VT Update
ओंकारेश्वर बांध विस्थापितों को मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत, कोर्ट ने सरकार को दिया आदेश विस्थापितों को उपलब्ध कराएं बेहतर भूमि। प्रदेश के भिंड में चार लोगों की हत्या करने वाले आरोपी को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा। शहडोल उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रही हिमाद्री सिंह ने आज कांग्रेस का हाथ छोड़ थामा भाजपा का दामन कमलनाथ सरकार को जबलपुर हाईकोर्ट से तगड़ा झटका, ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण देने पर लगाई रोक। टिकट को लेकर भाजपा में मचा घमासान, दावेदारों ने प्रदेश कार्यालय के सामने की नारेबाजी।
Sunday 10th of March 2019 | सरकार बदली, लेकिन हालात नहीं

प्रदेश में स्वास्थय व्यवस्थाएं हुई लचर, शव ले जाने के लिए नहीं मिला एंबुलेंस, 6 किमी कंघे पर ढोते रहे शव


मध्यप्रदेश में पंद्रह वर्षों बाद भले ही सरकार बदल गई हो लेकिन प्रदेश के हालात जस के तस स्थिर है। स्वास्थ्य व्यवस्थाओं में अब भी कोई सुधार नहीं हो पाया है। प्रदेश व मनावता को शर्मसार करने का एक मामला डिंडौरी से सामने आया है। जहां शव वाहन न मिलने पर परिजनों को थाने से घर तक शव को कंधे पर ही रखकर करीब छह किलोमीटर का रास्ता तय करना पड़ा। परिजनों द्वारा मदद की गुहार लगाने के बावजूद भी न तो अस्पताल प्रबंधन द्वारा और न ही पुलिस द्वारा शव वाहन की व्यवस्था कराई गई, आखिरकार परिजनों को शव कंधे पर ही उठाकर घर पहुंचना पड़ा, जहां आज शाम अंतिम संस्कार किया गया।

        जानकारी के अनुसार, शुक्रवार रात बजाग थाना क्षेत्र के जंगल में संदिग्ध परिस्थितियों में बुजुर्ग बैगा आदिवासी का शव मिला था, सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची थी और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज था। पुलिस ने आज शनिवार सुबह पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों के हवाले कर दिया। इसके बाद परिजनों ने पुलिस और अस्पताल के जिम्मेदारों से शव वाहन की मांग की गई। लेकिन दोनों ने ही वाहन उपलब्ध नहीं कराया। काफी देर गिड़गिडाने के बाद परिजन  शव को कंधे पर रखकर करीब 6 किलोमीटर पैदल चलकर घर पहुंचे।

 


सिंधिया के स्वागत में स्टेशन पहुंचे कार्यकर्ता आपस में भीड़े, चोरी का आरोप लग

कांग्रेस की 8 वीं लिस्ट जारी,पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भोपाल से प्रत्


 VT PADTAL