VT Update
ओंकारेश्वर बांध विस्थापितों को मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत, कोर्ट ने सरकार को दिया आदेश विस्थापितों को उपलब्ध कराएं बेहतर भूमि। प्रदेश के भिंड में चार लोगों की हत्या करने वाले आरोपी को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा। शहडोल उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रही हिमाद्री सिंह ने आज कांग्रेस का हाथ छोड़ थामा भाजपा का दामन कमलनाथ सरकार को जबलपुर हाईकोर्ट से तगड़ा झटका, ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण देने पर लगाई रोक। टिकट को लेकर भाजपा में मचा घमासान, दावेदारों ने प्रदेश कार्यालय के सामने की नारेबाजी।
Monday 11th of March 2019 | विंध्य क्षेत्र को लगा तगड़ा झटका

कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व विधायक व सांसद सुंदरलाल तिवारी को आया हार्ट अटैक, हुआ निधन


रीवा के पूर्व विधायक, पूर्व सांसद एवं कांग्रेस के दिग्गज नेता सुंदरलाल तिवारी का दिल का दौरा पडऩे से निधन हो गया है। उन्हें आज सुबह सीने में दर्द हुआ और संजय गांधी चिकित्सालय में उपचार के लिए भर्ती कराया गया। जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। उनके निधन से विंध्य क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई है। आपको बता दें कि वे पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्रीनिवास तिवारी के बेटे हैं। वे मप्र विधानसभा के सदस्य भी रहे हैं।

          सुंदरलाल तिवारी रीवा समेत मध्य प्रदेश के एक बड़े नेता रहे हैं, सफेद शेर के नाम से मशहूर पूर्व विधानसभा अध्यक्ष स्वण् श्रीनिवास तिवारी के पुत्र थे। वे विधायक और सांसद रह चुके हैं। सुंदरलाल तिवारी रीवा संसदीय सीट से सांसद भी रह चुके हैं। सुंदरलाल तिवारी 2018 के विधानसभा चुनाव में रीवा जिले की गुढ़ विधानसभा सीट से चुनाव हार गए थे। 2009 में लोकसभा चुनाव में हार के बाद कांग्रेस ने 2013 में उन्हें गुढ़ विधानसभा चुनाव से मैदान में उतारा था। 2013 में सुंदरलाल तिवारी ने जीत दर्ज की थी। जबकि 2018 में भाजपा उम्मीदवार से उन्हें करारी हार का सामना करना पड़ा था। इस बार भी लोकसभा चुनाव में उनका नाम चर्चा में था,  उनके निधन से पार्टी को बड़ा झटका लगा है। मध्य प्रदेश की राजनीति में उनका परिवार सबसे पुराना परिवार माना जाता है, विधानसभा में स्वण् श्रीनिवास तिवारी की दबंग छवि को सभी नेता आज भी याद रखते हैं और इसीलिए उन्हें सफ़ेद शेर के नाम से जाना जाता था। उनके बाद उनके पुत्र सुन्दर लाल तिवारी भी अपने पिता के नक़्शे कदम पर चलते हुए राजनीति में सक्रिय रहे और विपक्ष में रहते हुए सरकार के खिलाफ कई मुद्दों पर प्रखर विरोध जताते दर्ज कराते रहे है। उनके निधन से प्रदेश की राजनीति को बड़ी क्षति माना जा रहा है। इसके साथ ही आपको बता दें कि उनके आवास पर समर्थकों का जमवाड़ा लगा हुआ है। जहां उनके पार्थिव शरीर के दर्शन के लिए लोग इंतजार कर रहे है।

लगा सियासी जमावड़ा: सुंदरलाल तिवारी के निधन की खबर क्षेत्र में आग की तरह फैलते ही उनके आवास पर समर्थकों का भारी जमावड़ा लगा गया। इसके साथ ही क्षेत्र के सियासी दिग्गजों को भी जमावड़ा लग गया। सूचना पर मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री व रीवा से विधायक राजेंद्र शुक्ला, राज्य सभा सांसद राजमणि पटेल, देवतालाब विधायक गिरीश गौतम, सिरमौर विधायक दिव्यराज सिंह सहित पार्टी के दिग्गज नेता और अन्य मौके पर पहुंचे गए है। रीवा के पूर्व विधायक, पूर्व सांसद एवं कांग्रेस के दिग्गज नेता सुंदरलाल तिवारी का दिल का दौरा पडऩे से निधन हो गया है। उन्हें आज सुबह सीने में दर्द हुआ और संजय गांधी चिकित्सालय में उपचार के लिए भर्ती कराया गया। जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। उनके निधन से विंध्य क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई है। आपको बता दें कि वे पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्रीनिवास तिवारी के बेटे हैं। वे मप्र विधानसभा के सदस्य भी रहे हैं।


शिव का कांग्रेस पर हमला- कर्जमाफी का वादा किया है निभाना तो पड़ेगा, अन्यथा हमे

कांग्रेस पार्टी की स्क्रीनिंग बैठक आज, प्रदेश की 16 सीटों पर प्रत्याशियों के


 VT PADTAL