VT Update
वाराणसीः CM योगी ने चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा का अनावरण किया छत्तीसगढ़ः दंतेवाड़ा में IED विस्फोट में पांच जवान शहीद, 2 घायल रेलवे मैदान में होगा सद्भावना सम्मेलन, सतपाल जी महराज देगें उद्वबोधन रीवा व्यंकट भवन में विश्व संग्रहालय दिवस के उपलक्ष्य में लगाई गई प्रदर्शनी एमपी बोर्ड 10वीं और 12वीं रिजल्ट घोषित, मेरिट में छात्राओं का रहा दबदबा
अफगानिस्तान की राजधानी काबुल की 2 मस्जिदों में आतंकी हमला

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल की 2 मस्जिदों में आतंकी हमला, अबतक 70 लोगों की मौत 


काबुल(अफगानिस्तान)। शुक्रवार को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल की 2 मस्जिदों में हुए आत्मघाती हमले में 70 लोगों की मौत हो गई और तकरीबन 120 से ज्यादा लोग घायल हो गए। मरने वालों में महिलाएं और बच्चे भी शामिल है। हाल के दिनों में अफगानिस्तान में शिया कम्युनिटी पर हमले तेज हुए हैं। पहला हमला इमाम जमान मस्जिद में हुआ जो काबुल के दश्त-ए-बारची इलाके में है। यहां शुक्रवार की नमाज के लिए लोग जुटे थे। हमलावर मस्जिद में मौजूद लोगों के बीच पहुंचा और उसने खुद को उड़ा लिया।  घटना के बाद मस्जिद में मारे गए लोगों के शव बिखरे हुए थे। जहां से पुलिस ने 30 बॉडी बरामद की है। दूसरा हमला घोर प्रांत की एक सुन्नी मस्जिद में किया गया है। घोर प्रांतीय पुलिस के स्पोक्सपर्सन ने कहा है कि,  एक लोकल नेता को निशाना बनाकर किए गए हमले में कम से कम 33 लोग मारे गए। जबकि 75 लोग घायल हुए है। दोनों हमले की जिम्मेदारी किसी आतंकी संगठन ने नहीं ली है, लेकिन इसका शक तालिबान और हक्कानी नैटवर्क पर है। 
पुलिस प्रवक्ता बशीर मुजाहिद ने मीडिया एजेंसी को जनकारी देते हुए बताया है कि, जब बम विस्फोट हुआ, तब हमलावर मंडली के बीच खड़ा था। गृह मंत्रालय के प्रवक्ता नजीब दानिश ने ट्विटर पर कहा कि इस हमले में 39 लोग मारे गए और 45 अन्य घायल हुए। हजारा, एक जातीय समूह को मूल के रूप में मंगोलियाई माना जाता है, यह ज्यादातर शिया इस्लाम के अनुयायी हैं, जो अफगानों के विशाल बहुमत सुन्नी मुसलमान के बाद दूसरी सबसे बड़ी शाखा है। 


 
 


आतंकवाद पर डोनाल्ड ट्रंप ने की घोषणा

भारत के दलवीर भंडारी बने अंतरराष्ट्रीय अदालत में जज


 VT PADTAL