VT Update
ओंकारेश्वर बांध विस्थापितों को मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत, कोर्ट ने सरकार को दिया आदेश विस्थापितों को उपलब्ध कराएं बेहतर भूमि। प्रदेश के भिंड में चार लोगों की हत्या करने वाले आरोपी को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा। शहडोल उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रही हिमाद्री सिंह ने आज कांग्रेस का हाथ छोड़ थामा भाजपा का दामन कमलनाथ सरकार को जबलपुर हाईकोर्ट से तगड़ा झटका, ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण देने पर लगाई रोक। टिकट को लेकर भाजपा में मचा घमासान, दावेदारों ने प्रदेश कार्यालय के सामने की नारेबाजी।
Thursday 14th of March 2019 | बेखौफ अपराधी अपहरण की घटनाओं को दे रहे अंजाम

अपहरण की घटना से फिर दहला सतना, मासूम का अपहरण के बाद हत्या कर बोरे में भर कर नाले में फेंका शव


मध्य प्रदेश के सतना जिले में एक बार फिर मासूम बच्चे का अपहरण कर ह्त्या करने का मामला सामने आया है। अभी बीते माह सतना जिले के ही चित्रकूट में जुड़वा भाइयों के अपहरण के बाद हत्या करने की घटना घटित हुई थी। पुलिस 12 दिन तक अपराधियों के चंगुल से बच्चों को बचाने में असफल रही थी। अब एक बार फिर ठीक ऐसी ही बड़ी घटना सतना जिले से ही सामने आई है। जहां मंगलवार को नागौद के रहिकवारा से पांच साल के मासूम की अपहरण के बाद ह्त्या कर दी गई। बुधवार को घर से 100 मीटर दूर एक नाले में बच्चे का शव मिला है। इस घटना से एक बार फिर अपहरण का मामला गरमा गया है, सुरक्षा व्यवस्था और पुलिस की कार्यप्रणाली एक बार फिर विपक्ष के निशाने पर है।

           आपको बता दें कि नागौद थाना क्षेत्र के रहिकवारा में रहने वाले झब्बू कुम्हार का पांच वर्षीय बेटा शिव मंगलवार दोपहर 3.30 बजे घर के पास खेल रहा था। इसके बाद अचानक वह लापता हो गया। शाम करीब 6 बजे झब्बू के भाई के मोबाइल पर किसी ने फोन कर बताया कि उसने शिव को अगवा किया है। उसे वापस लेने के लिए दो लाख की व्यवस्था कर लो। यह सुनते ही परिजन के के होश उड़ गए। इस फ़ोन के बाद घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। आनन.फानन में डीआइजी अविनाश शर्मा, एसपी संतोष सिंह गौर सहित अन्य अफसर मौके पर पहुंचे और परिजन से पूछताछ की। मासूम के अपहरण में एक महिला सहित कुछ संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया गया है। पड़ोस में रहने वाले पांच लोगों को हिरासत में लिया गया। 

          इस बीच बुधवार को घर से 100 मीटर दूर एक नाले में बच्चे का शव मिला। इस घटना के बाद से रहिकवारा के ग्रामीणों में आक्रोश का माहौल है। चित्रकूट मामले की तरह ही पुलिस इस मामले में भी पुलिस बच्चे को बचा नहीं पाई, अपहरण की घटना के बाद जिस तरह बच्चों को अपराधी मौत के घाट उतार रहे हैं, ऐसे में आम लोगों का पुलिस की कार्यप्रणाली से विश्वास उठता जा रहा है।  उत्तर प्रदेश की सीमा से लगे क्षेत्र में इस कदर अपराधी बेलगाम है कि वह लगातार घटनाओं को अंजाम देकर दहशत का माहौल कायम करने में सफल होते दिखाई दे रहे है।

सीमा विवाद में उलझती पुलिस, अपराधियों को देती मौका :

सतना जिले में पांच दिनों में लगातार पांच बच्चों के अपहरण के मामले सामने आए है। जिसमें एक मासूम का शव बरामद किया गया है। वहीं, अभी चार बच्चे ऐसे हैं जिनका कोई सुराग नहीं मिल सका है। जिले के अलग-अलग थानों में पिछले 5 दिनों में 5 मासूमों के अपहरण के मामले दर्ज किए गए हैं। अपह्रत तीन मासूमों की उम्र 7 साल से कम, दो की उम्र 12 और 13 वर्ष हैं।  वहीं सीमवर्ती क्षेत्रों में हो रही इन घटनाओं को लेकर अक्सर बात सामने आती है कि उत्तर प्रदेश से अपराधी यहां आकर वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। स्थानीय पुलिस घटना घटित होने के बाद सीमा विवाद में उलझी रहती है। जिसके बाद से अपराधियों को घटना को अंजाम देने का अवसर मिल जा रहा है। जिससे लगातार अपराधी अपहरण की घटनाओं को अंजाम दे रहे है।

पुलिस से उठा विश्वास :  

पुलिस की लचर कार्यप्रणाली के बाद से आम लोगों को पुलिस और कानून व्यवस्था से विश्वास उठता ही जा रहा है। प्रदेश में जिस प्रकार से अपराधियों के हौसले बुलंद दिख रहे और बेखौफ होकर घटनाओं को अंजाम दे रहे है। जिसके सामने आने के बाद से आम लोगों का पुलिस व कानून व्यवस्था से भरोसा उठता ही जा रहा है। इन सब के बीच सबसे अहम सवाल यह है कि क्या पुलिस अपराधियों पर लगाम लगा पाने में नाकाम है।

हर दिन अपहरण की एक घटना :

बेखौफ अपराधी हर रोज घटनाओं को अंजाम देने में जुटे हुए है। अपराधियों ने 7 मार्च को 7 वर्षीय आशिकी साकेत का मैहर से अपहरण किया था। जिसके बाद उसी दिन ही सतना के सिविल लाइन थाना क्षेत्र से 13 वर्षीय शिवांस मिश्रा का अपहरण की घटना घटित हुई। अभी पुलिस इन मसलों को सुलझा भी नहीं पाई थी कि 10 मार्च को कोलगवां थाना इलाके के बैंक कालोनी से 13 वर्षीय प्रद्युमन सिंह का अपहरण किए जाने का मामला सामने आया। जबकि 12 मार्च को 12 वर्षीय से श्रद्धा राजवंश का सिटी कोतवाली इलाके से अपहरण कर लिया गया। वहीं,  12 मार्च को ही नागौद थाना के रहिकवारा से शिवकान्त प्रजापति का अपहरण कर लिया गया। जिसका शव बरामद किया गया है।


अपहरण की घटना से फिर दहला सतना, मासूम का अपहरण के बाद हत्या कर बोरे में भर कर न

​​​​​​​लगातार बढ़ रही अपहरण की घटनाओं के बाद एसपी को हटाने की मांग हुई तेज


 VT PADTAL