहम्मद को दे रहा सह, मास्टरमाइंड को सेना ने किया ढेर


जम्मू.कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आतंकी हमले को लेकर मंगलवार को सेना, सीआरपीएफ और जम्मू.कश्मीर पुलिस की तरफ से प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की गई। जिसमें सेना ने साफ तौर पर कहा कि पुलवामा हमले का मुख्य साजिशकर्ता पाकिस्तान ही है। चिनार कॉर्प्स के लेफ्टिनेंट जनरल केजीएस ढिल्लन ने कहा कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई की मदद से जैश.ए.मोहम्मद ने पुलवामा में आतंकी हमला किया। सेना, सीआरपीएफ और जम्मू.कश्मीर पुलिस की साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में केजीएस ढिल्लन ने कहा कि जैश.ए.मोहम्मद पाकिस्तान का ही एक बच्चा है, जैश जो भी करता है वह पाकिस्तानी सेना के कहने पर ही करता है।

      केजीएस ढिल्लन ने खुली चेतावनी देते हुए कहा कि यहां कितने गाजी आए और कितने चले गए। जो भी आतंकी जम्मू.कश्मीर की जमीन पर घुसेगा वो मारा जाएगा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी सेना और आईएसआई जैश.ए.मोहम्मद को कंट्रोल कर रही है। उन्होंने खुली चेतावनी दी जो भी व्यक्ति घाटी में बंदूक उठाएगा वो मारा जाएगा। पुलवामा हमले के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि हमने हमला होने के 100 घंटे के भीतर ही इसके मास्टरमाइंड को मार गिराया। सेना ने इस दौरान पाकिस्तान की जमीन पर चल रहे आतंकी कैंपों, पुलवामा हमले में इस्तेमाल किए गए सामान के बारे में विस्तार से जानकारी देने से इनकार किया और कहा कि क्योंकि ये जानकारी ऑपरेशनल है इसलिए नहीं बता सकते हैं। सोमवार को 18 घंटे तक पुलवामा में चले एनकाउंटर में जैश.ए.मोहम्मद का घाटी प्रमुख कामरान, विदेशी आतंकी राशिद और लोकल आतंकी हिलाल को मार गया था। इनके हमलों के षड़यंत्र में 40 से अधिक जवान शहीद हो गए थे। आपको बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद जब इसके तार पाकिस्तान से जुड़े तो वह बौखला गया था। पाकिस्तान की ओर से कहा गया कि उसका इस हमले में कोई हाथ नहीं है। उल्टा उसने आरोप भी लगाया कि भारत में जब कुछ ऐसा होता तो वह पाकिस्तान पर ही आरोप लगाते हैं। भारत के विदेश मंत्रालय ने आतंकी हमले के बाद भारत में मौजूद पाकिस्तान के उच्चायुक्त सोहेल महमूद को तलब भी किया था।


बीजेपी नेताओं ने सोशल मीडिया में नाम के आगे लिखा चौकीदार

Yamaha Fascino स्कूटर का डार्कनाइट एडिशन हुआ लॉन्च, जानिए क्या है कीमत


 VT PADTAL