VT Update
ओंकारेश्वर बांध विस्थापितों को मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत, कोर्ट ने सरकार को दिया आदेश विस्थापितों को उपलब्ध कराएं बेहतर भूमि। प्रदेश के भिंड में चार लोगों की हत्या करने वाले आरोपी को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा। शहडोल उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रही हिमाद्री सिंह ने आज कांग्रेस का हाथ छोड़ थामा भाजपा का दामन कमलनाथ सरकार को जबलपुर हाईकोर्ट से तगड़ा झटका, ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण देने पर लगाई रोक। टिकट को लेकर भाजपा में मचा घमासान, दावेदारों ने प्रदेश कार्यालय के सामने की नारेबाजी।
Sunday 10th of March 2019 | मेड इन चित्रकूट भूले, बैंड बजाने और पशु हांकने का देंगे प्रशिक्षण

प्रदेश सरकार युवाओं देगी बैंड बजाने की ट्रेनि, पशु चराने की भी कला सीखेंगे युवा


युवाओं को रोजगार देने के वादे के साथ प्रदेश में पंद्रह वर्षों बाद आई कांग्रेस पार्टी की सरकार ने नया कारनामा करने का ऐलान किया है। कमलनाथ सरकार ने युवाओं को अब बैंड बाजा बजाने और पशु चराने की ट्रेनिंग दिलाने की कार्ययोजना पर विचार कर रही है। विपक्ष में रहते हुए कांग्रेस पार्टी ने प्रधानमंत्री के पकौड़ा तलने के रोजगार वाले दावे पर काफी खिल्ली उड़ाई थी। लेकिन अब प्रदेश की कमलनाथ सरकार भी उसी रास्ते पर चलती हुई दिखाई दे रही है। प्रदेश सरकार के इस घोषणा के बाद से विपक्ष ने भी सवाल उठाना शुरू कर दिया है कि विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि प्रदेश मे मोबाइल मैन्युफैक्चर होगा इसके साथ ही उन्होंने और भी उद्योग लगाने की बात कही थी। लेकिन पार्टी सरकार बनने के बाद अपने वादों को भूल गई है।

          आपको बता दें कि सीएम कमलनाथ ने युवाओं को रोजगार दिलाने और बेहतर जानकारियों का प्रशिक्षण दिलाने के लिए 15 अगस्त को युवा स्वाभिमान योजना की शुरूवात की थी। जिसमें युवाओं को बेहतर फोटोग्राफर, बेल्डर, वीडियो ग्राफर, इलेक्ट्रीशियन, मैकेनिक, बढ़ई जैसे कार्यों की ट्रेनिंग देगी। वहीं शादी विवाह में बैंड बाजा कैसे बजाए और पशु कैसे चराएं और हांकने का भी प्रशिक्षण देने का निर्णय लिया है। एक कार्यक्रम में सीएम कमलनाथ ने कहा कि निवेश में नया उत्साह उत्पन्न हो उसके लिए सरकार को भी प्रयास करना होगा, छिंदवाड़ा में मेरा प्रयास है कि बैंड ट्रेनिंग स्कूल हो उसका मैं प्रयास कर रहा हूँ।  उन्होंने कहा हमारे यहां इतनी सारी शादियां है फंक्शन है जहां बैंड बाजा होता है तो लोगों में उत्साह है। मैं चाहता हूं कि देश भर में जो बैंड में भाग लेते है वो मध्यप्रदेश के हों। सीएम कमलनाथ के इस ऐलान के सामने आने के बाद प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी भाजपा ने प्रदेश सरकार को रोजगार के मसले पर घेरना भी शुरू कर दिया है। बीजेपी का कहना है कि प्रदेश सरकार बेरोजगार युवाओं के साथ भद्दा मजाक कर रही है। इसके साथ ही सोशल मीडिया पर भी प्रदेश सरकार की किरकिरी हो रही है।लेकिन इन सब के बीच सबसे अहम सवाल यह कि क्या सरकार प्रदेश के युवाओं को इसी लायक समझ रही कि उन्हे पशु हांकने और बैंड बाजा बजाने का प्रशिक्षण देगी। साथ ही सवाल यह भी क्या प्रदेश सरकार इस प्रकार के प्रशिक्षण देकर युवाओं के स्वाभिमान को किस प्रकार से जीवित रखना चाहती है, सरकार युवाओं को अन्य कार्यों को करने का प्रशिक्षण क्यों नहीं देना चाहती है जिसका प्रशिक्षण लेकर युवा कुछ नया कर सके।  


सिंधिया के स्वागत में स्टेशन पहुंचे कार्यकर्ता आपस में भीड़े, चोरी का आरोप लग

कांग्रेस की 8 वीं लिस्ट जारी,पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भोपाल से प्रत्


 VT PADTAL