VT Update
केजरीवाल ने दिया शिवराज को प्रस्ताव शिक्षा में सुधार करना हो तो मनीष को भेज दूँ मध्यप्रदेश सीएम फेस की अटकलों पर शिवराज ने लगाया विराम, कहा कि मेरे ही नेतृत्व में बनेगी भाजपा की अगली सरकार वार्ड क्र 16 में मुख्यमार्ग से परेशान रहवासी, मार्ग का नहीं हो रहा निर्माण, 4 बार किया जा चुका है भूमिपूजन दिल्ली मैट्रो को सितम्बर से बिजली सप्लाई करेगा, बदबार का अल्ट्रामेगा सोलर पावर प्लांट गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के धोबखरी गांव में भाई की जान बचाने नहर में कूदी बहन, हुई मौत
भूख से मौत का सिलसिला जारी है, झारखंड के धनबाद में शख्स की भूख से हुई मौत

भूख से मौत का सिलसिला जारी है, झारखंड के धनबाद में शख्स की भूख से हुई मौत


झारखण्ड के सिमडेगा के बाद अब भूख से मौत का मामला  धनबाद में सामने आया है | झरिया के ताराबगान नगर निगम के 40 साल के वैद्यनाथ दास भूख और आर्थिक तंगी से मौत में मुह में समा गए|

वैद्यनाथ अपने परिवार का भरण-पोषण किराये का रिक्शा चलाकर करते थे | वैद्यनाथ की तबियत पिछले कई दिनों से ख़राब थी, जिसकी वजह से वे रिक्शा नहीं चला पा रहे थे. धीरे-धीरे घर में रखा सारा राशन खत्म हो गया और दाने-दाने को तरसते हुए वैद्यनाथ का असमय ही निधन हो गया |

वैद्यनाथ की मौत के बाद जहां उसके घर वालों का सहारा टूट गया है वहीं सरकारी तंत्र इसे भूख से हुई मौत मानने से इंकार कर रहा है | केन्द्रीय खाद्य आपूर्ति विभाग की जांच टीम ने भी स्थानीय प्रशासन को क्लीन चिट देते हुए बीमारी से हुई मौत करार देकर कागजी कार्यवाही पूर्व कर चुकी है |

वैद्यनाथ के परिवार को खाद्य सुरक्षा के अंतर्गत राशन कार्ड तक उपलब्ध नहीं था, जिससे उसे दो वक्त का राशन मिल सके | अब जब भूख उसकी मौत भूख से हो गयी है तो राशन कार्ड और दूसरे सरकारी सुविधा उपलब्ध करने की बात कह कर स्थानीय प्रशासन अपना पलड़ा झाड़ने में लगा है |

आस-पास के लोगों से यह पता चला की वैद्यनाथ बहुत  गरीब था और 30 रूपए रोज के हिसाब से किराया का रिक्शा चलाता था | स्थानीय लोगों ने बताया की प्रशासन ने परिवार को क़ानूनी लफड़े में फसने का डर दिखाकर शव को जल्दी जलवा दिया |


कुमारस्वामी ने साबित किया बहुमत

वाराणसी: निर्माणाधीन फ्लाईओवर के स्लैब गिरने हुआ बड़ा हादसा, अब तक 12 की मौत  


 VT PADTAL