VT Update
सतना के बदमाशों ने की रीवा में 11 वारदात, चेन स्नाचिंग जैसी तमाम अपराध करने वाले अपराधी हुए गिरफ्तार, पुलिस न ली राहत की सांस बाल दिवस पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने साधा कांग्रेस पर निशाना कहा बच्चों की योजनाएं शुरू करें सरकार वरना आंदोलन करने के लिए होंगे बाध्य ऑनलाइन परीक्षा के बहाने पीएससी ने दोगुने कर दिए पीएससी का शुल्क 310 पदों के लिए प्रारंभिक परीक्षा होगी 12 जनवरी को, आयोग ने विज्ञापन जारी कर दी जानकारी नवंबर 2020 में चंद्रयान भेजने की तैयारी में हुई गलतियों पर एक रिपोर्ट, अगले साल नवंबर में चंद्र की चंद्रमा पर हो सकेगी लैंडिंग हरियाणा में मनोहर लाल खट्टर के मुख्यमंत्री बनने के बाद मंत्रिमंडल का हुआ विस्तार 6 कैबिनेट मंत्रियों ने ली शपथ हर वर्ग के लोगों को बनाया गया मंत्री.
Saturday 1st of June 2019 | अमेरिका से भारत को बड़ा झटका

मोदी सरकार को झटका, ट्रंप ने भारत से छिना जीएसपी, व्यापार हो सकता है प्रभावित


अपने दूसरी पारी की धमाकेदार शुरूआत करने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अमेरिका से बड़ा झटका मिला है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शनिवार को भारत को मिलने वाले जीएसपी दर्जे को खत्म करने का निर्णय लिया है। जिससे भारत को व्यापार में मिलने वाली छूट का अधिकार समाप्त हो जाएगा। जेनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ प्रिफरेंसेज या सामान्य तरजीही प्रणाली (जीएसपी) अमेरिका की ओर से बाकी देशों को बिजनेस में दी जाने वाली छूट की सबसे पुरानी और बड़ी प्रणाली है। इसके तहत दर्जा पाने देशों को हजारों सामान बिना किसी शुल्क के अमेरिका को एक्सपोर्ट करने की छूट मिलती है। व्हाइट हाउस की घोषणा के मुताबिक भारत का जीएसपी दर्जा 5 जून 2019 को खत्म हो जाएगा। ट्रंप ने चार मार्च को इस बात की घोषणा की थी कि वह जीएसपी प्रोग्राम से भारत को बाहर करने वाले हैं। इसके बाद 60 दिनों की नोटिस अवधि तीन मई को खत्म हो गई।

        दरअसल, अमेरिकी सरकार ने यह निर्णय भारत सरकार से भारतीय बाजार में अमेरिका को बेहतर पहुंच दिलाने का आश्वासन न मिलने के कारण यह निर्णय लिया है। इसके साथ ही राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि भारत सरकार के इस रवैये के कारण अब भारत का जीएसपी दर्जा पाए देशों की सूची से बाहर होना तय है। उन्होंने कहा कि अब काम यह है कि हम आगे कैसे बढ़ते हैं, आगे का रास्ता ढूंढने के लिए हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दूसरी सरकार के साथ किस प्रकार से काम कर पाते हैं। इन सब के इतर ट्रंप ने कहा कि यदि भारत अपने बाजार में अमेरिकी कंपनियों को सही और समान पहुंच दी तो तरजीही व्यापार प्रोग्राम का फायदा फिर से बहाल किया जा सकता है।  अमेरिका के इस निर्णय के बाद से अब नजरें भारत की सरकार पर टिकीं हुई है कि सरकार अमेरिका के इस निर्णय पर आर्थिक चुनौतियों और व्यापार में आने वाली समस्या को निपटाने के लिए क्या कदम उठाती है। वहीं, अमेरिका को भी भारत के जवाब का इंतजार है। हालांकि अभी तक भारत सरकार की ओर से इस मामले पर कोई अधिकारिक बयान नहीं दिया गया है।


मोदी सरकार को झटका, ट्रंप ने भारत से छिना जीएसपी, व्यापार हो सकता है प्रभावित

इंडोनेशिया में लगातार दूसरी बार राष्ट्रपति बने जोको विडोडो


 VT PADTAL