VT Update
ओंकारेश्वर बांध विस्थापितों को मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत, कोर्ट ने सरकार को दिया आदेश विस्थापितों को उपलब्ध कराएं बेहतर भूमि। प्रदेश के भिंड में चार लोगों की हत्या करने वाले आरोपी को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा। शहडोल उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रही हिमाद्री सिंह ने आज कांग्रेस का हाथ छोड़ थामा भाजपा का दामन कमलनाथ सरकार को जबलपुर हाईकोर्ट से तगड़ा झटका, ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण देने पर लगाई रोक। टिकट को लेकर भाजपा में मचा घमासान, दावेदारों ने प्रदेश कार्यालय के सामने की नारेबाजी।
Thursday 14th of March 2019 | अपहरण की घटनाओं से दहला सतना

​​​​​​​लगातार बढ़ रही अपहरण की घटनाओं के बाद एसपी को हटाने की मांग हुई तेज


प्रदेश में लूट, अपहरण, हत्या का दौर जारी है। अपराधियों के आगे कानून व्यवस्था बौना साबित होती नजर  आ रही है। बीते 23 फरवरी को सतना में दो जुड़वा बच्चों का अपहरण कर हत्या करने का मामला सामने आया था। अभी ये मामला शांत हुआ था कि बुधवार को फिर दो बच्चों को किडनैप कर उनकी हत्या कर दी गई। वहीं, पांच दिनों में जिले के अलग.अलग थानों में पांच मासूमों के अपहरण के मामले दर्ज किए गए हैं। घटनाओं के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच हुआ है। घटनाओं के बाद से कानून व्यवस्था पर सवाल उठने लगे है। इसमें पुलिस प्रशासन की बड़ी लापरवाही सामने आ रही है। वहीं, कमलनाथ सरकार ने इस पर सख्ती दिखाते हुए चुनाव आयोग से एसपी को हटाने की मांग की है। संभावना जताई जा रही है कि आज.कल में एसपी का तबादला किया जा सकता है।

          दरअसल, सतना में लगातार बिगड़ रही कानून व्यवस्था को लेकर प्रदेशभर में मासूमों की सुरक्षा को लेकर सवाल उठने लगे है। बीते दिनों प्रदेश में कई अपहरण के मामले सामने आ चुके है। इसमें सतना में पांच दिन में पांच मामले दर्ज किए गए है। बुधवार को फिर एक छह साल के बच्चे का अपहरण कर हत्या कर दी है। इसको लेकर पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष डॉ राजेंद्र कुमार सिंह और जेपी धनोपिया ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव से मुलाकात कर एसपी संतोष सिंह गौर को हटाने का मांग उठाई। चुनाव की स्थिति को देखते हुए पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह गौर को हटाया जा सकता है। पुलिस मुख्यालय ने इसके लिए तीन अधिकारियों के नाम का पैनल भी भेजा है। एक दो दिन में आदेश जारी किए जा सकते है।

हर दिन एक अपहरण :

बेखौफ अपराधी हर रोज घटनाओं को अंजाम देने में जुटे हुए है। अपराधियों ने 7 मार्च को 7 वर्षीय आशिकी साकेत का मैहर से अपहरण किया था। जिसके बाद उसी दिन ही सतना के सिविल लाइन थाना क्षेत्र से 13 वर्षीय शिवांस मिश्रा का अपहरण की घटना घटित हुई। अभी पुलिस इन मसलों को सुलझा भी नहीं पाई थी कि 10 मार्च को कोलगवां थाना इलाके के बैंक कालोनी से 13 वर्षीय प्रद्युमन सिंह का अपहरण किए जाने का मामला सामने आया। जबकि 12 मार्च को 12 वर्षीय से श्रद्धा राजवंश का सिटी कोतवाली इलाके से अपहरण कर लिया गया। वहीं,  12 मार्च को ही नागौद थाना के रहिकवारा से शिवकान्त प्रजापति का अपहरण कर लिया गया। जिसका शव बरामद किया गया है।


अपहरण की घटना से फिर दहला सतना, मासूम का अपहरण के बाद हत्या कर बोरे में भर कर न

​​​​​​​लगातार बढ़ रही अपहरण की घटनाओं के बाद एसपी को हटाने की मांग हुई तेज


 VT PADTAL