VT Update
ओंकारेश्वर बांध विस्थापितों को मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत, कोर्ट ने सरकार को दिया आदेश विस्थापितों को उपलब्ध कराएं बेहतर भूमि। प्रदेश के भिंड में चार लोगों की हत्या करने वाले आरोपी को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा। शहडोल उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रही हिमाद्री सिंह ने आज कांग्रेस का हाथ छोड़ थामा भाजपा का दामन कमलनाथ सरकार को जबलपुर हाईकोर्ट से तगड़ा झटका, ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण देने पर लगाई रोक। टिकट को लेकर भाजपा में मचा घमासान, दावेदारों ने प्रदेश कार्यालय के सामने की नारेबाजी।
Thursday 14th of March 2019 | संपत्ति बंटवारे और कम्प्यूटर फीडिंग को लेकर मांगा था रिश्वत

घूस लेते हुए पटवारी को रीवा लोकायुक्त टीम ने किया गिरफ्तार, संपत्ति बंटवारे का था मामला


रीवा लोकायुक्त की टीम ने आज क्षेत्र के अमवा में घूस लेने वाले पटवारी को रंगे हाथों दबोच लिया है। शिकायकर्ता ने लोकायुक्त से पटवारी के खिलाफ जमीन बंटवारे और कागजी कार्रवाही करने के लिए रिश्वत मांगने की शिकायत दर्ज कराई थी। रीवा के अमवा निवासी धर्मपाल सिंह ने बीते दिनों लोकायुक्त रीवा से पटवारी के खिलाफ रिश्वत मांगने की शिकायत दर्ज कराई थी। जिसे संज्ञान में लेते हुए लोकायुक्त की टीम ने आज पटवारी के किराए के मकान पर दबिश देकर रिश्वत के साथ रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है। शिकायतकर्ता के मुताबिक एक साल पूर्व अपने पैतृक संपत्ति के बंटवारे के लिए शिकायतकर्ता ने पटवारी को आवेदन दिया था। जिस पर पटवारी लाल बहादुर कोल ने कार्रवाई के लिए दस हजार रुपए रिश्वत के रूप मांगी थी। शिकायतकर्ता का कहना है कि पटवारी ने बंटवारे और कम्प्यूटर में नामांकन दर्ज करने संबंधि कार्यों को पूरा करने के बदले में पैसे की मांग की थी। जिसमें से 7 हजार रुपए पटवारी को दिया जा चुका था। इसके साथ ही आवेदक ने मामले की शिकायत लोकायुक्त से की थी। जिसे गंभीरता से लेते हुए टीम ने भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत आरोपी पटवारी के खिलाफ कार्रवाई कर गिरफ्तार कर लिया है।


सगरा में अपहरणकर्ताओं ने किया युवक को अगवा करने की कोशिश, पुलिस ने दर्ज किया

जनपद सीईओ के साथ अराजकतत्व ने की मारपीट, मीटिंग की तैयारी में जुटे थे जनपद सी


 VT PADTAL