VT Update
ओंकारेश्वर बांध विस्थापितों को मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत, कोर्ट ने सरकार को दिया आदेश विस्थापितों को उपलब्ध कराएं बेहतर भूमि। प्रदेश के भिंड में चार लोगों की हत्या करने वाले आरोपी को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा। शहडोल उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रही हिमाद्री सिंह ने आज कांग्रेस का हाथ छोड़ थामा भाजपा का दामन कमलनाथ सरकार को जबलपुर हाईकोर्ट से तगड़ा झटका, ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण देने पर लगाई रोक। टिकट को लेकर भाजपा में मचा घमासान, दावेदारों ने प्रदेश कार्यालय के सामने की नारेबाजी।
Saturday 21st of October 2017 | अफगानिस्तान की राजधानी काबुल की 2 मस्जिदों में आतंकी हमला

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल की 2 मस्जिदों में आतंकी हमला, अबतक 70 लोगों की मौत 


काबुल(अफगानिस्तान)। शुक्रवार को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल की 2 मस्जिदों में हुए आत्मघाती हमले में 70 लोगों की मौत हो गई और तकरीबन 120 से ज्यादा लोग घायल हो गए। मरने वालों में महिलाएं और बच्चे भी शामिल है। हाल के दिनों में अफगानिस्तान में शिया कम्युनिटी पर हमले तेज हुए हैं। पहला हमला इमाम जमान मस्जिद में हुआ जो काबुल के दश्त-ए-बारची इलाके में है। यहां शुक्रवार की नमाज के लिए लोग जुटे थे। हमलावर मस्जिद में मौजूद लोगों के बीच पहुंचा और उसने खुद को उड़ा लिया।  घटना के बाद मस्जिद में मारे गए लोगों के शव बिखरे हुए थे। जहां से पुलिस ने 30 बॉडी बरामद की है। दूसरा हमला घोर प्रांत की एक सुन्नी मस्जिद में किया गया है। घोर प्रांतीय पुलिस के स्पोक्सपर्सन ने कहा है कि,  एक लोकल नेता को निशाना बनाकर किए गए हमले में कम से कम 33 लोग मारे गए। जबकि 75 लोग घायल हुए है। दोनों हमले की जिम्मेदारी किसी आतंकी संगठन ने नहीं ली है, लेकिन इसका शक तालिबान और हक्कानी नैटवर्क पर है। 
पुलिस प्रवक्ता बशीर मुजाहिद ने मीडिया एजेंसी को जनकारी देते हुए बताया है कि, जब बम विस्फोट हुआ, तब हमलावर मंडली के बीच खड़ा था। गृह मंत्रालय के प्रवक्ता नजीब दानिश ने ट्विटर पर कहा कि इस हमले में 39 लोग मारे गए और 45 अन्य घायल हुए। हजारा, एक जातीय समूह को मूल के रूप में मंगोलियाई माना जाता है, यह ज्यादातर शिया इस्लाम के अनुयायी हैं, जो अफगानों के विशाल बहुमत सुन्नी मुसलमान के बाद दूसरी सबसे बड़ी शाखा है। 


 
 


भूकंप के झटकों से दहला इंडोनेशिया, अब तक 12 सौ से अधिक की मौत

अब सरकार ने माना 39 भारतीय मारे गए, परिजन बोले इतने दिन अधेरे में क्यों रखा गया


 VT PADTAL